DA Image
24 जनवरी, 2020|1:27|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकार की ओर से Income Tax में कटौती की उम्मीद कम

income tax department

आर्थिक नरमी और राजस्व प्राप्तियों के अनुमान से कम रहने के मद्देनजर सरकार की ओर से धनाढ्यों को व्यक्तिगत आयकर की दरों में राहत दिये जाने की संभावना फिलहाल नहीं दिखाई देती है। सूत्रों ने यह बात कही है।

हाल के दिनों में यह सुझाव जोर पकड़ रहा है कि अर्थव्यवस्था में मांग को बढ़ावा देने के लिए व्यक्तिगत आयकर दरों में कटौती की जानी चाहिए। सरकार ने मांग और निवेश बढ़ाने के लिए इससे पहले कंपनियों के लिये कारपोरेट कर में 10 प्रतिशत की बड़ी कटौती की है। उसके बाद से व्यक्तिगत आयकर में राहत की मांग तेज हो गई है।

सूत्रों का कहना है कि आर्थिक सुस्ती, कर प्राप्ति कम होने और गैर-कर प्राप्ति भी अनुमान से कम रहने जैसे कई कारण है जिनकी वजह से आयकर की दरों में कटौती करना काफी मुश्किल काम होगा। प्रत्यक्ष कर संहिता पर गठित समिति ने भी अपनी रिपोर्ट में व्यक्तिगत आयकर में नरमी लानेे की बात की है।
बुनियादी उद्योग का पहिया थमा, कम हुआ प्रोडक्शन ग्रोथ रेट

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Chances of reducing tax burden of taxpayers is less