DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिजनेस  ›  कोरोना वायरस का कहर, चीन के शेयर बाजार में 5 साल की सबसे बड़ी गिरावट
बिजनेस

कोरोना वायरस का कहर, चीन के शेयर बाजार में 5 साल की सबसे बड़ी गिरावट

लाइव हिन्दुस्तान एजेंसी,नई दिल्लीPublished By: Drigraj
Mon, 03 Feb 2020 04:15 PM
कोरोना वायरस का कहर, चीन के शेयर बाजार में 5 साल की सबसे बड़ी गिरावट

चीन में 361 लोगों की जान लेने वाले कोरोना वायरस का कहर शेयर बाजार पर टूट पड़ा है। कोरोना वायरस फैलने से बढ़ी चिंताओं के चलते शंघाई शेयर बाजार 7.72 प्रतिशत गिरा। चीन के शेयर बाजार में पांच साल की यह सबसे बड़ी गिरावट है। शंघाई कंपोजिट इंडेक्स 229.92 अंक यानी 7.72 प्रतिशत घटकर 2,746.61 अंक पर और शेनझेन कंपोजिट इंडेक्स 8.41 प्रतिशत यानी 147.81 अंक गिरकर 1,609 अंक पर बंद हुआ। इसके तेजी से हो रहे प्रसार का असर वैश्विक अर्थव्यवस्था पर पड़ रहा है। बाजार में निवेशकों के बीच इसे लेकर काफी डर है। हालांकि चीन के नियामकों ने बाजार को स्थिर करने के लिए कई कदम उठाए हैं।

23 जनवरी के बाद खुला बाजार तो मचा हाहाकार

चीनी नव वर्ष की सप्ताह भर लंबी छुट्टी के बाद शंघाई शेयर बाजार में सोमवार को भारी गिरावट दिखी। शांघाई कंपोजिट शेयर सूचकांक आठ प्रतिशत तक गिरकर बंद हुआ। यह अगस्त 2015 के बाद की सबसे बड़ी गिरावट है।  शंघाई कंपोजिट 229.92 अंक यानी 7.72 प्रतिशत घटकर 2,746.61 अंक पर बंद हुआ।

यह भी पढ़ें: सेंसेक्स 136 अंकों की तेजी के साथ 39,872 और निफ्टी 46 अंक मजबूत होकर 11,707 पर बंद

छुट्टियां शुरू होने से पहले बाजार 23 जनवरी को खुला था और उस दिन शंघाई कंपोजिट इंडेक्स 2.8 प्रतिशत गिरा था। चीन सरकार 2008 में वैश्विक मंदी और 2002-2003 में सार्स बीमारी के फैलने के बाद बाजारों में उथल-पुथल को रोकने के दौरान भी वह इस तरह के कदम उठा चुकी है।  चीन की अधिकतर बड़ी कंपनियां और वित्तीय संस्थान सरकार के नियंत्रण में हैं।

दवा कंपनियों के शेयर शुरुआती कारोबार में 10 प्रतिशत तक गिरे

रविवार को चीन के केंद्रीय बैंक ने बाजार में 1,200 अरब युआन (173 अरब डॉलर) की अतिरिक्त नकद राशि झोंकने की योजना की घोषणा की। यह पैसा बांड की ताकि बाजार में नकदी पर्याप्त मात्रा में बनी रहे।  सोमवार को कई क्षेत्रों की कंपनियों के शेयर में गिरावट देखी गयी। चीन की दवा कंपनियों के शेयर शुरुआती कारोबार में 10 प्रतिशत तक गिर गए।  इसी तरह चीन के छोटे बाजारों का सूचकांक शेनझेन कंपोजिट इंडेक्स 8.41 प्रतिशत यानी 147.81 अंक गिरकर 1,609 अंक पर बंद हुआ।

