DA Image
1 अक्तूबर, 2020|10:57|IST

अगली स्टोरी

अनुभवी चार्टर्ड अकाउंटेंट की मांग चार गुना बढ़ी

ICAI IPCC Exam Schedule

देश में कोरोना महामारी के दौरान कारोबारी जरूरतों के लिए अनुभवी चार्टर्ड अकाउंटेंट की मांग में बड़ी तेजी देखने को मिली है। इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया की प्लेसमेंट रिपोर्ट के मुताबिक करियर एसेंट नाम से शुरू किए गए प्लेसमेंट प्रोग्राम में नौकरियों के पोस्ट पिछले साल के मुकाबले इस साल चार गुना बढ़ गए हैं।

रिपोर्ट में बताया गया है कि पिछले साल इसी दौरान करीब 14 रिक्रूटर आए थे जिनकी संख्या इस साल बढ़कर 29 हो गई है वहीं पिछले साल की 226 नौकरियों के मुकाबले 900 नौकरियों के मौके देखे गए हैं। इस बार बैंकिंग, बीपीओ और आईटी क्षेत्र की कंपनियों में एक से लेकर 20 साल के अनुभव वाले चार्टर्ड अकाउंटेंट की डिमांड ज्यादा बढ़ी है। इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया के प्रेसिंडेट अतुल कुमार गुप्ता ने हिन्दुस्तान को बताया कि मौजूदा कोरोना महामारी के दौर में आर्थिक गतिविधियों में बड़ा बदलाव देखने को मिला है। उन्होंने कहा कि मुश्किल दौर में कंपनियों के सामने करोबार को नए सिरे से खड़ा करने की चुनौती है। साथ ही नई सरकार की नीतियों में भी तेजी से बदलाव देखने को मिल रहा है। ऐसे में चार्टर्ड अकाउंटेंट व्यवस्था को समझने में अहम योगदान देने में सक्षम हैं और कंपनी को चलाने में डाटा एनालिसिस के जरिए भी मदद दे सकते हैं।

प्लेसमेंट में इजाफा
मौजूद समय में देश में करीब 3.90 लाख चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं जिनमें से 3.10 लाख लोग प्रैक्टिस कर रहे हैं। पिछले साल के कुल 2135 प्लेसमेंट के मुकाबले इस साल प्लेसमेंट भी करीब 37 फीसदी ज्यादा 2,923 नौकरियों के ऑफर दिए गए हैं। चार्टर्ड आकाउंटेंट्स को पिछले साल 7.43 लाख सैलरी ऑफर की गई थी जो इस साल 8.91 लाख रुपए की औसत सैलरी दी गई है। हालांकि, पिछले साल के मुकबले अधिकतम सैलरी पैकेज में कमी देखने को मिली है। पिछले साल घरेलू प्लेसमेंट में अधिकतम सैलरी ऑफर 24 लाख रुपए का था। वहीं इस साल ये 23.28 लाख रुपए तक ही रहा।

LPG Cylinder Price: अक्टूबर महीने में रसोई गैस हुई महंगी, जानें नए दाम 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Demand for experienced chartered accountants increased fourfold