DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिजनेस  ›  बजट 2020: वित्त मंत्री ने कहा- नई शिक्षा नीति का ऐलान जल्द, स्टडी इन इंडिया को किया जाएगा प्रोत्साहित
बिजनेस

बजट 2020: वित्त मंत्री ने कहा- नई शिक्षा नीति का ऐलान जल्द, स्टडी इन इंडिया को किया जाएगा प्रोत्साहित

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Pankaj
Sat, 01 Feb 2020 12:53 PM
बजट 2020: वित्त मंत्री ने कहा- नई शिक्षा नीति का ऐलान जल्द, स्टडी इन इंडिया को किया जाएगा प्रोत्साहित

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को वित्त वर्ष 2020-21 का बजट पेश करते हुए कहा कि नई शिक्षा नीति की घोषणा जल्द की जाएगी। बजट में शिक्षा के लिए 99 हजार 300 करोड़ तथा कौशल विकास के लिए 3000 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं।

गौरतलब है अभी तक 1986 की ही शिक्षा नीति चली आ रही है। तब से अब तक सरकार समय समय पर संशोधन करती आ रही है। लेकिन मोदी सरकार ने अब पूरी तरह नई शिक्षा नीति लाने का फैसला किया है। नई शिक्षा नीति में नीति आयोग की तर्ज पर राष्ट्रीय शिक्षा आयोग बनाए जाने की बात है। इसके अध्यक्ष प्रधानमंत्री होंगे। नई शिक्षा नीति में स्कूलों में तीन लेंग्वेज पढ़ाए जाने का प्रस्ताव है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय का नाम शिक्षा मंत्रालय किया जाएगा। 

बजट 2020: वित्त मंत्री ने कहा- इस बार का बजट इन तीन चीजों पर केंद्रित

वित्त मंत्री ने बजट भाषण में कहा कि जिला अस्पतालों में अब मेडिकल कॉलेज बनाने की योजना भी बनाई जाएगी। लोकल बॉडी में काम करने के लिए युवा इंजीनियर्स को इंटर्नशिप की सुविधा दी जाएगी।

उच्च शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए सरकार काम कर रही है। दुनिया के छात्रों को भारत में पढ़ने के लिए सुविधाएं दी जाएंगी। भारत के छात्रों को भी एशिया, अफ्रीका के देशों में भेजा जाएगा। राष्ट्रीय पुलिस विश्वविद्यालय, राष्ट्रीय न्यायिक विज्ञान विश्वविद्यालय बनाने का प्रस्ताव रखा गया है। डॉक्टरों के लिए एक ब्रिज प्रोग्राम शुरू किया जाएगा, ताकि प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टरों को प्रोफेशनल बातों के बारे में सिखाया जा सके।

Budget 2020 LIVE: निर्मला सीतारमण बोलीं- 150 कॉरपोरेट ट्रेनें चलाई जाएंगी, तेजस जैसे ट्रेनों से टूरिस्ट स्थलों को जोड़ा जाएगा

बजट भाषण में वित्त मंत्री ने कहा स्टडी इन इंडिया को प्रोत्साहित किया जाएगा। एजुकेशन सेक्टर में एफडीआई लाया जाएगा। गरीब छात्रों के लिए ऑनलाइन डिग्री प्रोग्राम लाया जाएगा। 

इस आर्टिकल को शेयर करें
लाइव हिन्दुस्तान टेलीग्राम पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं? हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

सब्सक्राइब
अपडेट रहें हिंदुस्तान ऐप के साथ ऐप डाउनलोड करें

संबंधित खबरें