कोरोना वायरस का पहला मामला वुहान शहर में सामने आया 

corona virus   

गौरतलब है कि कोरोना वायरस का पहला मामला वुहान शहर में सामने आया इसके फैलने से चीन एवं आसपास के क्षेत्रीय पर्यटन और वैश्विक वृद्धि पर असर पड़ रहा है। कोरोना वायरस से दुनियाभर में अब तक 360 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है।वहीं चीन की मुद्रा युआन 7% प्रति डॉलर से कमजोर होकर 1% गिर गया। चीन में कोरोना वायरस के कारण 57 और लोगों की मौत हो जाने के साथ ही इस विषाणु की चपेट में आने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 361 हो गई है।

कोरोना वायरस के 2,829 नए मामले सामने आए

चीन स्वास्थ्य अधिकारियों ने सोमवार को इसके 17,205 मामलों की पुष्टि की। चीन राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने सोमवार को अपनी दैनिक रिपोर्ट में कहा कि दो फरवरी को कोरोना वायरस के 2,829 नए मामले सामने आए हैं। इससे संक्रमित लोगों की कुल संख्या 17, 205 हो गई है। सरकारी समाचार एजेंसी 'शिन्हुआ ने आयोग के हवाले से बताया कि रविवार को इसकी चपेट में आने से 57 और लोगों की जान चली गई, जिससे इससे मरने वालों की संख्या बढ़कर 361 हो गई।

यह भी पढ़ें: नया इनकम टैक्स स्लैब या पुराना चुनने से पहले यहां समझें इनकी बारीकियां

भारत ने कोरोना वायरस से प्रभावित वुहान शहर से रविवार को 323 भारतीयों और मालदीव के सात नागरिकों को लेकर एयर इंडिया का दूसरा विमान दिल्ली पहुंच गया है। इसके साथ ही अब तक वहां से 654 लोगों को भारत लाया जा चुका है। 

corona

यह भी पढ़ें: बजट के बाद शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव, सेंसेक्स-निफ्टी में गिरावट जारी

गौरतलब है कि इस वायरस का दिसंबर की शुरुआत में पता चला था और इसके हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान स्थित उस बाजार से फैलने की आशंका है जहां मांस के लिए जंगली जानवरों की बिक्री होती है। चीन के वेंगझोउ शहर ने वुहान शहर में कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए अपने निवासियों के आवागमन पर रविवार को प्रतिबंध लगा दिए और सड़कें बंद कर दीं।

कोरोना वायरस का सोर्स क्या है?

अभी तक 2019 novel कोरोना वायरस के फैलने के कारण का पता नहीं लगा है। यह वायरस का बड़ा ग्रुप है, जिसमें कुछ मरीजों इससे बीमार हो रहे हैं वहीं कुछ जानवरों में भी फैल रहे हैं। लेकिन कहा जा रहा है कि चीन के हुवेई प्रांत के वुहान शहर में इसके फैलने का बड़ा कारण यह था कि उन लोगों का कही न कहीं सी-फूड और जानवरों के बाजार से संबंध था। इसलिए यह कहा जा रहा है कि यह शायद जानवरों से आया है। 

हांगकांग की अर्थव्यवस्था में 2019 में 1.2 प्रतिशत की गिरावट

हांगकांग की अर्थव्यवस्था में 2019 में 1.2 प्रतिशत की गिरावट आयी। आधिकारिक रूप से सोमवार को यह जानकारी दी गयी। इसमें अर्थव्यवस्था के पिछले साल मंदी आने की पुष्टि की गयी है।   अर्थव्यवस्था में गिरावट का कारण अमेरिका-चीन व्यापार तनाव और लोकतंत्र समर्थकों का महीनों से हो रहे विरोध प्रदर्शन है।   बयान के अनुसार हांगकांग का सकल घरेलू उत्पाद में पिछले साल 1.2 प्रतिशत की गिरावट आयी। वहीं चौथी तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर में 2.9 प्रतिशत की गिरावट आयी थी।

संबंधित खबरें