DA Image
8 अप्रैल, 2020|1:45|IST

अगली स्टोरी

हालात सुधार रहे PSU बैंक, रिजर्व बैंक कर रहा निगरानी: शक्तिकांत दास

rbi governor shaktikanta das

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि इस समय त्वरित सुधारात्मक कार्रवाई (पीसीए) की पाबंदियों में चल रहे सार्वजनिक क्षेत्र के चारों बैंक हालात सुधारने के प्रयास में लगे हैं और उनकी निगरानी की जा रही है। इन बैंकों में इंडियन ओवसरसीज बैंक, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, यूको बैंक और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया शामिल हैं।

इनकी वित्तीय कमजोरी की वजह से इन पर कर्ज की मंजूरी, वरिष्ठ प्रबंधकों तथा निदेशकों के वेतन तथा पारितोषिकों के भुगतान समेत कई तरह की पाबंदियां लगी हैं। दास ने कहा, ‘हम चाहेंगे कि ये बैंक अपना काम सुधारें और यथाशीघ्र पीसीए के दायरे से बाहर निकलें। हम इन बैंकों के साथ संपर्क में हैं। हम इनकी निगरानी कर रहे हैं। वे प्रयास कर रहे हैं। बैंकों को पीसीए दायरे से बाहर आने के लिए कई कदम उठाने होते हैं।’

कारोबार के अनुकूल बनानी होंगी नीतियां, ताकि बाजार को मिले ताकत: कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन

सरकार ने हाल ही में इन चार बैंकों में 11,521 करोड़ रुपए लगाने की घोषणा की है। इसमें इंडियन ओवरसीज बैंक को 4,360 करोड़ रुपए, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया को 3,353 करोड़ रुपए, यूको बैंक को 2,142 करोड़ रुपए और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया को 1,666 करोड़ रुपए मिले हैं।

रिजर्व बैंक ने पिछले साल पांच बैंकों- बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, इलाहाबाद बैंक और कॉरपोरेशन बैंक- को दो चरणों में पीसीए दायरे से बाहर किया था

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Efforts of banks under PCA frameworks are being monitored Says RBI Governor Shaktikanta Das