Wednesday, January 26, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसकोरोना का साइड इफेक्ट: फरवरी में सुस्त पड़ीं विनिर्माण गतिविधियां 

कोरोना का साइड इफेक्ट: फरवरी में सुस्त पड़ीं विनिर्माण गतिविधियां 

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीDrigraj
Mon, 02 Mar 2020 11:58 AM
कोरोना का साइड इफेक्ट: फरवरी में सुस्त पड़ीं विनिर्माण गतिविधियां 

दुनिया के कई देशों में कोरोना वायरस फैलने का असर फरवरी माह के दौरान भारत में विनिर्माण गतिविधियों पर देखा गया। इस दौरान विनिर्माण क्षेत्र की गतिविधियों में कुछ नरमी देखी गई। सोमवार को जारी एक मासिक सर्वेक्षण में यह कहा गया है।  आईएचएस मार्किट इंडिया के विनिर्माण क्षेत्र के पर्चेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स (पीएमआई) फरवरी 2020 में 54.5 पर रहा। यह आंकड़ा जनवरी के 55.3 अंक के मुकाबले नीचे है। जनवरी में यह पिछले आठ साल में सबसे ऊंचा था। 

यह भी पढ़ें: फरवरी में भारत की बेरोजगारी दर पहुंची 7.78%, पिछले चार महीनों में सबसे ज्यादा

यह लगातार 31वां महीना है, जब भारत में विनिर्माण क्षेत्र का पीएमआई 50 अंक के स्तर से ऊपर बना हुआ है। पीएमआई की गणना 50 अंक से ऊपर रहना क्षेत्र में विस्तार को बताता है जबकि 50 से नीचे रहना गिरावट को दर्शाता है। फरवरी में यह आंकड़ा 54.5 अंक पर रहा जो कि क्षेत्र में विस्तार जारी रहना बताता है। हालांकि, यह विस्तार जनवरी के मुकाबले कुछ सुस्त रहा है। आईएचएस मार्किट की प्रधान अर्थशास्त्री पालियाना डि लीमा ने कहा, ''भारत में कारखानों में फरवरी के दौरान बेहतर आर्डर मिलने की वजह से गतिविधियां बेहतर रहीं। कारखानों में घरेलू और अंतरराष्ट्रीय दोनों बाजारों से आर्डर प्राप्त हुये। मांग में आ रहे इस सुधार से यह तात्पर्य लगाया जा सकता है कि कारखानों में उत्पादन बढ़ेगा और कच्चे माल की खरीदारी भी एतिहासिक रूप से काफी ऊंची दर से होगी।

यह भी पढ़ें: उड़ान के दौरान विमान में मिलेगी वाई-फाई की सुविधा, एयरलाइन कंपनियों को केंद्र सरकार ने दी इजाजत

लीमा ने कहा, ''कोविद- 19 के फैलने से भारतीय माल उत्पादकों के समक्ष बड़ी चुनौती भी खड़ी हो रही है। दुनिया के कई देशों में इस विषाणु के प्रभाव की वजह से निर्यात और आपूर्ति श्रृंखला प्रभावित हो रही है। यही वजह है कि कारोबारी आने वाले दिनों में उत्पादन बढ़ने को लेकर ज्यादा आश्वस्त नहीं है और यही वजह है कि वह नई भर्तियों में सतर्कता बरत रहे हैं। कोरोना वायरस के फैलने से दुनिया की दुसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के बड़े हिस्से को पूरी तरह से ठप कर दिया है और इसका असर तमाम उद्योगों पर देखा जा रहा है।

epaper

संबंधित खबरें