ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसविदेशी मुद्रा भंडार में फिर आई गिरावट, समझें-इसकी वजह क्या है

विदेशी मुद्रा भंडार में फिर आई गिरावट, समझें-इसकी वजह क्या है

विदेशी मुद्रा भंडार घटने का कारण विदेशी मुद्रा आस्तियों में आई गिरावट है जो कुल मुद्रा भंडार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। गोल्ड रिजर्व भंडार में गिरावट आने से भी विदेशी मुद्रा भंडार में कमी आई है।

विदेशी मुद्रा भंडार में फिर आई गिरावट, समझें-इसकी वजह क्या है
Deepak Kumarएजेंसी,नई दिल्लीFri, 24 Jun 2022 09:42 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 17 जून को समाप्त सप्ताह में 5.87 अरब डॉलर घटकर 590.588 अरब डॉलर रह गया। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के आंकड़ों के अनुसार इससे पिछले सप्ताह, विदेशी मुद्रा भंडार 4.599 अरब डॉलर घटकर 596.458 अरब डॉलर रह गया था। यह लगातार तीसरा सप्ताह है, जब विदेशी मुद्रा भंडार में गिरावट आई है।

वजह क्या है: दस जून को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार घटने का कारण विदेशी मुद्रा आस्तियों में आई गिरावट है जो कुल मुद्रा भंडार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसके अलावा गोल्ड रिजर्व भंडार में गिरावट आने से भी विदेशी मुद्रा भंडार में कमी आई है। आंकड़ों के अनुसार समीक्षाधीन सप्ताह में विदेशी मुद्रा आस्तियां (एफसीए) 5.362 अरब डॉलर घटकर 526.882 अरब डॉलर रह गयी।

डॉलर में अभिव्यक्त विदेशी मुद्रा भंडार में रखे जाने वाली विदेशी मुद्रा आस्तियों में यूरो, पौंड और येन जैसी गैर-अमेरिकी मुद्राओं में मूल्यवृद्धि अथवा मूल्यह्रास के प्रभावों को शामिल किया जाता है। आंकड़ों के अनुसार, आलोच्य सप्ताह में स्वर्ण भंडार का मूल्य भी 25.8 करोड़ डॉलर की गिरावट के साथ 40.584 अरब डॉलर रह गया।

समीक्षाधीन सप्ताह में, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के पास जमा विशेष आहरण अधिकार (एसडीआर) 23.3 करोड़ डॉलर घटकर 18.155 अरब डॉलर रह गया। आईएमएफ में रखे देश का मुद्रा भंडार भी 1.7 करोड़ डॉलर घटकर 4.968 अरब डॉलर रह गया।

epaper