DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जालान समिति RBI की बफर पूंजी पर जून तक दे सकती है रपट

RBI

आरबीआई की बफर पूंजी के समूचित आकार के निर्धारण को लेकर गठित केंद्रीय बैंक के पूर्व गवर्नर बिमल जालान के नेतृत्व वाली एक उच्चस्तरीय समिति जून तक अपनी रपट प्रस्तुत कर सकती है। भारतीय रिजर्व बैंक के आर्थिक पूंजी ढांचे की समीक्षा के लिए 26 दिसंबर, 2018 को जालान के नेतृत्व में छह सदस्यीय समिति का गठन किया गया था।

जालान ने बुधवार को एक बैठक के दौरान कहा, ''रपट को अब तक अंतिम रूप नहीं दिया जा सका है। अभी और बैठकें होनी हैं। (आर्थिक पूंजी ढांचा) समिति के मई-जून तक अपनी रपट को अंतिम रूप देने की संभावना है।'' उन्होंने कहा कि समिति के कार्यकाल को बढ़ा दिया गया है। समिति को आठ जनवरी को हुई पहली बैठक के बाद रपट प्रस्तुत करने के लिए तीन महीने का समय दिया गया था।

जालान की अगुवाई वाली समिति में आरबीआई के पूर्व उपाध्यक्ष राकेश मोहन, वित्त सचिव सुभाष चंद्र गर्ग, आरबीआई के डिप्टी गवर्नर एनएस विश्वनाथन और आरबीआई के केंद्रीय बोर्ड के दो सदस्य भरत दोषी एवं सुधीर मांकड़ शामिल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bimal Jalan panel on RBI capital size to submit report by June