DA Image
4 मार्च, 2021|12:47|IST

अगली स्टोरी

Fact Check: मोदी सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड लोन पर ब्याज बढ़ाकर 7 से 12 फीसद किया, जानें इस दावे की सच्चाई

                                                                                                                                                                                                      15

मोदी सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड लोन पर ब्याज 7 फीसद से बढ़ाकर 12 फीसद कर दिया है। ऐसा दावा एक वायरल खबर में किया जा रहा है। हालांकि पीआईबी फैक्ट चेक में यह खबर फर्जी पाई गई है। केंद्र सरकार ने केसीसी लोन के ब्याज दर को बढ़ाने के संबंध में ऐसी कोई घोषणा नहीं की है। पीआईबी फैक्ट चेक ने ट्वीट करके लोगों को आगाह किया है कि ऐसी खबरों के झांसे में न आएं। आइए जानें कैसे KCC मिलता है और इस पर लोन पाने के लिए क्या करें? लोन पर मौजूदा समय में कितना ब्याज लगता है..

केसीसी खाते की विशेषताएं और फायदे

  • केसीसी खाते में क्रेडिट बेलेन्स पर बचत बैंक की दर पर ब्याज दिया जाता है।
  • समस्त केसीसी उधारकर्ताओं के लिए मुफ्त एटीएम सह डेबिट कार्ड (स्टेट बैंक किसान कार्ड)
  • रु. 3 लाख तक के ऋण राशि के लिए 2% प्रति वर्ष की दर से ब्याज छूट उपलब्ध है।
  • शीघ्र चुकौती के लिए 3% प्रति वर्ष की दर से अतिरिक्त ब्याज छूट
  • समस्त केसीसी ऋणों के लिए अधिसूचित फसल /अधिसूचित क्षेत्र, फसल बीमा के अंतर्गत कवर किए जाते हैं।
  • प्रथम वर्ष के लिए ऋण की मात्रा कृषि लागत, फसल के बाद खर्च और कृषि भूमि अनुरक्षण लागत के आधार पर निर्धारित किया जाएगा।
  • बाद के 5 वर्षों के दौरान वित्त की मात्रा में वृद्धि के आधार पर ऋण स्वीकृत किया जाएगा।
  • रु. 1.60 लाख तक की केसीसी सीमा के लिए संपार्श्विक प्रतिभूति की आवश्यकता नहीं है ।
  • एक वर्ष अथवा चुकाने की देय तिथि तक, इनमें से जो भी पहले हो, 7% प्रति वर्ष की दर से साधारण ब्याज लगाया जाएगा।
  • देय तिथियों के अंदर लोन चुकाने पर कार्ड दर पर ब्याज देना पड़ेगा ।
  • देय तिथि के बाद अर्ध वार्षिक रूप से चक्रवृद्धि ब्याज लगेगा।
  • चुकौती अवधि का निर्धारण फसल जिसके लिए ऋण प्रदान किया गया है के अनुमानित कटाई और विपणन अवधि के अनुसार किया जाएगा।

( स्रोत: स्टेट बैंक ऑफ इंडिया)

यह भी पढ़ें: बिना आधार और पैन के भी खुलवा सकते हैं जनधन खाता, 41 करोड़ से अधिक लोग उठा रहे हैं फायदा

ऐसे मिलेगा KCC लोन

कोई भी बैंक किसान को केसीसी कार्ड जारी करने को लेकर आनाकानी नहीं कर सकते। सरकार के पास किसानों के आधार नंबर, उनका अकाउंट नंबर और उनके जमीन का पूरा रिकॉर्ड है। इस आधार पर आवेदन करने बैंक को केसीसी देना ही पड़ेगा। वहीं रिजर्व बैंक ने घोषणा की है कि किसान क्रेडिट कार्ड धारक अपने घरेलू खर्चों का भुगतान करने के लिए अपने क्रेडिट कार्ड का उपयोग कर सकते हैं। किसान क्रेडिट कार्ड पर कर्ज की दर 4 फीसदी है। किसान इस ब्याज दर पर सिक्योरिटी के बिना 1.60 लाख रुपये तक का लोन ले सकते हैं। समय पर भुगतान करने पर लोन राशि को 3 लाख रुपये तक बढ़ाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें: पीएम किसान का ले रहे हैं लाभ तो KCC बनवाना बहुत आसान, आनाकानी करे बैंक तो इस नंबर पर करें कंप्लेन

ऐसे बनवाएं अपना किसान क्रेडिट कार्ड 

सबसे पहले आप  https://pmkisan.gov.in/ पर जाएं।  इस बेवसाइट में फॉर्मर टैब (Farmer Tab) के दाईं ओर डाउनलोड केसीसी फार्म ( download KCC Form) का विकल्प दिया गया है। यहां से फॉर्म डाउनलोड करें और प्रिंट करने के बाद इसे भरें। इसके बाद अपने पास के बैंक में यह फॉर्म भरकर जमा करें। कार्ड तैयार हो जाने पर बैंक आपको सूचित करेगा और कार्ड आपके पते पर भेज देगा।

ये जानना जरूरी

अगर आपका पहले से कोई कृषि लोन चल रहा है तो इसके बारे में जानकारी देनी जरूरी है। कितनी जमीन खतौनी में आपके नाम है। गांव का नाम, सर्वे/खसरा संख्या। कितने एकड़ जमीन है और कौन सी फसल बोने जा रहें यानी रबी, खरीफ या अन्य इस बारे में फॉर्म में जानकारी देनी होगी। साथ ही आपको बतान होगा कि आपने किसी अन्य बैंक या शाखा से कोई और किसान क्रेडिट कार्ड नहीं बनवाया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Fact Check Modi government increased interest on Kisan Credit Card Loan from 7 to 12 percent know the truth of this claim