DA Image
4 अक्तूबर, 2020|8:06|IST

अगली स्टोरी

अच्छे दिन के एक और संकेत: पेट्रोल की मांग कोरोना के पूर्व के स्तर पर, डीजल की बिक्री में भी सुधार

petrol diesel pump   afp file photo

देश के विनिर्माण क्षेत्र में सितंबर में करीब नौ साल की सबसे बड़ी तेजी की खबर के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था के अच्छे दिन के लौटने के एक और संकेत मिल रहे हैं।  देश में पेट्रोल की मांग में सितंबर में दो फीसद की वृद्धि हुई है। कोरोना वायरस महामारी के प्रसार को रोकने के लिए मार्च के आखिर में देश में लॉकडाउन लगाया गया था। इसके बाद से पेट्रोल की बिक्री में पहली बार बढ़ोतरी हुई है, जिससे पता चलता है कि इस वाहन ईंधन की मांग कोविड-19 के पूर्व के स्तर पर पहुंच रही है।

यह भी पढ़ें: विनिर्माण क्षेत्र में सितंबर में नौ साल की सबसे बड़ी तेजी 

सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों के शुरुआती आंकड़ों से यह जानकारी मिली है। इन कंपनियों की बाजार हिस्सेदारी 90 फीसद है। हालांकि, डीजल की बिक्री सामान्य स्तर से कम है, लेकिन माह-दर-माह आधार पर इसमें बढ़ोतरी हुई है।  वहीं सितंबर में रसोई गैस (एलपीजी) की बिक्री सालाना आधार पर पांच फीसद बढ़कर 22.8 लाख टन पर पहुंच गई। अगस्त की तुलना में इसमें 3.5 फीसद की बढ़ोतरी हुई। माना जा रहा है कि अक्टूबर में त्योहारी सीजन की वजह से ईंधन की मांग में और सुधार होगा। 

पेट्रोल की बिक्री में 10.5 फीसद का इजाफा

आंकड़ों के अनुसार सितंबर में पेट्रोल की बिक्री दो फीसद बढ़ी है। पिछले महीने की तुलना में पेट्रोल की बिक्री में 10.5 फीसद का इजाफा हुआ है। हालांकि, डीजल की मांग अभी नकारात्मक बनी हुई है। सालाना आधार पर डीजल की बिक्री में सात फीसद की गिरावट आई है। हालांकि, अगस्त की तुलना में डीजल की बिक्री 22 फीसद अधिक रही है।  दुनिया के तीसरे सबसे बड़े आयातक देश में 25 मार्च के लॉकडाउन के बाद पहली बार पेट्रोल की बिक्री बढ़ी है। सितंबर में पेट्रोल की बिक्री बढ़कर 22 लाख टन पर पहुंच गई। पिछले साल समान महीने में यह 21.6 लाख टन थी। अगस्त, 2020 में पेट्रोल की बिक्री 19 लाख टन रही थी। 

डीजल की बिक्री सितंबर में घटकर 48.4 लाख टन पर आई

देश में सबसे ज्यादा उपभोग वाले ईंधन डीजल की बिक्री सितंबर में घटकर 48.4 लाख टन रह गई। सितंबर, 2019 में यह 52 लाख टन रही थी। वहीं अगस्त, 2020 में डीजल बिक्री 39.7 लाख टन थी। भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लि. (बीपीसीएल) के निदेशक (विपणन) अरुण कुमार सिंह ने पिछले सप्ताह कहा था कि पेट्रोल की बिक्री अब कोविड-19 के पूर्व के स्तर पर पहुंच गई है, लेकिन डीजल बिक्री का आंकड़ा अभी कमजोर है। 

यह भी पढ़ें: LPG Cylinder Price: अक्टूबर महीने में रसोई गैस हुई महंगी, जानें नए दाम 

 उन्होंने कहा, ''लोग आवाजाही के लिए निजी वाहनों के इस्तेमाल को प्राथमिकता दे रहे हैं। लेकिन डीजल खपत वाले क्षेत्रों मसलन स्कूल बसों या सार्वजनिक बसों का काफी कम इस्तेमाल हो रहा है। उन्होंने कहा कि अक्टूबर-नवंबर में पेट्रोल की बिक्री सकारात्मक दायरे में आ जाएगी। वही डीजल की बिक्री में शून्य से तीन फीसद की गिरावट रहेगी। इससे पहले अगस्त में डीजल की बिक्री में पिछले साल के समान महीने की तुलना में 21 फीसद की गिरावट आई थी। वहीं अगस्त में पेट्रोल की बिक्री 7.4 फीसद घटी थी। आंकड़ों के अनुसार सितंबर में विमान ईंधन एटीएफ की बिक्री 54 फीसद घटकर 6,18,000 टन रही। हालांकि, यह अगस्त, 2020 की तुलना में 22.5 फीसद बढ़ी। अगस्त में जेट ईंधन की बिक्री 2,35,000 टन रही थी। 

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Another sign of a good day Petrol demand at pre Corona level diesel sales also improve