ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News BusinessDabur Group Chairman also under investigation in rs 15000 crore mahadev scam case

₹15,000 करोड़ के स्कैम मामले में डाबर ग्रुप के चेयरमैन भी जांच के दायरे में! मुंबई पुलिस का बड़ा एक्शन

महादेव ऐप स्कैम (Mahadav app Scam) मामले में बड़ी कार्रवाई की है। महाराष्ट्र पुलिस ने डाबर ग्रुप (Dabur Group) के चेयरमैन मोहित बर्मन, डायरेक्टर गौरव बर्मन सहित 31 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

₹15,000 करोड़ के स्कैम मामले में डाबर ग्रुप के चेयरमैन भी जांच के दायरे में! मुंबई पुलिस का बड़ा एक्शन
Tarun Singhआईएएनएस,नई दिल्लीTue, 14 Nov 2023 03:05 PM
ऐप पर पढ़ें

मुंबई पुलिस ने ‘महादेव ऐप’ स्कैम (Mahadav app Scam) मामले में बड़ी कार्रवाई की है। महाराष्ट्र पुलिस ने डाबर ग्रुप (Dabur Group) के चेयरमैन मोहित बर्मन, डायरेक्टर गौरव बर्मन सहित 31 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। 7 नवंबर को दर्ज की गई एफआईआर (FIR) में एक्टर साहिल खान का नाम भी शामिल है। सीएनबीसी -टीवी -18 से बातचीत करते हुए बर्मन फैमिली ने कहा है कि उन्हें एफआईआर के विषय में कोई जानकारी अभी तक प्राप्त नहीं हुई है। इस मसले पर बर्मन फैमिली ने कहा है कि यह दुर्भावना से प्रेरित है।

15,000 करोड़ रुपये का स्कैम! 

महादेव ऐप स्कैम का पूरा मामला सोशल वर्कर प्रकाश बंकर के माटुंगा पुलिस में मामला दर्ज कराने के बाद सामने आया था। दावा है कि हजारों लोग इस स्कैम का शिकार हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार महादेव ऐप स्कैम 15,000 करोड़ रुपये का है। बता दें, माटुंगा पुलिस ने महादेव ऐप स्कैम मामले अलग-अलग अधिनियमों (Act) में एफआईआर दर्ज किया है। IPC, गैंबलिंग एक्ट और आईटी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज किया गया है। 

16 नवंबर को आ रहा है एक और आईपीओ, निवेश के लिए हो जाइए तैयार

ED भी एक्शन में 

महादेव ऐप मामले में चल रही जांच के दायरे में कई एक्टर-एक्ट्रेस, राजनेता और बिजनेस मैन भी हैं। इस प्रकरण में ईडी भी जांच कर रहा है। 10 दिन पहले ही ईडी की याचिका पर केंद्र सरकार ने महादेव ऐप सहित 22 अवैध सट्टेबाजी से जुड़ी साइटों को ब्लॉक कर दिया था। महादेव ऐप छत्तीसगढ़ के भिलाई के सौरभ चंद्राकर और रवि उप्पल सहित अन्य लोग संचालित करते थे। आरोप है कि इस ऐप के जरिए हवाला के माध्यम से करोड़ों रुपये का लेन-देन किया जाता था। 

छत्तीसगढ़ के सीएम पर भी जांच की आंच

महादेव स्कैम तब चर्चा में आया जब इस पूरे मसले के साथ छत्तीसगढ़ के मौजूदा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का नाम सामने आया। ईडी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ के सीएम को 500 करोड़ रुपये से अधिक का भुगतान महादेव ऐप को संचालकों ने किया है।