ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिजनेसइस सेक्टर में बढ़ेगा अडानी ग्रुप का दबदबा: कॉर्पोरेट भारतीय इतिहास में सबसे बड़ी ओपन ऑफर के लिए सेबी की मंजूरी

इस सेक्टर में बढ़ेगा अडानी ग्रुप का दबदबा: कॉर्पोरेट भारतीय इतिहास में सबसे बड़ी ओपन ऑफर के लिए सेबी की मंजूरी

अडानी ग्रुप (Adani Group) को अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी के लिए 3.8 अरब डॉलर की ओपन पेशकश के लिए मार्केट रेगुलेटर सेबी की मंजूरी मिल गई है।

इस सेक्टर में बढ़ेगा अडानी ग्रुप का दबदबा: कॉर्पोरेट भारतीय इतिहास में सबसे बड़ी ओपन ऑफर के लिए सेबी की मंजूरी
Varsha Pathakमिंट,नई दिल्लीFri, 19 Aug 2022 05:53 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

अडानी ग्रुप (Adani Group) को अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी के लिए 3.8 अरब डॉलर की ओपन पेशकश के लिए मार्केट रेगुलेटर सेबी की मंजूरी मिल गई है। अडानी ग्रुप ने अंबुजा सीमेंट्स के लिए ₹385 प्रति शेयर और एसीसी के लिए ₹2,300 प्रति शेयर की पेशकश की है। लगभग ₹31,139 करोड़ के निवेश के साथ ये दो प्रस्ताव कॉर्पोरेट भारतीय इतिहास में सबसे बड़ी खुली पेशकश बन सकते हैं।

क्या है योजना?
जानकारी के अनुसार, अडानी परिवार के स्वामित्व वाली मॉरीशस की एक संस्था एंडेवर ट्रेड एंड इनवेस्टमेंट ₹385 प्रति शेयर पर अंबुजा सीमेंट्स के 26% या 51.63 करोड़ शेयर खरीदने के लिए ₹19,880 करोड़ का निवेश करेगी। इसी तरह, अडानी परिवार ने ₹11,259 करोड़ (पूर्ण स्वीकृति मानकर) में ₹2,300 प्रति शेयर की कीमत पर एसीसी के 26% (4.89 करोड़ शेयर) खरीदने की पेशकश की। इस ओपन ऑफर के बाद अंबुजा में अडानी की हिस्सेदारी बढ़कर 89.11 फीसदी और एसीसी में 80.53 फीसदी हो जाएगी।
भारतीय शेयर बाजार के नियमों के अनुसार, स्थानीय सूचीबद्ध कंपनी में 25% या अधिक शेयर प्राप्त करने से एक अनिवार्य खुली पेशकश शुरू हो जाएगी, जहां अल्पसंख्यक शेयरधारक नए निवेशक को पूर्व निर्धारित मूल्य पर अपनी हिस्सेदारी बेचने का विकल्प चुन सकते हैं। ब्लूमबर्ग के आंकड़ों के अनुसार, गुरुवार के बंद भाव की तुलना में अंबुजा के लिए अडानी की ओपन ऑफर कीमत 6% छूट पर है, जबकि एसीसी के लिए 1% छूट है।

यह भी पढ़ें- 52 वीक हाई पर पहुंचा टाटा ग्रुप का यह शेयर, एक्सपर्ट ने दिया 1340 रुपये का टारगेट

सीसीआई की भी मंजूरी
भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) ने अडानी समूह को अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी के अधिग्रहण की मंजूरी दे दी है। बता दें कि अडानी समूह ने दोनों कंपनियों को मई में 10.5 अरब डॉलर (81,339 करोड़ रुपये) के लेन-देन में होल्सिम समूह से अधिग्रहित किया था। इस अधिग्रहण के बाद अडानी समूह, अल्ट्राटेक के बाद भारत में दूसरी सबसे बड़ी सीमेंट कंपनी बन गई। बता दें कि होल्सिम की अंबुजा सीमेंट्स में 63.19 फीसदी जबकि अंबुजा की एसीसी में 54.53 फीसदी हिस्सेदारी थी।

epaper