DA Image
28 जनवरी, 2021|2:29|IST

अगली स्टोरी

सभी निर्यात वस्तुओं पर कर वापसी योजना का लाभ मिलेगा

सरकार ने निर्यातकों को राहत देते हुए गुरुवार को कहा कि उसने सभी वस्तुओं पर कर वापसी योजना आरओडीटीईपी का लाभ देने का निर्णय किया है।
 

सरकार ने निर्यातकों को कर और शुल्क की वापसी को लेकर मार्च में निर्यात उत्पादों पर शुल्कों और करों से छूट (आरओडीटीईपी) योजना को मजूरी दी थी। इस पहल का मकसद धीमे पड़ते देश के निर्यात को गति देना था। वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि निर्यात को बढ़ावा देने के लिए बड़ा कदम उठाते हुए सरकार ने आरओडीटीईपी योजना का लाभ सभी निर्यात वस्तुओं को एक जनवरी 2021 से देने का फैसला किया है।

बयान के अनुसार योजना से निर्यातकों को केंद्रीय, राज्य और स्थानीय करों की वापसी हो सकेगी। जबकि अबतक निर्यातकों को इससे छूट या इसकी वापसी नहीं हो रही थी, इससे भारत के निर्यात को नुकसान हो रहा था। कर या शुल्क वापसी को निर्यातकों के लेजर खाते में डाला जएगा और उसका उपयोग आयातित वस्तुओं पर मूल सीमा शुल्क के भुगतान में किया जाएगा। इसे अन्य आयातकों को भी हस्तांतरित किया जा सकता है। बयान के अनुसार आरओडीटीईपी दरों की अधिसूचना जल्दी ही वाणिज्य विभाग जारी करेगा। यह पूर्व वाणिज्य और गृह सचिव जी के पिल्लै की अध्यक्षता वाली समिति की सिफारिशों पर आधारित होगा। समिति की अंतिम रिपोर्ट जल्दी ही आने की उम्मीद है।

इस बारे में भारतीय निर्यात संगठनों के शीर्ष निकाय फियो के अध्यक्ष शरद कुमार सर्राफ ने कहा कि आरओडीटीईपी दरों की अधिसूचना महत्वपूर्ण है क्योंकि यह निर्यातकों को अपने उत्पादों के दाम के बारे में निर्णय करने में मदद करेगा। उन्होंने कहा कि भारत से वस्तु निर्यात योजना (एमईआईएस) के तहत प्रोत्साहन उन वस्तुओं को दिया जाना चाहिए जिसके लिए दरों को समय-समय पर अधिसूचित करना होता है। देश का निर्यात चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-नवंबर के दौरान 17.76 प्रतिशत घटकर 173.66 अरब डॉलर रहा।

LPG Cylinder Price: जनवरी महीने में रसोई गैस हुई महंगी, जानें नए दाम

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:All export goods will get tax return scheme benefits