ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News BusinessBig contribution of Adani Group shares in the stock market rise investors gain rs 1 lakh 90000 crore

शेयर बाजार की उड़ान में अडानी ग्रुप के शेयरों का बड़ा योगदान, निवेशकों को ₹1.9 लाख करोड़ का फायदा

Adani Group Stocks: जनवरी में हिंडनबर्ग रिपोर्ट के बाद से इस उछाल ने 10 शेयरों के नुकसान को कम कर दिया। बाजार के निवेशकों ने ₹2.9 लाख करोड़ की बढ़ोतरी हुई, जिसमें अडानी के निवेशक का ₹1.9 लाख करोड़ था

शेयर बाजार की उड़ान में अडानी ग्रुप के शेयरों का बड़ा योगदान, निवेशकों को ₹1.9 लाख करोड़ का फायदा
Drigraj Madheshiaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 06 Dec 2023 08:55 AM
ऐप पर पढ़ें

अडानी ग्रुप मंगलवार को शेयर बाजारों का टॉप परफार्मर रहा। इसकी 10 लिस्टेड कंपनियों ने मंगलवार को शेयर बाजार के उछले मार्केट कैप में 65% से अधिक का योगदान दिया। अडानी ग्रुप के शेयरों में उछाल की वजह से उनकी मार्केट वैल्यू में 23 अरब डॉलर की उछाल दर्ज की। अडानी ग्रीन एनर्जी ने अपने रिन्यूएबल प्रोजेक्ट के लिए मंगलवार को 1.4 अरब डॉलर का लोन सिक्योर किया। इससे उसके शेयर 20 फीसद की अपर सर्किट पर बंद हुए। इसके साथ ही अडानी एंटरप्राइजेज, अडानी टोटल गैस और अडानी एनर्जी सॉल्यूशन जनवरी 2023 के बाद हाइएस्ट लेवल पर बंद हुए। मंगलवार अडानी ग्रुप के शेयरों के लिए ब्लॉक बस्टर साबित हुआ।

जनवरी में हिंडनबर्ग रिपोर्ट के बाद से इस उछाल ने 10 कंपनियों के शेयरों के नुकसान को भी कम कर दिया। मंगलवार को शेयर बाजार के निवेशकों की पूंजी में जहां, ₹2.9 लाख करोड़ की बढ़ोतरी हुई, वहीं अडानी ग्रुप की कंपनियों के निवेशक ₹1.9 लाख करोड़ से अधिक कमाए। अडानी ग्रुप के मार्केट कैप में यहसबसे बड़ी एकदिवसीय छलांग है।

इन स्टॉक्स में अपर सर्किट: अडानी की तीन कंपनियों ने अपनी अपर सर्किट तक पहुंचने के लिए 20% की बढ़ोतरी की, जबकि समूह का मार्केट कैप ₹14 लाख करोड़ के करीब पहुंच गया। अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड, अडानी एनर्जी सॉल्यूशंस लिमिटेड और अडानी टोटल गैस लिमिटेड क्रमशः ₹1,348.50, ₹1,084.40, और ₹878.70 की अपर सर्किट पर बंद हुए।

भारतीय जनता पार्टी द्वारा तीन राज्यों के चुनावों में प्रचंड जीत हासिल करने के बाद से दो कारोबारी सत्रों में, अडानी शेयरों ने अब निवेशकों की संपत्ति में ₹8.79 ट्रिलियन (₹8.79 लाख करोड़) की वृद्धि में 30% का योगदान दिया है। एक्सिस सिक्योरिटीज के एसवीपी (अनुसंधान) राजेश पालवीय ने कहा, "विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद पहले से ही बड़े पैमाने पर शॉर्ट-कवरिंग हुई थी और जो लोग खरीदारी के अवसर की तलाश में थे, उन्हें समूह में निवेश करना उचित लगा।"

अमेरिकी संस्था की क्लीन चिट से अडानी समूह में जोरदार उछाल

अमेरिकी संस्था यूएस इंटरनेशनल डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्प (डीएफसी) की एक रिपोर्ट से अडानी समूह को बड़ी राहत मिली है। संस्था का कहना है कि हिंडनबर्ग रिसर्च द्वारा समूह पर लगाए गए शेयरों की कीमतों में गड़बड़ी और धोखाधड़ी के आरोप तर्कसंगत और प्रासंगिक नहीं थे।

निवेशकों के अच्छे दिन, 17.75 लाख करोड़ रुपये कमाए, बाजार में छाई रौनक

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अुसार, हाल में ही अडानी समूह ने श्रीलंका में बंदरगाह बनाने के लिए डीएफसी से 55.3 करोड़ डॉलर का कर्ज मांगा था। ऋण देने से पहले संस्था ने अपनी स्तर पर अडानी समूह पर लगे आरोपों की गहन जांच की थी। डीएफसी अमेरिकी सरकार की वित्त संस्था है, जो विकासशील देशों के उभरते बाजार और निजी क्षेत्रों को कर्ज प्रदान करती है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें