DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

BoB बेचेगा 9,060 करोड़ का एनपीए, सेंट्रल बैंक की 5000 करोड़ जुटाने की योजना

दिवाला शोधन अदालत में समाधान प्रक्रिया में लगातार होती देरी को देखते हुए सरकारी क्षेत्र के बैंक ऑफ बड़ौदा ने 9,060 करोड़ रुपये के वसूली में फंसे कर्जों (एनपीए) को बेचने की तैयारी की है। इनमें भूषण पावर एंड स्टील और आलोक इंडस्ट्रीज का ऋण खाता भी शामिल है। बैंक ने वेबसाइट पर इसकी सूचना दी है।

भूषण पावर एंड स्टील के ऊपर 2,099 करोड़ रुपये और आलोक इंडस्ट्रीज के ऊपर 903 करोड़ रुपये बकाया है। ये दोनों कंपनियां रिजर्व बैंक द्वारा जारी 12 सबसे बड़े ऋण खातों की सूची में शामिल हैं। बैंक ऑफ बड़ौदा ने दिसंबर 2018 में भी भूषण पावर एंड स्टील को बेचने की तैयारी की थी, लेकिन तब कोई खरीदार नहीं मिल सका था।

इन दो कंपनियों के अलावा बैंक 6,057 करोड़ रुपये के 65 अन्य मध्यम एवं छोटे ऋण खातों को भी बिक्री के लिये रखा है। इनमें लैंको विदर्भ थर्मल पावर (बकाया 628 करोड़ रुपये), जिंदल इंडिया थर्मल पावर (417 करोड़ रुपये), आईएमएसटी (373 करोड़ रुपये), एनरक एल्यूमिनीयम (306 करोड़ रुपये), जीवीके पावर गोविंदवाल साहिब (266 करोड़ रुपये), ईसीआई इंजीनियरिंग कंस्ट्रक्शन कंपनी (207 करोड़ रुपये), लैंको सोलर (160 करोड़ रुपये), वीजा स्टील (150 करोड़ रुपये) और आधुनिक पावर एंड नेचुरल रिसॉर्सेज (58 करोड़ रुपये) शामिल है।

सेंट्रल बैंक की 5000 करोड़ जुटाने की योजना
सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया चालू वित्त वर्ष में राइट इश्यू और अनुवर्ती सार्वजनिक निर्गम (एफपीओ) समेत विभिन्न माध्यमों से पांच हजार करोड़ रुपये तक की पूंजी जुटाने की योजना बना रहा है। बैंक की यह योजना मार्च 2020 तक बासेल-तीन मानकों को पूरा करने के लिए है।

बैंक ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट 2018-19 में कहा कि वह सार्वजनिक पेशकश, राइट इश्यू या पात्र संस्थागत नियोजन के जरिए पूंजी जुटाएगा। इसके लिए 28 जून को होने वाली वार्षिक आम बैठक में शेयरधारकों की मंजूरी ली जाएगी। बैंक ने कहा कि इस पूंजी का इस्तेमाल आम कारोबारी जरूरतों को पूरा करने के लिए किया जाएगा। उसने कहा कि बासेल-तीन मानक को पूरा करने के लिए उसे यह पूंजी जुटाने की जरूरत पड़ रही है।

गैर-निष्पादित परिसंपत्ति (एनपीए) के बारे में बैंक ने कहा कि एनपीए प्रबंधन उन क्षेत्रों में से एक है जिनके ऊपर ध्यान दिया जाने वाला है। उसने कहा कि वह नकदी वसूली तथा सहमति से समाधान आदि के जरिये एनपीए में कमी लाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:BoB Sale NPA Worth is 9060 Crore Central Bank of India plans to raise Rs 5000 cr