DA Image
23 फरवरी, 2020|1:12|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अटकी हाउसिंग प्रोजेक्ट में 540 करोड़ रुपए के निवेश की मंजूरी

सरकार ने अटकी पड़ी कुछ रिहायशी संपत्तियों में 540 करोड़ रुपए से अधिक निवेश को मंजूरी दी है। सरकार ने शुक्रवार (14 फरवरी) को बताया कि यह निवेश मंजूरी फंसी हुई परियोजनाओं को पटरी पर लाने के लिये गठित 25,000 करोड़ रुपए के कोष में से दी गई है। इसके अलावा 14 परियोजनाओं के लिये जांच-पड़ताल को लेकर शुरुआती मंजूरी दी गई है। इसके लिए 2,500 करोड़ रुपए के कोष की जरूरत होगी। इसके साथ अन्य परियोजनाओं पर भी गंभीरता से विचार जारी है।

पिछले साल नवंबर में केंद्र सरकार ने 1,500 अटकी आवासीय परियोजनाओं को पूरा करने में मदद के लिए 25,000 करोड़ रुपए के कोष के गठन को मंजूरी दी है। इसमें वे परियोजनाएं भी शामिल हैं जिन्हें गैर-निष्पादित परिसंपत्ति (एनपीए) घोषित किया जा चुका है या फिर ऋण शोधन कार्रवाई के लिए स्वीकार किया गया है।

वित्त मंत्रालय ने ट्विटर पर लिखा अटकी परियोजनाओं को मंजूरी दी गई, जिसमें 540 करोड़ रुपए से अधिक निवेश की प्रतिबद्धता जताई गई है। निवेश राशि का वितरण शुरू हो गया है। इससे 1,800 मकान खरीदारों को राहत मिलेगी और 3,000 करोड़ रुपए की अटकी निवेश पूंजी का उपयोग हो पाएगा।

इसके अलावा 14 परियोजनाओं के लिए जांच-पड़ताल को लेकर शुरुआती मंजूरी दी गई है। इसके लिए 2,500 करोड़ रुपए के कोष की जरूरत होगी। इससे 10,000 मकान खरीदारों को राहत मिलेगी। इन परियोजनाओं में 12,500 करोड़ रुपए की पूंजी फंसी है। मंत्रालय के अनुसार 40 अन्य परियोजनाओं पर विचार किया जा रहा है, लेकिन इनके नाम नहीं बताए गए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Centre clears Rs 540 crore investments in stuck housing projects