DA Image
5 जून, 2020|7:58|IST

अगली स्टोरी

कोरोना वायरस की वजह से विदेशी निवेशकों में भगदड़, मार्च में पूंजी बाजारों से रेकॉर्ड 1.1 लाख करोड़ रुपए निकाले

Indian benchmark indices BSE Sensex and NSE Nifty 50 traded higher on Friday. Photo: Mint

कोविड-19 की मार से दुनियाभर के निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई है। इसके चलते विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने मार्च में भारतीय पूंजी बाजारों से 1.1 लाख करोड़ रुपए की रिकॉर्ड निकासी की है। 
    
डिपॉजटरी के आंकड़ों के अनुसार एफपीआई ने मार्च में शेयरों से 61,973 करोड़ रुपये और ऋण या बांड बाजार से 56,211 करोड़ रुपये निकाले। इस तरह कुल मिलाकर उन्होंने भारतीय पूंजी बाजार से 1,18,184 करोड़ रुपए की निकासी की। इससे पहले छह महीने यानी सितंबर, 2019 से फरवरी, 2020 तक एफपीआई ने भारतीय पूंजी बाजारों में शुद्ध निवेश किया था।

नैशनल सिक्यॉरिटीज डिपॉजिटरी लि. द्वारा जब से एफपीआई के निवेश के आंकड़े उपलब्ध कराए जा रहे हैं तब से यह उनके द्वारा किसी महीने में की गई निकासी का सबसे ऊंचा आंकड़ा है। अप्रैल में सिर्फ दो सत्र में विदेशी निवेशकों ने भारतीय पूंजी बाजारों से 6,735 करोड़ रुपये की निकासी की है। इसमें से 3,802 करोड़ रुपए शेयरों से और 2,933 करोड़ रुपये बांड से निकाले गए हैं। 

मॉर्निंगस्टार इंडिया के वरिष्ठ विश्लेषण प्रबंधक हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा कि कोविड-19 का वैश्विक अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले प्रभाव को लेकर निवेशक आशंकित हैं। इसके चलते विदेशी निवेशक उभरते बाजारों से निकासी कर रहे हैं। भारत इससे सबसे अधिक प्रभावित हुआ है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:FPI pull out record Rs 1 1 lakh crore in March amidst Covid 19 mayhem