Asia Pacific Merger acquisition activity in first half of 2019 slows down to lowest level since 2013 - एशिया प्रशांत में अधिग्रहण सौदे 2013 के बाद सबसे निचले स्तर पर, ट्रेड वॉर बनी वजह DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एशिया प्रशांत में अधिग्रहण सौदे 2013 के बाद सबसे निचले स्तर पर, ट्रेड वॉर बनी वजह

us president donald trump and his chinese counterpart xi jinping  file pic

जापान को छोड़कर शेष एशिया प्रशांत क्षेत्र में विलय एवं अधिग्रहण गतिविधियों में 2019 की पहली छमाही में सुस्ती रही। अमेरिका - चीन में व्यापार और प्रौद्योगिकी के मोर्चे पर टकराव इसकी वजह रही। वित्तीय बाजार से जुड़ी मर्जरमार्केट ने रिपोर्ट में यह बात कही।  एशिया प्रशांत क्षेत्र में इस साल पहली छमाही में कुल 241 अरब डॉलर के 1,525 सौदे हुए हैं। मूल्य के आधार पर यह साल 2013 के बाद पहली छमाही का अब तक का सबसे निचला स्तर है।

इसके अलावा , एशिया प्रशांत क्षेत्र की वैश्विक बाजार हिस्सेदारी भी गिरकर 13.4 प्रतिशत रह गयी। 2018 की पहली छमाही में यह आंकड़ा 18.6 प्रतिशत पर था। मूल्य के लिहाज से चीन के अधिग्रहण एवं विलय सौदों में इस साल पहली छमाही में पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 44.7 प्रतिशत की गिरावट आई है।

अमेरिकी टैरिफ के असर को कम करने के लिए अपनी अर्थव्यवस्था में पैसा झोंक रहा चीन: ट्रंप

रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन के बाद भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा विलय और अधिग्रहण बाजार है। भारतीय बाजार का प्रदर्शन भी निराशाजनक रहा और यहां सालाना आधार पर 52.8 प्रतिशत की गिरावट रही। हालांकि , भारत , अमेरिका - चीन के बीच व्यापार युद्ध से सीधे नहीं जुड़ा है। साल 2019 की पहली छमाही में वैश्विक स्तर पर 1,800 अरब डॉलर के कुल 8,201 लेनदेन हुए। यह पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 11 प्रतिशत कम है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Asia Pacific Merger acquisition activity in first half of 2019 slows down to lowest level since 2013