DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिजनेस  ›  इस तरह के ट्रांजैक्शन में कैश पेमेंट लेने से बचना चाहिए, जानें क्या कहते हैं नियम 

बिजनेसइस तरह के ट्रांजैक्शन में कैश पेमेंट लेने से बचना चाहिए, जानें क्या कहते हैं नियम 

लाइव मिंट,नई दिल्लीPublished By: Tarun Singh
Sat, 15 May 2021 12:19 PM
इस तरह के ट्रांजैक्शन में कैश पेमेंट लेने से बचना चाहिए, जानें क्या कहते हैं नियम 

कोरोना महामारी को देखते हुए आयकर विभाग ने नकद भुगतान में ढील दी है। सरकार के नोटिफिकेशन के अनुसार कोरोना मरीज, उनके परिवार के सदस्यों का और दोस्तों के इलाज के लिए अब 2 लाख से ऊपर का नकद भुगतान किया जा सकेगा। सरकार ने यह छूट 1 अप्रैल से 30 मई तक के दौरान दी है। अस्पताल प्रशासन को पैसे का भुगतान करने वाले का विवरण और पैन डिटेल रखना होगा। साथ ही कैश पेमेंट करने वाले व्यक्ति को मरीज के साथ अपने सम्बन्ध को भी अस्पताल प्रशासन को बताना होगा। 

यह छूट सिर्फ हाॅस्पिटल के भुगतान के लिए ही है। अगर आप कोई सोना खरीद रहे हैं तो 2 लाख से अधिक का कैश पेमेंट मान्य नहीं होगा। साथ ही कोई भी व्यक्ति अपने किसी नजदीकी रिश्तेदार से भी 2 लाख से अधिक का कैश पेमेंट नहीं ले सकते हैं। 

कोरोना संकट के बीच कहां करें निवेश, बता रहें है एक्सपर्ट

लोन और प्राॅपर्टी पर लिमिट 

अगर आप किसी दोस्त से लोन ले रहे हैं तो आप 20 हजार से ज्यादा का कैश पेमेंट नहीं ले सकते हैं। साथ ही जब पैसे को लौटाएंगे तब भी यह लिमिट 20 हजार से अधिक नहीं हो सकती। प्राॅपर्टी की खरीदारी में भी आप 20 हजार से अधिक का कैश पेमेंट नहीं कर सकते हैं। एडवांस के वक्त भी यह नियम लागू रहता है। 

टैक्स छूट 

क्या बात टैक्स लाभ लेते वक्त हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि इलाज के लिए किए गए कैश पेमेंट की छूट इनकम टैक्स नियम 80डी के तहत नहीं मिलती है। कैश पेमेंट में आमतौर पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट नगद प्राप्तकर्ता पर जुर्माना लगाता है। 

संबंधित खबरें