DA Image
24 अक्तूबर, 2020|9:46|IST

अगली स्टोरी

सब्जियों के थोक और फुटकर भाव में जानें कितना बड़ा है अंतर

potato and tomato prices may increase problems for nda in bihar assembly elections

गली-मोहल्लों में कई जगह आलू-प्याज जहां 50 रुपये किलो बिक रहे हैं, वहीं टमाटर 80 से 100 रुपये किलो। तुरा में तो टमाटर 120 रुपये तक पहुंच गया है। हरी सब्जियों की फुटकर कीमतें थोक की तुलना में लगभग दोगुनी हैं। वहीं उपभोक्ता मंत्रालय की वेबसाइट पर मंगलवार को जारी थोक और खुदरा कीमतों की बत करें तो थोक मंडी में आलू का  भाव 2000 से 5000 रुपये प्रति क्विंटल के बीच है। यानी 20 से 50 रुपये किलो, जबकि किस्म के हिसाब से फुटकर में इसका भाव 25 से 60 रुपये किलो है। अगर प्याज की बात करें तो यह भी थोक मंडी में 1300 से 5000 रुपये क्विंटल है, जबकि फुटकर में यह 18 से 60 रुपये किलो बिक रहा है। वहीं टमाटर थोक में जहां 15 से 82 रुपये किलो बिक रहा है तो फुटकर में इसका रेट 20 से 120 रुपये तक किलो है।

यह भी पढ़ें: टमाटर 100 के पार, आलू ने लगाई हॉफ सेंचुरी, प्याज कर रहा 60 पर बैटिंग

प्रमुख शहरों में आलू,प्याज औट टमाटर की थोक व खुदरा भाव

केंद्र आलू प्याज टमाटर
 

थोक मूल्य रु/किलो

फुटकर मूल्य रु/किलो थोक मूल्य रु/किलो फुटकर मूल्य रु/किलो थोक मूल्य रु/किलो

फुटकर मूल्य रु/किलो

तुरा 29 50 22 40 70 120
इम्फाल 40 50 40 50 80 100
ईटानगर 48 50 45 50 70 80
लखनऊ. 26.75 35 27 36 39 70
गुवाहाटी 31 35 32 38 60 70
पटना 30 36 29 35 58 63
दिल्ली 26.5 37 23 43 33.5 62
गुड़गांव 20 25 12 20 50 60
गोरखपुर 32 40 30 38 35 60
देहरादून 28 36 29 30 40 60
रांची 29 37 40 50 40 60
अहमदाबाद 34 38 32 38 52 58
मुंबई 26 42 23 49 27.5 56
इंदौर 21 27 15 20 42 55
रायपुर 30 35 30 35 45 50
जयपुर 28 35 25 35 40 50
चंडीगढ़ 22 30 20 30 30 40
अधिकतम मूल्य 50 60 50 60 82 120
न्यूनतम मूल्य 20 25 13 18 15 20
मॉडल मूल्य 28 40 40 40 40 50

स्रोत:- राज्य नागरिक आपूर्ति विभाग
नोट:- विभिन्न केन्द्रों पर किसी वस्तु की कीमतों में अंतर आंशिक रूप से उसकी किस्म में अंतर होने के कारण है।

यह भी पढ़ें: वैभव लक्ष्‍मी योजना: सभी महिलाओं मिल रहा 4 लाख तक का लोन, जानें सच

10 दिन बाद कम होने लगेंगे हरी सब्जियों के दाम

हरी सब्जियों और टमाटर के दामों में आने वाले 10 दिनों में गिरावट शुरू हो जाएगी। आजादपुर मंडी समिति के अध्यक्ष आदिल अहमद खान के मुताबिक बारिश की वजह से हरी सब्जियों के दामों पर असर पड़ा है। अब बरसात का च्रक बीतने के साथ ही नई फसल तैयार हो गई है। इसकी पहली आवक 10 दिनों में मंउी में आनी शुरू हो जाएगी। टमाटर की भी नई आवक इन 10 दिनों में आने की उम्मीद है। इस वजह से हरी सब्जियों व टमाटर के दामों में 10 दिनों के बाद गिरावट दर्ज की जा सकती है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:big difference between wholesale and retail prices of vegetables potato onion tomato