DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिजनेस  ›  बीएसई 500 में घरेलू निवेशकों ने घटाया निवेश, 318 कंपनियों के शेयर होल्डिंग में डीआईआई की हिस्सेदारी घटी
बिजनेस

बीएसई 500 में घरेलू निवेशकों ने घटाया निवेश, 318 कंपनियों के शेयर होल्डिंग में डीआईआई की हिस्सेदारी घटी

नई दिल्ली। अश्विन रामरत्तिनमPublished By: Drigraj Madheshia
Sat, 24 Apr 2021 08:12 AM
बीएसई 500 में घरेलू निवेशकों ने घटाया निवेश, 318 कंपनियों के शेयर होल्डिंग में डीआईआई की हिस्सेदारी घटी

शेयर बाजार में तेज उतार-चढ़ाव के बीच मार्च तिमाही में घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) का भरोसा डगमगाया है, जबकि विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) का भारतीय बाजार पर भरोसा और मजबूत हुआ है। इस अवधि में डीआईआई का बीएसई 500 कंपनियों में निवेश घटकर 13.64 फीसदी पर आ गया है। यह जून 2019 तिमाही के बाद सबसे निचला स्तर है। इस दौरान घरेलू संस्थागत निवेशकों ने कई दिग्गज कंपनियों में निवेश घटाया है।

यह भी पढ़ें: 1.50 रुपये के इस शेयर ने एक ही दिन में बना दिया करोड़पति, एक ही दिन में 8033 फीसद उछला

बाजार की तेजी ने भी नहीं लुभाया

मार्च तिमाही में बीएसई 500 का प्रदर्शन सेंसेक्स और निफ्टी से भी अधिक रहा है। इस दौरान बीएसई 500 ने 7.11 फीसदी का रिटर्न दिया है। इसके बावजूद घरेलू संस्थागत निवेशकों ने इससे दूरी बनाई है। इस अवधि में घरेलू संस्थागत निवेशकों का निवेश इसमें घटकर 13.64 फीसदी पर आ गया जो जून 2019 तिमाही के बाद सबसे कम है।

इन कंपनियों से किया किनारा

टाटा मोटर्स, डीवीआर, नवभारत वेंचर्स, जबलिएंट फूड, गुजरात मिनरल डेवलपमेंट और केयर रेटिंग और ईक्लेरेक्स आदि में घरेलू संस्थागत निवेशकों ने निवेश घटाया है। इसके अलावा टाटा केमिकल, वेदांता और रेमंड समेत 164 कंपनियों ने हिस्सेदारी घटाई है। बैंकों में सबसे अधिक हिस्सेदारी कम हुई है।

दवा कंपनियों को तरजीह

घरेलू संस्थागत निवेशकों ने इस अवधि 150 में हिस्सेदारी बढ़ाई है। इनमें सबसे अधिक दवा यानी फॉर्मा क्षेत्र की कंपनियां हैं जिसमें घरेलू संस्थागत निवेशकों ने जमकर निवेश किया है। कोरोना की दूसरी लहर के बाद अब खुदरा निवेशक भी फॉर्मा क्षेत्र की ओर रुख कर रहे हैं। पिछले कुछ दिनों में फॉर्मा क्षेत्र की कंपनियों के शेयर 30 फीसदी से अधिक चढ़ चुके हैं।

विदेशी निवेशक मेहरबान

विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने मार्च तिमाही में भारतीय शेयर बाजार में मार्च तिमाही में 7.33 अरब डॉलर का निवेश किया है। इस अवधि में बीएसई 500 में एफआईआई का निवेश बढ़कर 20.91 फीसदी पर पहुंच गया। पिछले साल की मार्च तिमाही में यह आंकड़ा 19.40 फीसदी था।

संबंधित खबरें