ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसनए साल में रामदेव और अडानी की कंपनी के IPO की लॉन्चिंग, मिलेगा कमाई का मौका?

नए साल में रामदेव और अडानी की कंपनी के IPO की लॉन्चिंग, मिलेगा कमाई का मौका?

साल 2021 इनीशियल पब्लिक ऑफरिंग यानी आईपीओ के लिए बेहद खास रहा। इस साल कई बड़ी कंपनियों के आईपीओ लॉन्च हुए और कुछ ने तो जबरदस्त रिटर्न भी दिया। इसी तरह, नए साल यानी 2022 में भी कई कंपनियों के आईपीओ...

नए साल में रामदेव और अडानी की कंपनी के IPO की लॉन्चिंग, मिलेगा कमाई का मौका?
Deepak Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 24 Dec 2021 03:30 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

साल 2021 इनीशियल पब्लिक ऑफरिंग यानी आईपीओ के लिए बेहद खास रहा। इस साल कई बड़ी कंपनियों के आईपीओ लॉन्च हुए और कुछ ने तो जबरदस्त रिटर्न भी दिया। इसी तरह, नए साल यानी 2022 में भी कई कंपनियों के आईपीओ लॉन्च होने वाले हैं। इनमें कई कंपनियों के आईपीओ हैं जिनका निवेशक इंतजार कर रहे हैं। ऐसे ही दो आईपीओ योग गुरु रामदेव की पतंजिल और गौतम अडानी की अडानी विल्मर के हैं। 

अडानी विल्मर का आईपीओ: गौतम अडानी की एक और कंपनी अडानी विल्मर लिमिटेड शेयर बाजार में लिस्टेड होने के लिए तैयार है। इस आईपीओ की लॉन्चिंग के बाद कंपनी शेयर बाजार में लिस्ट होगी। इसी के साथ अडानी ग्रुप की कुल 7 कंपनियां शेयर बाजार में लिस्टेड हो जाएंगी। सेबी की ओर से इस आईपीओ को मंजूरी भी मिल चुकी है।

पतंजलि का आईपीओ:  योग गुरु रामदेव की पतंजलि का आईपीओ भी आने वाला है। योगगुरु रामदेव ने ये संकेत दिए थे कि पतंजलि का आईपीओ चालू वित्त वर्ष में आ सकता है। आपको बता दें कि दंत मंजन से लेकर आटा जैसे उत्पाद बेचने वाली पतंजलि का वित्त वर्ष 2020-21 में कारोबार करीब 30,000 करोड़ रुपये रहा। इसमें रुचि सोया से होने वाला 16,318 करोड़ रुपये का कारोबार शामिल है। साल 2019 में कर्ज में डूबे रुचि सोया का पतंजलि समूह ने अधिग्रहण किया था।

रुचि सोया के लिए हुई थी भिड़ंत: आपको बता दें कि रुचि सोया के अधिग्रहण के लिए योगगुरु रामदेव और गौतम अडानी के बीच भिड़ंत हुई थी। हालांकि, बाद में गौतम अडानी ने अधिग्रहण की रेस से खुद को बाहर कर लिया। ऐसे में ये कंपनी योगगुरु रामदेव के हाथों में चली गई। 

epaper