अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत से दूरी बना रहे विदेशी निवेशक, 5,600 करोड़ रुपये की निकासी

डिपॉजिटरी के शुरुआती आंकड़ों के अनुसार, 3 से 7 सितंबर के बीच एफपीआई ने शेयर बाजार से 1,021 करोड़ रुपये और ऋण बाजार से 4,628 करोड़ रुपये की निकासी की। इस प्रकार कुल निकासी 5,649 करोड़ रुपये की रही।

पेट्रोल

विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने पिछले पांच कारोबारी सत्रों में पूंजी बाजार से 5,600 करोड़ रुपये की निकासी की है, जबकि इससे पहले दो महीनों में उन्होंने लगातार निवेश किया था। 

डिपॉजिटरी के शुरुआती आंकड़ों के अनुसार, 3 से 7 सितंबर के बीच एफपीआई ने शेयर बाजार से 1,021 करोड़ रुपये और ऋण बाजार से 4,628 करोड़ रुपये की निकासी की। इस प्रकार कुल निकासी 5,649 करोड़ रुपये की रही।

जबकि अगस्त में एफपीआई ने 2,300 करोड़ रुपये का निवेश किया था। इससे पहले अप्रैल से जून के बीच विदेशी निवेशकों ने 61,000 करोड़ रुपये की निकासी की थी।

बाजार विशेषज्ञों के अनुसार, ताजा निकासी का अहम कारण रुपये की कीमत में गिरावट और कच्चे तेल की कीमतों का बढ़ना है।

इसके अलावा एफपीआई निवेश को लेकर बाजार नियामक सेबी के दिशा-निर्देशों से भी बाजार में चिंता का माहौल है। कमजोर वैश्विक बाजारों ने भी इस पर असर डाला है।

चंदा कोचर और उनके पति को जल्द समन भेज सकता है सेबी

भारत बंद:बिहार के आरा में विपक्षी दलों ने ट्रेन रोकी, जगह-जगह किया रोड

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Foreign investor making distance from India withdrawal Rs 5600 crore