DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'आने वाले सप्ताह में और घट सकती है जेट एयरवेज की उड़ानों की संख्या'

jet airways

नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने मंगलवार को कहा कि जेट एयरवेज की फिलहाल 41 उड़ानें परिचालन की स्थिति में रह गयी हैं और आने वाले सप्ताह में इनेमें और कमी आ सकती है। डीजीसीए का मानना है कि जेट एयरवेज के मामले में स्थितियां तेजी से बदलती जा रही हैं। जेट एयरवेज की वेबसाइट के अनुसार एयरलाइन के पास कुल 119 विमानों का बेड़ा है। पिछले कुछ सप्ताह से एयरलाइन की उड़ानें रद्द होने से यात्री अपनी नाराजगी सोशल मीडिया पर जाहिर कर रहे हैं और परिचालित विमानों की संख्या में निरंतर कमी के साथ यह दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है।

जेट एयरवेज पर मंडराया संकट, पायलटों की 1 अप्रैल से उड़ान बंद करने की चेतावनी

वित्तीय समस्याओं से जूझ रही एयरलाइन अब नये कोष जुटाने के उपायों पर गौर कर रही है। डीजीसीए प्रवक्ता ने मंगलवार को कहा, 'महानिदेशालय ने जेट एयरवेज के परिचालन, उड़ान क्षमता तथा यात्री सुविधाओं के आधार पर प्रदर्शन की मंगलवार को समीक्षा की। फिलहाल परिचालन के लिये 41 विमान बेड़े में है और उसके अनुसार 603 घरेलू तथा 382 अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का निर्धारण किया गया है। हालांकि स्थिति बदलती रहती है और आने वाले सप्ताह में इसमें और कमी आ सकती है।'

जेट एयरवेज को बचाने में केंद्र सरकार ले सकती है PSU की मदद

प्रवक्ता के अनुसार डीजीसीए ने समय पर सूचना, क्षतिपूर्ति, रिफंड और जरूरत के मुताबिक वैकल्पिक उड़ान उपलब्ध कराने के संदर्भ में यात्रियों की जरूरतों के लिये एयरलाइन को नागर विमानन जरूरतों (सीएआर) के प्रासंगिक प्रावधानों का अनुपालन करने को कहा है। उन्होंने कहा कि डीजीसीए नियमित आधार पर आंकड़ों की निगरानी कर रहा है।

जेट एयरवेज के एयरक्राफ्ट इंजीनियरों के संगठन ने मंगलवार को विमानन नियामक को पत्र लिखकर कहा कि तीन महीने का वेतन बकाया है और उड़ान सुरक्षा खतरे में है। डीजीसीए प्रवक्ता ने कहा कि विमानन नियामक यह सुनिश्चित कर रहा है कि बेड़े में शामिल विमान, चाहे वे परिचालन में हो या फिर जमीन पर, उनका रखरखाव मंजूरी रखरखाव कार्यक्रम के अनुरूप हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Further attrition of Jet Airways flights likely in coming weeks Says DGCA