DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

EPFO ने 6 करोड़ लोगों को दिया तोहफा, जानें कितनी बढ़ाई ब्याज दर

EPFO (Profile Pic)

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) 2018-19 के लिये अपने छह करोड़ से अधिक अंशधारकों की कर्मचारी भविष्य निधि पर ब्याज दर 8.55 से बढ़ाकर 8.65 फीसदी कर दिया है। ईपीएफओ ने 0.10 फीसदी ब्याज दर बढ़ाया है। आज ईपीएफओ के न्यासियों की बैठक में चालू वित्त वर्ष के लिए ब्याज दर बढ़ाने का प्रस्ताव रखा था। 

लोकसभा चुनाव को देखते हुए ब्याज दर चालू वित्त वर्ष के लिये ब्याज दर को बढ़ाया गया है। ईपीएफओ ने इसमें 0.10 फीसदी की बढ़ोतरी की है। आय अनुमान को फिलहाल न्यासियों को नहीं बताया गया है। 

श्रम मंत्री की अध्यक्षता वाला न्यासी बोर्ड ईपीएफओ का निर्णय लेने वाला शीर्ष निकाय है जो वित्त वर्ष के लिये भविष्य निधि जमा पर ब्याज दर पर निर्णय लेता है। बोर्ड की मंजूरी के बाद प्रस्ताव को वित्त मंत्रालय से सहमति की जरूरत होगी। वित्त मंत्रालय की मंजूरी के बाद ही ब्याज दर को अंशधारक के खाते में डाला जाएगा।

ईपीएफओ ने 2017-18 में अपने अंशधारकों को 8.55 प्रतिशत ब्याज दिया। निकाय ने 2016-17 में 8.65 प्रतिशत तथा 2015-16 में 8.8 प्रतिशत ब्याज दिया था। वहीं 2013-14 और 2014-15 में ब्याज दर 8.75 प्रतिशत थी। 

क्या बैंक ब्याज दर घटाने पर होंगे राजी? RBI गवर्नर करेंगे बैंकों के साथ बैठक 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:EPFO likely to announce to maintain present interest rate on Provident Fund