DA Image
21 अप्रैल, 2021|8:21|IST

अगली स्टोरी

महंगे डीजल का साइड इफेक्ट: एक महीने में 10 फीसद बढ़ा ट्रक भाड़ा, फल और सब्जियों की कीमतों में 15 फीसदी तक की बढ़ोतरी

truck and auto strike  truck and auto strike in bihar  demand for truck and auto drivers  patna news

फरवरी में बढ़े डीजल के दामों का असर ढुलाई में लगे ट्रक भाड़े पर पड़ा है। इंडियन फाउंडेशन ऑफ ट्रांसपोर्ट रिसर्च एंड ट्रेनिंग (आइएफटीआरटी) के मुताबिक फरवरी माह में ट्रक भाड़े में करीब 10 फीसदी का इजाफा हुआ है। इसका असर सभी वस्तुओं की कीमतों पर पड़ा है। फल और सब्जियों के दाम में 10 से 15 फीसदी की वृद्धि देखी गई है।

यह भी पढ़ें: पेट्रोल 45 रुपये लीटर तक हो सकता है सस्ता, डीजल का दाम भी होगा कम, मोदी सरकार कर रही है विचार

फरवरी महीने के दौरान डीजल के दाम में करीब 4.10 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि हुई है। इसके चलते ट्रांसपोर्टर ने भाड़े में इजाफा किया है। आईएफटीआरटी ने एक फरवरी और एक मार्च के ट्रक भाड़ों के अध्ययन के आधार पर बताया है कि भाड़े में करीब 10 फीसदी की वृद्धि हुई है। लंबी दूरी के वाहनों के साथ साथ रिटेल में हुई बुकिंग पर भी इसका असर पड़ा है। यहां 20 फीसदी तक इजाफा देखने को मिला है।

यह भी पढ़ें:सब्जियों के बाद दूध, अंडा और चिकन भी होगा महंगा, जानें क्यों बढ़ सकते हैं दाम

दिल्ली-मुंबई के भाड़े में आठ फीसदी का इजाफा हुआ है। माल भाड़े में हुई वृद्धि के चलते मंडियों में सब्जियों के दाम बढ़े हैं। व्यापारियों का कहना है कि भाड़े का असर सभी सामानों पर पड़ेगा। फल सब्जियों के साथ-साथ दूसरी जरूरी वस्तुओं पर के थोक और फुटकर के दाम भी बढ़ गए हैं। एक माह के दौरान ट्रक भाड़े में यह बड़ी वृद्धि है।

रूट और बढ़ा किराया

रूट भाड़ा (एक फरवरी) भाड़ा (एक मार्च)
दिल्ली-मुंबई-दिल्ली 125300 135000
दिल्ली-नागपुर-दिल्ली 95600 105000
दिल्ली-कोलकाता-दिल्ली 100400 110500
दिल्ली-गुवहाटी-दिल्ली 150600 165600
दिल्ली-हैदराबाद-दिल्ली 131800 145000
दिल्ली-चेन्नई-दिल्ली 137900 151700
दिल्ली-बेंगलुरु-दिल्ली 148900 163800
दिल्ली-रांची-दिल्ली 108200 119000
दिल्ली-रायपुर-दिल्ली 99400 109000
दिल्ली-विजयवाड़ा-दिल्ली 135000 148500

(नोट : भाड़ा 18 टन माल के लिए आने जाने का है।)

आइएफटीआरटी के वरिष्ठ शोधकर्ता एसपी सिंह  बताते हैं, "डीजल से ज्यादा मंहगाई रिटेल और होलसेल मार्केट में हो गई है। ट्रक के भाड़े में 10 फीसदी तक की बढ़ोतरी हुई है, जबकि बाजार में इसका असर 25 फीसदी तक पड़ा है। यही वजह है अभी तक व्यापारियों की ओर से डीजल के दाम में बढ़ोतरी को लेकर कोई विरोध नहीं दिख रहा। इसका असर जनता की जेब पर पड़ा है।"

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Expensive diesel side effects 10 pc increase in truck freight fruits and vegetables prices up to 15 pc in a feb