DA Image
4 जून, 2020|4:01|IST

अगली स्टोरी

काबू में कोरोना वायरस, अब कूपन बांट इकॉनमी में जान फूंकने की कोशिश में जुटा चीन

china makret

कोरोना वायरस संक्रमण को नियंत्रित करने के बाद चीन दोबारा इकॉनमी में जान फूंकने की कोशिश में जुट गया है। चीन ने कोविड-19 के चलते दो महीने के लॉकडाउन के बाद उत्पादन कार्यों को फिर तेजी से शुरू कर दिया है। इस बीच उपभोग को बढ़ावा देकर आर्थिक गतिविधियों को तेज करने के लिए वह जनता में कूपन बांट रहा है, जिसे लोग बाजारों में जाकर खर्च करेंगे और इससे डिमांड बढ़ेगी और उत्पादन में तेजी आएगी। चीन सरकार के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी है।  

अलग-अलग राशि के कूपन
चीन के कई अधिक प्रांतों में लोगों को 10 से 100 युआन (करीब 100 से 1000 रुपये) तक के डिजिटल कूपन बांटे जा रहे हैं। लोग इन्हें दुकानों, रेस्ट्रॉन्ट, डिपार्टमेंट स्टोर या टूरिजम सेक्टर में खर्च कर सकते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक केवल शेनदोंग प्रांत में 30 जून तक 30 लाख से अधिक कूपन बांटे जाएंगे। 

यह भी पढ़ें: चीन ने कोरोना से लड़ने को इटली से दान में मिला सामान उसी को बेचा

30 शहरों और प्रांतों में योजना
इसी तरह दक्षिण चीन के गुआंदोंग प्रांत के लुहू जिले में करीब 30 करोड़ रुपये के कूपन बांटे जाने की योजना है। यहां जनता के साथ ही स्कीम में भाग लेने वाले दुकानदारों के लिए भी कूपन की व्यवस्था की गई है। पूर्वी चीन के जंग्सी राज्य में करीब करीब 20 करोड़ रुपये के कूपन बांटे जा रहे हैं, जिसकी शुरुआत शनिवार को हुई। अब तक देश के 30 शहरों से यह योजना शुरू की जा चुकी है। इन कंज्यूमर कूपन के जरिए कहीं करोड़ों तो कहीं अरबों रुपये लोगों के बीच बांटे जाएंगे। यह राशि डिजिटल कूपन के जरिए लोगों को दिया जा रहा है, जिसके लिए अलीबाबा और टेनसेंट जैसी कंपनियों का सहारा लिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: चीन ने पाकिस्तान को दिया बड़ा धोखा, अंडरवियर से बने मास्क भेजे

प्रभावशाली तरीका बता रहे अर्थशास्त्री
चीन के एक बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री वांग जन ने ग्लोबल टाइम्स से कहा कि उपभोक्ताओं में कूपन बांटने का यह फैसला अच्छा है। स्थान और परिस्थिति के मुताबिक इसमें बदलाव किए गए हैं। यह लक्षित है और काफी प्रभावशाली भी है। इससे ऑफलाइन कारोबार को दोबारा शुरू करने में मदद मिल रही है। इससे लोग बाहर निकलकर खर्च करने को प्रोत्साहित होंगे, क्योंकि वाउचर्स की एक्सपायरी डेट भी है।

'रकम बढ़े, पूरे देश में हो लागू'
वांग ने दूसरे शहरों और प्रांतों से भी इस मुहिम में जुड़ने की अपील करते हुए कहा कि कूपन का बंटवारा सावधानीपूर्वक कम आमदनी वाले लोगों और जरूरतमंदों के बीच होना चाहिए। कूपन का बंटवारा ऑटो, एजुकेशन जैसे सेक्टर्स को ध्यान में रखकर किया जा सकता है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि वाउचर की राशि अभी पर्याप्त नहीं है और यह राष्ट्रीय की बजाय स्थानीय स्तर पर चल रहा है। देश और जीडीपी पर इसका असर देखना होगा। 

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस से दुनिया भर में हाहाकार, 70 हजार से ज्यादा मौतें

चीन में काबू में आ चुका है कोरोना
चीन में कोरोना वायरस के मामले अब काफी कम हो गए हैं। चीन में 24 घंटों में 39 नए मामले सामने आए हैं जिनमें से 38 मामले ऐसे हैं जहां लोग विदेशों से संक्रमित होकर आए हैं। रविवार को वायरस के केंद्र हुबेई प्रांत में संक्रमण के चलते एक व्यक्ति की मौत हुई, जिसके बाद देश में मृतकों का आंकड़ा 3,331 हो गया है। चीनी भूभाग पर रविवार तक कुल 81,708 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई जिनमें इलाज करा रहे 1,299 मरीज, स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से छुट्टी पाने वाले 77,078 मरीज और बीमारी के चलते मारे गए 3,331 लोग शामिल हैं। 
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:china distributing digital coupons to boost economic activity