Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़As Byju CEO Raveendran faces ouster edutech firm gets 2500 crore rupees push check details - Business News India

फंड का इंतजाम, नाराज निवेशकों के लिए काम, संकट के बीच BYJU'S ने बनाया प्लान

संकट में घिरे एडुटेक ब्रांड बायजू की पैरेंट कंपनी-थिंक एंड लर्न को एक बड़ी राहत मिली है। कंपनी को राइट्स इश्यू के जरिए निवेशकों से 30 करोड़ डॉलर की प्रतिबद्धता मिली है।

Varsha Pathak लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीMon, 19 Feb 2024 05:49 PM
हमें फॉलो करें

संकट में घिरे एडुटेक ब्रांड बायजू की पैरेंट कंपनी-थिंक एंड लर्न को एक बड़ी राहत मिली है। कंपनी को राइट्स इश्यू के जरिए निवेशकों से 30 करोड़ डॉलर की प्रतिबद्धता मिली है। न्यूज एजेंसी पीटीआई के एक सूत्र ने बताया, '' अभी तक बायजू को राइट्स इश्यू से करीब 30 करोड़ डॉलर की कुल प्रतिबद्धता प्राप्त हुई है। कुछ निवेशकों ने राइट्स इश्यू का आकार बढ़ाने का भी सुझाव दिया है, लेकिन कंपनी के लिए प्राथमिकता मौजूदा इश्यू को सफलतापूर्वक बंद करना है।''  एक सूत्र ने कहा कि राइट्स इश्यू में भागीदारी के लिए नाराज निवेशकों से भी बातचीत चल रही है। कंपनी को उम्मीद है कि वे भी निवेश करेंगे, जो अभी नाराज चल रहे हैं।

बता दें कि थिंक एंड लर्न ने 22-25 करोड़ अमेरिकी डॉलर उद्यम मूल्यांकन पर 20 करोड़ अमेरिकी डॉलर जुटाने के लिए जनवरी में राइट्स इश्यू जारी किया था। यह फरवरी अंत में बंद होगा।

क्या है राइट्स इश्यू
राइट्स इश्यू का मतलब ये होता है कि कंपनी अपने ही शेयरधारकों को अतिरिक्त शेयर खरीदने की मंजूरी देती है। इसके लिए कंपनी तय अवधि में राइट्स इश्यू लॉन्च करती है और इसी दौरान शेयरधारक शेयर खरीद सकते हैं। राइट्स इश्यू के तहत शेयरधारक एक निश्चित रेश्यो में ही शेयर खरीद सकते हैं। यह रेश्यो कंपनी की ओर से तय किया जाता है।

दो स्वतंत्र निदेशकों की नियुक्ति
राइट्स इश्यू के अलावा बायजू ने अपने असंतुष्ट निवेशकों को कंपनी के भीतर पारदर्शिता बढ़ाने के लिए दो स्वतंत्र निदेशकों को नियुक्त करने का विकल्प भी दिया है। राइट्स इश्यू पूरा होने और 2023 के वित्तीय परिणाम घोषित होने के बाद स्वतंत्र निदेशकों की नियुक्ति की जा सकती है।

बता दें कि कुप्रबंधन और शेयरधारकों से जानकारी छुपाने की खबरों के बीच निवेशकों के एक समूह और बायजू के मैनेजमेंट में तनाव बढ़ गया है। कंपनी के फाउंडर्स को बाहर करने के लिए मतदान करने को विशेष ईजीएम बुलाई है। एक सूत्र के मुताबिक, ईजीएम नोटिस को जनरल अटलांटिक, पीक एक्सवी, सोफिना, आउल और सैंड्स का समर्थन प्राप्त है। इनकी संयुक्त रूप से कंपनी में लगभग 30 प्रतिशत हिस्सेदारी है। शेयरधारक बायजू के बोर्ड से संस्थापकों - बायजू रवींद्रन, उनकी पत्नी दिव्या गोकुलनाथ और भाई रिजू रवींद्रन को हटाने के अलावा शीर्ष पदों पर नए सदस्यों की नियुक्ति के लिए मतदान करेंगे।

 जानें Hindi News , Business News की लेटेस्ट खबरें, Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें