Sunday, January 23, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसकोरोना से कराह रहा ऑटो सेक्टर, टीवीएस मोटर की बिक्री फरवरी में 15 प्रतिशत घटी, मारुति, एमजी पर भी असर

कोरोना से कराह रहा ऑटो सेक्टर, टीवीएस मोटर की बिक्री फरवरी में 15 प्रतिशत घटी, मारुति, एमजी पर भी असर

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीDrigraj
Mon, 02 Mar 2020 02:03 PM
कोरोना से कराह रहा ऑटो सेक्टर, टीवीएस मोटर की बिक्री फरवरी में 15 प्रतिशत घटी, मारुति, एमजी पर भी असर

टीवीएस मोटर कंपनी ने सोमवार को बताया कि फरवरी 2020 में उसकी दुपहिया वाहन बिक्री एक साल पहले इसी माह के मुकाबले 15.39 प्रतिशत घटकर 2,53,261 वाहन रह गई।   कंपनी के मुताबिक बीएस- चार वाहनों की बिक्री में कमी आने और कोरोना वायरस फैलने की वजह से कलपुर्जों की आपूर्ति प्रभावित होने से उसकी बिक्री कम हुई है। 

कंपनी ने कहा, ''कंपनी तय योजना के अनुरूप डीलर के स्तर पर बीएस- चार वाहनों के स्टॉक को कम करने की राह पर आगे बढ़ रही है। उसे पूरा विश्वास है कि इस महीने इस स्टॉक को बेच दिया जाएगा।   कंपनी ने कहा है कि इसके साथ ही कोरोना वायरस के प्रभाव के चलते बीएस- छह वाहनों के कुछ कलपुर्जों की आपूर्ति भी प्रभावित हुई है। इस स्थिति को जल्द से जल्द सामान्य बनाने के प्रयास जारी हैं।

कंपनी फरवरी में बिक्री
हुंदई 10 प्रतिशत गिरी

मारुति सुजुकी

1.1 प्रतिशत गिरी

टीवीएस मोटर 

15 प्रतिशत गिरी

एमजी मोटर

1,376 इकाई
बजाज ऑटो 10 प्रतिशत घटी
टोयटा  9 प्रतिशत गिरावट
अशोक लेलैंड 37% गिरी बिक्री

कंपनी के मुताबिक फरवरी में उसके दुपहिया वाहनों की कुल बिक्री 2,35,891 इकाई रही जो कि एक साल पहले इसी माह में 2,85,611 इकाई थी। इस प्रकार इस साल बिक्री 17.4 प्रतिशत कम हुई है।  इस दौरान घरेलू बाजार में दुपहिया वाहनों की बिक्री 26.72 प्रतिशत घटकर 1,69,684 वाहन रह गई जबकि फरवरी 2019 में 2,31,582 दुपहिया की बिक्री हुई थी। इस दौरान मोटरसाइकिल की बिक्री 3.29 प्रतिशत घटकर 1,18,514 इकाई रही जबकि पिछले साल कंपनी ने 1,22,551 मोटर साइकिल की बिक्री की थी। कंपनी की स्कूटर बिक्री भी 30.25 प्रतिशत घटकर 60,633 इकाई रह गई। 

बजाज ऑटो की बिक्री 10 प्रतिशत घटी

प्रमुख दुपहिया वाहन कंपनी बजाज ऑटो ने सोमवार को कहा कि फरवरी 2020 में उसकी कुल वाहन बिक्री 10 प्रतिशत घटकर 3,54,913 इकाई रही है। हालांकि, एक साल पहले इसी माह में कंपनी ने 3,93,089 दुपहिया वाहनों की बिक्री की थी। बजाज ऑटो की यहां जारी विज्ञप्ति के अनुसार फरवरी में उसकी कुल घरेलू बिक्री 24 प्रतिशत घटकर 1,68,747 वाहनों की रही जबकि एक साल पहले फरवरी में उसने 2,21,706 वाहनों की बिक्री की थी। 

यह भी पढ़ें: शेयर बाजार में बंपर उछाल, हरे निशान पर खुले सेंसेक्स और निफ्टी

कंपनी ने कहा है कि आलोच्य अवधि के दौरान उसकी कुल दुपहिया वाहन बिक्री पांच प्रतिशत घटकर 3,10,222 इकाई रही। एक साल पहले यह बिक्री 3,27,985 इकाई रही थी।  इस दौरान कंपनी की वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री 31 प्रतिशत घटकर 44,691 इकाई रही जबकि एक साल पहले फरवरी माह में उसने 65,104 वाहन बेचे थे। इसमें घरेलू बाजार में उसने 21,871 वाहन बेचे। पिछले साल के मुकाबले यह आंकड़ा 38 प्रतिशत नीचे रहा। बजाज ऑटो ने कहा कि फरवरी में उसके दुपहिया, तिपहिया वाहनों का कुल निर्यात 9 प्रतिशत बढ़कर 1,86,166 इकाई रहा। 

