Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़defence stock zen technologies share hit 5 percent on budget day check detail - Business News India

डिफेंस बजट में ₹6.21 लाख करोड़ अलॉट, इस कंपनी के शेयर पर टूटे निवेशक

सप्ताह के चौथे कारोबारी दिन इस कंपनी के शेयर 5 फीसदी चढ़कर 882.75 रुपये पर पहुंच गए। कारोबार के अंत में शेयर की कीमत 880.70 रुपये थी। यह एक दिन पहले के मुकाबले 4.75% बढ़कर बंद हुआ।

डिफेंस बजट में ₹6.21 लाख करोड़ अलॉट, इस कंपनी के शेयर पर टूटे निवेशक
Deepak Kumar लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीThu, 1 Feb 2024 05:33 PM
हमें फॉलो करें

Zen Technologies share: बजट वाले दिन डिफेंस सेक्टर से जुड़ी कंपनी जेन टेक्नोलॉजी के शेयर की जबरदस्त डिमांड रही। सप्ताह के चौथे कारोबारी दिन गुरुवार को इस कंपनी के शेयर 5 फीसदी चढ़कर 882.75 रुपये पर पहुंच गए। कारोबार के अंत में शेयर की कीमत 880.70 रुपये थी। यह एक दिन पहले के मुकाबले 4.75% बढ़कर बंद हुआ। 17 अगस्त 2023 को शेयर ने 912.55 रुपये के हाई को टच किया। यह शेयर के 52 हफ्ते का हाई है। कंपनी का मार्केट कैप 7,401.78 करोड़ रुपये है। बता दें कि यह कंपनी ड्रोन बनाने का काम भी करती है।

डिफेंस सेक्टर के लिए क्या था बजट में
अंतरिम बजट 2024-25 में डिफेंस सेक्टर के लिए 6.21 लाख करोड़ रुपये आवंटित किए जबकि पिछले साल यह आवंटन 5.94 लाख करोड़ रुपये था। इसके साथ ही सरकार ने सैन्य क्षेत्र में अत्याधुनिक प्रौद्योगिकियों के लिए एक महत्वाकांक्षी योजना की घोषणा की।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा संसद में पेश अंतरिम केंद्रीय बजट में, पूंजीगत व्यय के लिए सेना को कुल 1.72 लाख करोड़ रुपये आवंटित किए गए, जिसमें बड़े पैमाने पर नए हथियार, विमान, युद्धपोत और अन्य सैन्य साजोसामान खरीदना शामिल है। पिछले साल यानी 2023-24 में पूंजी परिव्यय के लिए बजटीय आवंटन 1.62 लाख करोड़ रुपये था।

नई योजना आएगी: वित्त मंत्री ने कहा कि रक्षा प्रयोजनों के लिए प्रौद्योगिकियों को मजबूत बनाने और आत्मनिर्भरता में तेजी लाने के लिए नयी योजना शुरू की जाएगी। बजट दस्तावेज के अनुसार, कुल राजस्व व्यय 4,39,300 करोड़ रुपये आंका गया है जिनमें रक्षा पेंशन के लिए 1,41,205 करोड़ रुपये, रक्षा सेवाओं के लिए 2,82,772 करोड़ रुपये और रक्षा मंत्रालय (नागरिक) के लिए 15,322 करोड़ रुपये शामिल हैं।

रक्षा सेवाओं के लिए पूंजीगत परिव्यय में, विमान और एयरो इंजन के लिए 40,777 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं, जबकि ‘अन्य साजोसामान’ के लिए 62,343 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं। इसके साथ ही नौसेना बेड़े के लिए 23,800 करोड़ रुपये और नौसेना डॉकयार्ड परियोजनाओं के लिए 6,830 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

किसे क्या मिला 
वित्त वर्ष 2023-24 के बजट में, भारतीय वायु सेना के लिए पूंजी परिव्यय सबसे अधिक 57,137.09 करोड़ रुपये था, जिसमें विमान और एयरो इंजन की खरीद के लिए 15,721 करोड़ रुपये और अन्य साजोसामान के लिए 36,223.13 करोड़ रुपये शामिल थे। अंतरिम बजट में थल सेना के लिए राजस्व व्यय 1,92,680 करोड़ रुपये आंका गया है, जबकि नौसेना और वायु सेना को क्रमशः 32,778 करोड़ रुपये और 46,223 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं।

 जानें Hindi News , Business News की लेटेस्ट खबरें, Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें