Finance minister announce biggest reform in corporate tax and economic reform - क्या मोदी सरकार ने किया 1991 के बाद का सबसे बड़ा आर्थिक सुधार? इंडस्ट्री ने माना अब तक का बोल्ड स्टेप DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

क्या मोदी सरकार ने किया 1991 के बाद का सबसे बड़ा आर्थिक सुधार? इंडस्ट्री ने माना अब तक का बोल्ड स्टेप

अर्थव्यवस्था को बूस्ट देने के लिए कॉरपोरेट टैक्स में कटौती और कारोबार में निवेश को प्रोत्साहन देने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतामरण ने शुक्रवार को कई नई घोषणाएं की, जिसका स्वागत कारोबारियों, विशेषज्ञों और शेयर बाजार ने किया। कारोबारियों के मुताबिक ये 28 साल के बाद किया गया सबसे बड़ा रिफॉर्म है। एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने कॉरपोरेट टैक्स घटाकर 25 फीसदी करने को अब तक का सबसे बोल्डेस्ट कदम बताया। कारोबारियों और विशेषज्ञों के मुताबिक इससे आर्थिक वृद्धि और निवेश में तेजी आएगी।

एसबीआई (SBI) बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा कि कॉरपोरेट टैक्स में बड़ी कटौती करना बीते 28 सालों का ‘बोल्डेस्ट रिफॉर्म’ है। कॉरपोरेट टैक्स में कटौती से इंडस्ट्री को बढ़ावा मिलेगा और प्रोडक्ट की कीमतों में कमी आएगी। इससे विदेशी कंपनियों को भई निवेश का मौका मिलेगा और मेक इन इंडिया को भी बढ़ावा मिलेगा। 

कोटक महिंद्रा बैंक के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) उदय कोटक ने ट्विटर पर लिखा कि कंपनी कर को घटाकर 25 प्रतिशत पर लाना एक बड़ा सुधार है। यह साहसिक और प्रगतिशील कदम है। भारतीय कंपनियों को कर की कम दर वाले अमेरिका जैसे देशों से प्रतिस्पर्धा करने का मौका मिला है। यह संकेत देता है कि हमारी सरकार आर्थिक वृद्धि और कानूनी रूप से कर नियमों का अनुपालन करने वाली कंपनियों की मदद के लिये प्रतिबद्ध है।

 

Reducing corporate tax rate to 25% is big bang reform. Allows Indian companies to compete with lower tax jurisdictions like the U.S. It signals that our government is committed to economic growth and supports legitimate tax abiding companies.A bold, progressive step forward.

— Uday Kotak (@udaykotak) September 20, 2019

 

बॉयोकॉन की चेयरमैन और प्रबंध निदेशक किरण मजूमदार शॉ ने भी वित्त मंत्री निर्मला सीतामरण की सराहना की। उन्होंने ट्वीट किया और कहा कि कंपनी कर की दर 30 प्रतिशत से घटाकर 25.2 प्रतिशत करने से वृद्धि को गति मिलेगी। यह बड़ा कदम है जिससे वृद्धि और निवेश में तेजी आएगी। इस साहसिक पर जरूरी कदम उठाने को लेकर मैं निर्मला सीतारमण की सराहना करती हूं।

 

वित्तमंत्री की घोषणा के बाद रुपया 66 पैसे उछला

 

Corporate Tax Rate Cut From 30% To 25.2% To Spur Growth- this is a great move which will firmly revive growth n investment. My hats off to FM ⁦@nsitharaman⁩ for this bold but most needed move. https://t.co/yhvJ9IcMmm

— Kiran Mazumdar Shaw (@kiranshaw) September 20, 2019

 

अशोक महेश्वरी एंड एसोसिएट्स एलएलपी के भागीदार अमित महेश्वरी ने कहा कि इससे भारत में एफडीआई आकर्षित करने और विनिर्माण को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी। लाभांश वितरण कर समाप्त करने और लाभंश पर पुरानी तरीके से कर लगाने की घोषणा स्वागत योग्य है।

सरकार ने शुक्रवार को घरेलू कंपनियों के लिये कंपनी कर की प्रभावी दर कम कर 25.17 प्रतिशत कर दी। इसमें सभी उपकर और अधिभार शामिल हैं। उद्योग मंडल सीआईआई के अध्यक्ष विक्रम किर्लोस्कर ने कहा कि बिना किसी छूट कंपनी कर को 30 प्रतिशत से घटाकर 22 प्रतिशत करने की उद्योग की मांग लंबे समय से रही है। यह अप्रत्याशित और साहसिक कदम है।

सेंसेक्स ने एक दिन में दर्ज की अब तक की रिकॉर्ड तेजी, Sensex ने लगाई 2200 अंकों का छलांग

पीडब्ल्यूसी इंडिया के भागीदारी और कंपनी तथा अंतरराष्ट्रीय कर मामलों के प्रमुख फ्रैंक डीसूजा ने कहा कि कंपनी कर में कटौती से भारत नये निवेश के लिये आकर्षक बनेगा। साथ ही सीएसआर योगदान में बदलाव तथा पुनर्खरीद कर से छूट उद्योग की पुरानी चिंताएं दूर होंगी। इससे शोध एवं विकास में कोष प्रवाह बढ़ेगा।

वित्त मंत्री की घोषणाओं को लेकर महिंद्रा एंड महिंद्रा के एमडी पवन के गोयंका ने कहा कि लगता है दिवाली पहले आ गई। 

 

 

नये आर्थिक पैकेज की घोषणा के बाद सेंसेक्स करीब दो बजे 2046 अंक की तेजी के साथ 38,140.23 अंक पर पहुंच गया। नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी करीब 613.10 अंक चढ़कर 11,317.90 अंक पर पहुंच गया।

वित्त मंत्री ने अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए की कॉरपोरेट टैक्स 22 फीसदी किया, बायबैक टैक्स पर दी राहत

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Finance minister announce biggest reform in corporate tax and economic reform