DA Image
29 अक्तूबर, 2020|9:27|IST

अगली स्टोरी

शेयर बाजार के लिए मायूसी भरा सोमवार, सेंसेक्स-निफ्टी में बड़ी गिरावट

sensex unhappy

आज कारोबारी सप्ताह का पहला दिन शेयर बाजार गिरावट के साथ बंद हुआ। मायूसी भरे सोमवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 540 अंकों के नुकसान के साथ 40,145 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं निफ्टी 162.60 अंक नीचे 1,767.75 के स्तर पर कारोबार को विराम दिया। दिनभार बाजार की चाल बेहद खराब रही। एक समय सेंसेक्स 40000 के नीचे आ गया था। सेंसेक्स का आज का निम्न स्तर 39,948.29 था। वहीं अगर निफ्टी की बात करें तो एक समय यह 11,711.70 के स्तर पर आ गया था।

sensex

सभी सेक्टोरल इंडेक्स धड़ाम

निफ्टी बैंक 1.65, ऑटो 3.22, फाइनेंशियल सर्विसेज 1.05, एफएमसीजी 0.03, आईटी 1.20, मीडिया 2.74, मेटल 3.50, फार्मा 1.47, पीएसयू बैंक 1.19, प्राइवेट बैंक
1.41 और रियलटी इंडेक्स 1.89 फीसद की गिरावट के साथ बंद हुआ। सेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक नुकसान में बजाज ऑटो रही। इसमें 6.10 प्रतिशत की गिरावट आयी। जिन अन्य प्रमुख शेयरों में गिरावट रही, उनमें महिंद्रा एंड महिंद्रा, रिलायंस इंडस्ट्रीज, टाटा स्टील, टेक महिंद्रा, भारतीय स्टेट बैंक, एक्सिस बैंक और आईसीआईसीआई बैंक शामिल हैं।  लाभ में रहने वाले शेयरों में नेस्ले इंडिया, कोटक बैंक, इंडसइंड बैंक, पावरग्रिड और एचयूएल शामिल हैं। इसमें 2.48 प्रतिशत तक की तेजी आयी।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में 3.97 फीसद की गिरावट

फ्यूचर ग्रुप के साथ रिलायंस रिटेल की डील पर ग्रहण लगने से रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में 3.97 फीसद की गिरावट देखी गई। आरआईएल का स्टॉक 2028.70 पर बंद हुआ।   आरआईएल का शेयर 3.97 प्रतिशत नीचे आ गया। इसका कारण फ्यूचर ग्रुप के रिलायंस इंडस्ट्रीज को खुदरा कारोबार 24,713 करोड़ रुपये में बेचने के मामले में अमेजन डॉट कॉम के पक्ष में अंतरिम मध्स्थता आदेश का आना है।अमेजन पिछले साल खुदरा और फैशन समूह में अल्पांश हिस्सेदारी हासिल की थी। उसका कहना है कि फ्यूचर का अपना खुदरा, थोक, लॉजिस्टिक और गोदाम कारोबार रिलायंस को बेचना उसके साथ किये गये गये अनुबंध का उल्लंघन है। अनुबंध में यह प्रावधान शामिल था कि इस प्रकार की पेशकश सबसे पहले उसे की जानी थी।  सिंगापुर अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थता केंद्र ने रविवार को फ्यूचर रिटेल और उसके संस्थापकों पर अंतिम आदेश आने तक बिक्री के लिये आगे कदम बढ़ाये जाने पर रोक लगा दी। 

गिरावट की वजह

अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये में तीव्र गिरावट का भी निवेशकों की धारणा पर असर पड़ा।  उधर, यूरोप और अन्य क्षेत्रों में कोविड-19 के बढ़ते मामलों और ताजा प्रोत्साहन उपायों का लेकर अनिश्चितता की वजह से रुख कमजोर रहा।   जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ''बाजार में उतार-चढ़ाव उम्मीद के अनुरूप है। इसका कारण अमेरिका में चुनाव की तारीख का करीब आना है। कीमतें ऊंची है, इसके कारण अनिश्चितता को झेलने की बाजार की क्षमता सीमित हुई है। हालांकि चुनाव के परिणाम से दीर्घकलीन रुझान में बदलाव की संभावना कम है। अमेरिका तथा यूरोप में कोविड-19 के बढ़ते मामले तथा अमेरिका में प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा में देरी से निवेशकों में चिंता बढ़ी है।

यह भी पढ़ें: Gold Price Latest: दिवाली से पहले सोने की कीमतों में बदलाव, 839 रुपये टूटी चांदी

उन्होंने कहा, ''हाल में आयी तेजी के बाद भारतीय बाजार में सुधार आ रहा है। तेजी का कारण कंपनियों के दूसरी तिमाही के वित्तीय परिणाम का बेहतर होना है। निकट भविष्य में घरेलू शेयर बाजारों में कमजोर रुख रहने की आशंका है। इस पर दूसरी तिमाही के अन्य कंपनियों के वित्तीय परिणामों और अमेरिका की गतिविधियों का असर पड़ने की संभावना है। हालांकि 11,500 का स्तर निफ्टी-50 के लिये मजबूत आधार है, ऐसे में अभी कोई बड़े सुधार की संभावना नहीं है। वैश्विक मोर्चे पर चीन का शंघाई, जापान में तोक्यो और दक्षिण कोरिया में सोल नुकसान में रहे।  यूरोप के प्रमुख शेयर बाजारों में भी शुरूआती कारोबार में गिरावट का रुख रहा। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 2.04 प्रतिशत की गिरावट के साथ 41.14 डॉलर प्रति बैरल पर चल रहा था।      

अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 23 पैसे टूटकर 73.84 पर बंद

 दुनिया की अन्य प्रमुख मुद्राओं के बास्केट में डॉलर की मजबूती और घरेलू शेयर बाजार के लाल निशान में रहने के दबाव में सोमवार को अंतरबैंकिंग मुद्रा बाजार में रुपया 23 पैसे लुढ़ककर 73.84 रुपये प्रति डॉलर पर आ गया।  बाजार बंद होने के समय रुपये की विनिमय दर प्रति डॉलर 73.84 (अनंतिम)थी जो रुपये की दर में शुक्रवार के मुकाबले 23 पैसे की नरमी दर्शाती है।  सोमवार को अंतर बैंक विदेशी विनिमय बाजार में रुपये की शुरुआत नरमी के साथ 73.77 पर हुई। कारोबार के दौरान भारतीय मुद्रा और भी नरम हो गयी। बाजार बंद होने के समय विनिमय दर 73.84 रुपये प्रति डॉलर :अनंतिम: थी।  यह पिछले बंद से रुपये में 23 पैसे की गिरावट दिखाता है। शुकवार को डॉलर 73.61 रुपये पर बंद हुआ था। कारोबार के दौरान विनिमय दर में 73.69—73.88 के बीच घटती— बढ़ती रही। डॉलर सूचकांक 0.25 प्रशित बढ़ कर 93.00 रहा जो प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर में तेजी दर्शाता है।

सुबह का हाल

शेयर बाजार ने आज लाल निशान के साथ कारोबार की शुरुआत की।  सोमवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 35 अंकों के नुकसान के साथ 40,649.76 के स्तर पर खुला। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी की शुरुआत भी लाल निशान के साथ हुई। निफ्टी आज 11,937.40 के स्तर पर खुला।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Disappointment for stock market Monday Sensex looses 540 pt Nifty fell by 162 point