ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेस56% टूट गया यह शेयर, ऑल टाइम लो पर पहुंचा भाव, कंपनी के CEO ने निवेशकों से की अपील और मांगा वक्त

56% टूट गया यह शेयर, ऑल टाइम लो पर पहुंचा भाव, कंपनी के CEO ने निवेशकों से की अपील और मांगा वक्त

कंपनी के शेयर लगभग 10% तक टूट कर अपने ऑल टाइम लो पर पहुंच गए। क्रेडिट सुईस के शेयर लगभग 56 पर्सेंट तक टूट चुका है। वर्तमान में कंपनी के शेयर 3.92 डॉलर पर हैं। 

56% टूट गया यह शेयर, ऑल टाइम लो पर पहुंचा भाव, कंपनी के CEO ने निवेशकों से की अपील और मांगा वक्त
Varsha Pathakमिंट,नई दिल्लीMon, 03 Oct 2022 09:03 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

ग्लोबल इन्वेस्टमेंट बैंक और फाइनेंशियल सर्विसेज कंपनी क्रेडिट सुईस (Credit Suisse) का स्टॉक में आज बड़ी गिरावट आई है। कंपनी के शेयर लगभग 10% तक टूट कर अपने ऑल टाइम लो पर पहुंच गए। क्रेडिट सुईस के शेयर लगभग 56 पर्सेंट तक टूट चुका है। वर्तमान में कंपनी के शेयर 3.92 डॉलर पर हैं। 

क्या है गिरावट की वजह?
दरअसल, क्रेडिट सुईस ग्रुप के स्‍टॉक में गिरावट के पीछे बड़ी वजह है। वह यह है कि बैंक के पिछले 5 साल का सीडीएस यानी यानी क्रेडिट डिफॉल्ट स्वैप 10 साल के हाई पर पहुंच गया है। बैंक के सीईओ उलरिच कोर्नर  (Ulrich Koerner) ने पिछले सप्ताह कर्मचारियों और बाजारों को शांत करने की अपील की थी जब स्टॉक रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गया था। बैंक के पूंजी लेवल और लिक्विडिटी के बारे में बताते हुए उन्होंने स्वीकार किया कि फर्म एक "मुश्किल घड़ी" का सामना कर रही है। सीईओ ने निवेशकों से कुछ वक्त मांगा है। Ulrich Koerner  ने बताया है कि वो 27 अक्टूबर को स्ट्रैटेजिक अपडेट का ऐलान करने वाले हैं। 

यह भी पढ़ें- Zee-Sony मर्जर में आया नया मोड़: ज़ी बंद करेगा अपना यह चैनल, जानिए क्या है मामला?

Ulrich Koerner ने निवेशकों से मांगा वक्त 
जानकारों की मानें तो बैंक जिस स्थिति में है उस हालात में तो कंपनी को एसेट बिक्री के अलावा भी तकरीबन 33000 करोड़ रुपए जुटाने की उम्मीद है। बता दें कि एक साल पहले क्रेडिट सुइस का मार्केट कैप 22.3 अरब डॉलर था। आज इसका बाजार प्राइस केवल 10.4 अरब डॉलर है और शेयरों में 56.2% की गिरावट आई है। इसकी क्रेडिट डिफॉल्ट स्वैप (सीडीएस) लागत भी 2008 के बाद से हाई पर पहुंच गई है। 
रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसके कर्मचारियों का मनोबल निराशाजनक है और बैंक ने अभी तक कुछ खास कदम नहीं उठाया है।

यह भी पढ़ें- IPO ओपन होने से पहले कंपनी का ग्रे मार्केट में धमाल, 33 रुपये के प्रीमियम पर शेयर 

epaper