DA Image
27 मार्च, 2020|11:42|IST

अगली स्टोरी

आपके EPF पर नए और पुराने टैक्स स्लैब का ऐसे पड़ेगा असर

sukanya samriddhi yojana  post office savings account  ppf-epf  life insurance  income tax

आम तौर पर जॉब देने वाली कंपनी या संस्थान आपके मूल वेतन और महंगाई भत्ते का 12% कर्मचारियों के भविष्य निधि अंशदान (ईपीएफ) में कटौती करता है और इतनी राशि का योगदान खुद करता है। बजट 2020 में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा घोषित नई आयकर दरों को चुनते हैं तो आपको धारा 80 सी सहित कुछ और कटौती को छोड़ना पड़ेगा। बता दें बजट 2020 में घोषित नई आयकर व्यवस्था में सात कर स्लैब हैं। आइए जानें नए और पुराने टैक्स स्लैब में ईपीएफ पर क्या प्रभव पड़ रहा है?

ईपीएफ योगदान पुरानी कर दर Vs नई कर दर

1)  मौजूदा आयकर कानूनों के तहत, नियोक्ता द्वारा किसी कर्मचारी के ईपीएफ खाते में किसी मान्यता प्राप्त भविष्य निधि या ईपीएफ में 12% तक का योगदान कर-मुक्त है। यदि यह 12% से अधिक है तो यह कर योग्य हो जाता है। यह प्रावधान नए के साथ-साथ पुरानी कर दरों के समान ही रहेगा।

2) आयकर की धारा 80 सी के तहत 12% तक के ईपीएफ के लिए आपका योगदान कटौती योग्य है। यह पुरानी कर दर के तहत जारी रहेगा, लेकिन अगर आप नए स्लैब का विकल्प चुनते हैं तो आप धारा 80 सी के तहत कटौती का दावा करने के पात्र नहीं होंगे।

3) बजट 2020 में प्रस्तावित एक और आयकर नियम में एनपीएस, सुपरनेशन फंड और ईपीएफ की में नियोक्ता का योगदान एक वर्ष में 7.5 लाख से अगर अधिक होगा तो यह कर योग्य होगा। यह नई और पुरानी दोनों टैक्स दरों के तहत लागू होगा।

कर योग्य आय का स्लैब (रुपये में) आय कर की वर्तमान दरें नई कर दरें
0-2.5 लाख छूट छूट
2.5-5 लाख 5 प्रतिशत 5 प्रतिशत
5-7.5 लाख 20 प्रतिशत 10 प्रतिशत
7.5-10 लाख 20 प्रतिशत 15 प्रतिशत
10-12.5 लाख 30 प्रतिशत 20 प्रतिशत
12.5-15 लाख 30 प्रतिशत 25 प्रतिशत
15 लाख से ऊपर 30 प्रतिशत 30 प्रतिशत

(स्रोत PIB )

यह भी पढ़ें: 10 मिनट में ऐसे पाएं अपने आधार के जरिए PAN, वह भी Free

ध्यान देने वाली बात ये है कि यदि आप नई आयकर व्यवस्था का विकल्प चुनते हैं तो धारा 80 सीसीडी (2) के तहत एनपीएस में कर्मचारी के खाते में नियोक्ता के योगदान सहित कुछ कटौती अभी भी प्राप्त की जा सकती है। केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए यह सीमा वेतन का 14% है और अन्य के लिए यह 10% है। यदि उनके संगठन अनुमति देते हैं तो कर्मचारी इस कर कटौती का विकल्प चुनने के लिए अपने salary structure का पुनर्गठन कर सकते हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:EPF contribution Old tax rate vs New Tax Rate