DA Image
21 अप्रैल, 2021|2:31|IST

अगली स्टोरी

1 अप्रैल से अनिवार्य होगा मानक दुर्घटना बीमा, जानें इसकी खास बातें 

term insurance

बीमा नियामक इरडा ने साधारण और स्वास्थ्य बीमा कंपनियों से अपने ग्राहकों को व्यक्तिगत दुर्घटना के मानक और सरल उत्पाद उपलब्ध कराने को कहा है।बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) ने कहा कि बाजार में विभिन्न प्रकार के व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा उत्पाद हैं। प्रत्येक उत्पाद की अपनी विशेषताएं और खासियत हैं। ऐसे में जो व्यक्ति पॉलिसी लेना चाहता है, उसे उपयुक्त उत्पाद चुनने में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है।

यह भी पढ़ें: स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी में ऑटो रिन्यू का विकल्प न लें, पूरी पड़ताल के बाद स्वयं करें रिन्यू

इरडा ने कहा कि उसने मानक दुर्घटना कवर को लेकर बीमा कंपनियों के लिए दिशानिर्देश जारी किया है। नियामक ने कहा, पूरे उद्योगों में साझा कवरेज और एक जैसी पॉलिसी के लक्ष्य को लेकर प्राधिकरण ने सभी साधारण और स्वास्थ्य बीमा कंपनियों के लिए यह अनिवार्य किया है कि वे व्यक्तिगत दुर्घटना उत्पाद को लेकर मानक उत्पाद पेश करेंगे। साधारण और स्वास्थ्य बीमा कंपनियां इन उत्पादों की पेशकश एक अप्रैल, 2021 से करेंगी।

क्या होगा इसमें खास

इरडा के अनुसार उत्पाद का नाम सरल सुरक्षा बीमा होना चाहिए। उसके बाद उसमें संबंधित बीमा कंपनी का नाम हो। इसके अलावा किसी भी दस्तावेज में कोई अन्य नाम नहीं होना चाहिए। इरडा ने कहा कि उत्पाद में न्यूनतम 2.5 लाख रुपये और अधिकतम एक करोड़ रुपये का बीमा कवर होना चाहिए। बीमा कवर 50,000 रुपये के गुणक में होगा। बीमा कंपनियां इससे भी कम या ज्यादा का दुर्घटना बीमा कवर दे सकती हैं, पर उसका नाम वही रहेगा।

इरडा ने लाभांश भुगतान परिपत्र को वापस लिया
बीमा नियामक इरडा ने आर्थिक स्थिति में सुधार का हवाला देते हुए बीमा कंपनियों द्वारा 2019-20 के लिए लाभांश भुगतान पर जारी परिपत्र को वापस ले लिया है। कारोना वायरस महामारी को देखते हुए लाभांश भुगतान को लेकर परिपत्र जारी किया गया था। बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) ने कंपनियों को चालू वर्ष के लिए सोच-विचारकर लाभांश पर निर्णय लेने को कहा है।

यह भी पढ़ें: स्वास्थ्य बीमा का दावा नहीं करने पर मिलते हैं कई फायदे, मिलती है इतनी छूट

इरडा ने अप्रैल 2020 में बीमा कंपनियों को अपने संसाधनों का उपयोग सोच समझकर करने को कहा था। नियामक ने सभी बीमा कंपनियों को 2019-20 के लिए लाभांश भुगतान पर अपनी रणनीति के हिसाब से निर्णय करने को कहा था ताकि पॉलिसीधारकों के हितों की रक्षा के लिए उनके पास पर्याप्त संसाधन सुनिश्चित हो। इरडा ने कहा कि प्राधिकरण बीमा क्षेत्र के साथ वैश्विक और देश की आर्थिक स्थिति का आकलन करता रहा है। नियामक ने कहा कि उसने बीमा कंपनियों के प्रदर्शन का आकलन उनके सितंबर और दिसंबर, 2020 को समाप्त तिमाही में वित्तीय परिणाम के आधार पर किया है। इसमें पाया गया कि बीमा कंपनियों का प्रदर्शन कारोबार के स्तर पर धीरे-धीरे सुधरा है। हालांकि उसकी गति धीमी है।

इरडा ने कहा, अर्थव्यवस्था और खासकर बीमा उद्योग की स्थिति में सुधार तथा बीमा कंपनियों की स्थिति पर विचार करते हुए 24 अप्रैल, 2020 को जारी परिपत्र को तत्काल प्रभाव से वापस लेने का निर्णय किया गया है। नियामक ने कहा कि हालांकि बीमा कंपनियां 2020-21 के लिए लाभांश के बारे में अपनी पूंजी, नकदी की स्थिति समेत अन्य बातों पर गौर करते हुए निर्णय करें।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:from April 1st Standard accident insurance will be mandatory know its special features