ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेस₹300 का ये शेयर टूटकर ₹2 पर आ गया, निवेशकों के ₹1 लाख घटकर 700 रुपये रह गए

₹300 का ये शेयर टूटकर ₹2 पर आ गया, निवेशकों के ₹1 लाख घटकर 700 रुपये रह गए

कभी शेयर बाजार में इस शेयर का बोलबाला था और इसने अपने निवेशकों को मालामाल भी किया था। लेकिन एक समय ऐसा आया जब कंपनी के बुरे दिन शुरू हो गए और इसका असर शेयरों पर पड़ने लगा।

₹300 का ये शेयर टूटकर ₹2 पर आ गया, निवेशकों के ₹1 लाख घटकर 700 रुपये रह गए
Varsha Pathakलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 10 Dec 2022 12:30 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

Stock Crash: आज हम आपको एक ऐसे शेयर के बारे में बता रहे हैं जिसने अपने भरोसेमंद निवेशकों को 99 पर्सेंट का नुकसान (Stock return) कराया है। कभी शेयर बाजार में इस शेयर का बोलबाला था और इसने अपने निवेशकों को मालामाल भी किया था। लेकिन एक समय ऐसा आया जब कंपनी के बुरे दिन शुरू हो गए और इसका असर शेयरों पर पड़ने लगा। आज इस शेयर की कीमत मात्र 2.10 रुपये रह गई है। कभी यह शेयर ऑल टाइम हाई लगाते हुए 820.80 रुपये (10 जनवरी 2008) पर भी पहुंच गया था। हम बात कर रहे हैं अनिल अंबानी की कर्ज में डूबी कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशंस यानी आरकाॅम (Reliance Communications Ltd) की। कंपनी के शेयरों ने लंबी अवधि में 99.30 पर्सेंट का नुकसान कराया है। 

₹300 का शेयर 2.10 रुपये का हुआ
Reliance Communications Ltd के शेयर प्राइस हिस्ट्री के मुताबिक, यह शेयर पिछले कई सालों से लगातार नुकसान करा रहा है। पिछले 16 सालों में यह शेयर 300.55 रुपये (10 मार्च 2006 का बंद प्राइस) से टूटकर 2.10 रुपये (5 दिसंबर 2022) पर आ गया है। यानी इस दौरान 1 लाख का निवेश घटकर मात्र 700 रुपये के आसपास रह गया। बता दें कि जिन निवेशकों ने इस कंपनी पर भरोसा जताया था और निवेश को बनाए रखा है वे अब तक कंगाल हो चुके। 

पैसा रखिए तैयार...अगले सप्ताह लॉन्च हो रहे 3 धांसू IPO, दांव लगाने वाले पहले ही दिन हो जाएंगे मालामाल!

कर्ज में डूब गई कंपनी
अनिल धीरूभाई अंबानी समूह की कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशंस (RCom) की दिवालिया प्रक्रिया से गुजर रही है। यह टेलीकॉम सेक्टर की दिग्गज कंपनियों की लिस्ट में शामिल थी लेकिन टेलीकॉम सेक्टर में तगड़ा टैरिफ वार शुरू होने के बाद आरकॉम को भारी घाटा होने लगा। यह प्रतिस्पर्धा खुद उनके बड़े भाई मुकेश अंबनी ने जियो के जरिए शुरू की थी। जियो के फ्री काॅल्स और सस्ता डेटा ने RCom को लगभग बर्बाद कर दिया और कंपनी भारी कर्ज में डूब गई और फिर कभी उबर नहीं पाई।