मारुति की बिक्री फरवरी में गिरी

देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) की फरवरी में बिक्री 1.1 प्रतिशत घटकर 1,47,110 इकाई रह गई। एक साल पहले समान महीने में कंपनी ने 1,48,682 वाहन बेचे थे। मारुति ने रविवार को जारी बयान में कहा कि फरवरी, 2020 में उसकी घरेलू बिक्री 1.6 प्रतिशत घटकर 1,36,849 इकाई रह गई, जो एक साल पहले समान महीने में 1,39,100 इकाई रही थी। समीक्षाधीन महीने में कंपनी की छोटी कारों आल्टो और वैगन आर की बिक्री 11.1 प्रतिशत बढ़कर  27,499 इकाई पर पहुंच गई, जो एक साल पहले समान महीने में 24,751 इकाई थी। वहीं कॉम्पैक्ट खंड में स्विफ्ट,सेलेरियो, इग्निस, बलेनो और डिजायर की बिक्री 3.9 प्रतिशत घटकर 69,828 इकाई रह गई, जो एक साल पहले समान  महीने में 72,678 इकाई रही थी। 

एमजी मोटर की बिक्री प्रभावित

एमजी मोटर इंडिया की बिक्री में फरवरी में भारी गिरावट आई है। चीन और अन्य देशों में कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने से कंपनी की कल-पुर्जों की आपूर्ति प्रभावित हुई है, जिससे उसकी बिक्री में गिरावट आई है।  फरवरी में कंपनी की खुदरा बिक्री 1,376 इकाई रही है, जबकि जनवरी में यह 3,130 इकाई रही थी। एमजी मोटर इंडिया के  पोर्टफोलियो में दो मॉडल एसयूवी हेक्टर और जेएस ईवी हैं। 

मारुति सुजुकी, हुंदै, टोयोटा के उत्पादन पर असर नहीं

प्रमुख वाहन विनिर्माता कंपनी मारुति सुजुकी, हुंदै और टोयोटा किर्लोस्कर मोटर का कहना है कि चीन में कोरोनो वायरस के प्रकोप के चलते कलपुर्जों की आपूर्ति में व्यवधान से उनके उत्पादन कार्यक्रम पर तत्काल कोई असर नहीं पड़ा है। हालांकि, कंपनियां भविष्य में किसी भी विपरीत परिस्थिति से निपटने के लिए हालात पर नजर बनाए हुए हैं। मारुति सुजुकी इंडिया के प्रवक्ता ने कहा, फिलहाल अभी हमें किसी भी समस्या का अंदेशा नहीं है। हम अपने आपूर्तिकर्ताओं के संपर्क में रहेंगे और कोई समस्या होने पर सूचित करेंगे। हुंदै मोटर इंडिया के प्रवक्ता ने कहा, हम हालात पर नजर बनाए हुए हैं। हालांकि, फिलहाल कंपनी के कामकाज पर कोई असर नहीं है। 

यह भी पढ़ें: कोरोना का साइड इफेक्ट: फरवरी में सुस्त पड़ीं विनिर्माण गतिविधियां 

टोयटा किर्लोस्कर मोटर ने भी ऐसी ही बात कही है। कंपनी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष (बिक्री एवं विपणन) नवीन सोनी ने कहा, हमारे पहले और दूसरे श्रेणी के आपूर्तिकर्ता अभी तक कोरोना वायरस से प्रभावित नहीं हुए है। हालांकि हम तीसरे और चौथे श्रेणी के आपूर्तिकताओं के परिचालन पर करीब से नजर रखे हुए हैं। कंपनी अपने कलपुर्जों की स्थानीय आपूर्ति बढ़ाने पर ध्यान दे रही है। इसलिए वह इनका स्थानीयकरण कर रही है। इससे घरेलू आपूर्तिकर्ताओं के सामने एक अच्छा अवसर है।

यह भी पढ़ें: मारुति की सबसे ज्यादा बिकने वाली ऑल्टो के-10 अप्रैल 2020 के बाद नहीं मिलेगी 

दक्षिण कोरिया की किआ मोटर्स के भारतीय परिचालन पर अभी तक कोरोना वायरस का असर नहीं पड़ा है। हालांकि एमजी मोटर इंडिया की आपूर्ति में बाधा पैदा हुई है। इससे कंपनी का फरवरी का उत्पाद और बिक्री प्रदर्शन प्रभावित हुआ है। एमजी मोटर इंडिया के बिक्री निदेशक राकेश सिधाना ने कहा, कोरोना वायरस के प्रसार ने हमारे यूरोपीय और चीनी आपूर्तिकर्ताओं को बुरी तरह प्रभावित किया है। इसने हमारे फरवरी के उत्पादन और बिक्री पर असर डाला है। इसके मार्च में भी बने रहने की संभावना है। दोपहिया वाहन कंपनी हीरो मोटोकॉर्प और टीवीएस मोटर कंपनी ने कहा थ कि चीन में फैले कोरोना वायरस की वजह से फरवरी में उनका उत्पादन करीब 10 प्रतिशत तक कम हो सकता है।

epaper

संबंधित खबरें