ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसड्रोन कंपनी का आ रहा IPO, 15 दिसंबर तक लगा सकेंगे दांव, प्राइस बैंड ₹52-54, ग्रे मार्केट में ₹25 प्रीमियम पर भाव

ड्रोन कंपनी का आ रहा IPO, 15 दिसंबर तक लगा सकेंगे दांव, प्राइस बैंड ₹52-54, ग्रे मार्केट में ₹25 प्रीमियम पर भाव

अगर आप इनिशियल पब्लिक आफरिंग यानी आईपीओ (IPO) में दांव लगाने की सोच रहे हैं तो आपके पास शानदार मौका है। दरअसल, पुणे की ड्रोन कंपनी ड्रोन आचार्य एरियल इनोवेशन अपना आईपीओ लेकर आ रही है।

ड्रोन कंपनी का आ रहा IPO, 15 दिसंबर तक लगा सकेंगे दांव, प्राइस बैंड ₹52-54, ग्रे मार्केट में ₹25 प्रीमियम पर भाव
Varsha Pathakलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 05 Dec 2022 09:53 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

DroneAcharya AI IPO: अगर आप इनिशियल पब्लिक आफरिंग यानी आईपीओ (IPO) में दांव लगाने की सोच रहे हैं तो आपके पास शानदार मौका है। दरअसल, पुणे की ड्रोन कंपनी ड्रोन आचार्य एरियल इनोवेशन अपना आईपीओ लेकर आ रही है। निवेश के लिए यह आईपीओ 13 दिसंबर को ओपन हो रहा है। इस इश्यू में निवेशक 15 दिसंबर तक दांव लगा सकेंगे। कंपनी IPO के जरिए  फ्रेश शेयर जारी करेगी और लगभग ₹34 करोड़ जुटाएगी।

प्राइस बैंड ₹52-54 प्रति शेयर तय
DroneAcharya AI IPO प्राइस बैंड ₹52-54 प्रति शेयर के बीच तय किया गया है। कंपनी के शेयर बीएसई एसएमई एक्सचेंज में लिस्ट होंगे। कंपनी का एसएमई आईपीओ लॉट आकार 2,000 शेयर है और एक रिटेल निवेशक 1 लॉट तक यानी ₹1.08 लाख तक के लिए आवेदन कर सकता है।

यह भी पढ़ें- 161 रुपये तक जाएगा टाटा ग्रुप का यह स्टॉक, खत्म हुआ बिकवाली का दौर, लगातार 5 दिन से बढ़ रहा भाव

क्या चल रहा GMP?
कंपनी के शेयर वर्तमान में ₹25 प्रति शेयर के ग्रे मार्केट प्रीमियम  यानी GMP पर उपलब्ध हैं। बता दें कि GMP वह प्रीमियम है जिस पर IPO के शेयर स्टॉक एक्सचेंज में लिस्ट होने से पहले एक अनौपचारिक बाजार में कारोबार करते हैं। 

यह भी पढ़ें- ₹7 का शेयर 180 रुपये का हुआ, अब कंपनी ने किया बोनस शेयर का ऐलान, तय हुआ रिकॉर्ड डेट

कंपनी का कारोबार
DroneAcharya Al मल्टी-सेंसर ड्रोन सर्वेक्षणों के लिए ड्रोन साल्यूशन का इकोसिस्टम है। यह कॉन्फ़िगरेशन वर्कस्टेशन, ड्रोन पायलट प्रशिक्षण और विशेष GIS प्रशिक्षण का उपयोग करके ड्रोन डेटा प्रोसेसिंग करता है। कंपनी को नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) द्वारा रिमोट पायलट प्रशिक्षण संगठन (आरपीटीओ) के रूप में ड्रोन प्रशिक्षण आयोजित करने के लिए ऑथराइज्ड किया गया है। मार्च 2022 से, कंपनी ने 180 से अधिक ड्रोन पायलटों को प्रशिक्षित किया है।
स्टार्टअप द्वारा जुटाई गई शुद्ध आय का उपयोग ड्रोन, सेंसर और प्रोसेसिंग इंफ्रास्ट्रक्चर की खरीद और निर्माण के लिए किया जाएगा। इसके अलावा, कंपनी की मार्च 2023 तक 12 नए प्रशिक्षण केंद्र खोलने की योजना है। ड्रोन आचार्य ने प्री-सीड फंडिंग राउंड में इसी साल मई में 4.6 मिलियन डाॅलर  की राशि जुटाई थी। ड्रोन कंपनी का लगभग 71.56% रेवेन्यू महाराष्ट्र में ग्राहकों से आता है।