DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिजनेस  ›  शेयर बाजार में फिर हाहाकार, इस साल का तीसरा 'ब्लैक मंडे' साबित हुआ सोमवार

बिजनेसशेयर बाजार में फिर हाहाकार, इस साल का तीसरा 'ब्लैक मंडे' साबित हुआ सोमवार

दृगराज मद्धेशिया,नई दिल्लीPublished By: Drigraj
Mon, 04 May 2020 03:51 PM
शेयर बाजार में फिर हाहाकार, इस साल का तीसरा 'ब्लैक मंडे' साबित हुआ सोमवार

इस साल यह तीसरा सोमवार है, जब शेयर बाजार के लिए यह 'ब्लैक मंडे' साबित हो रहा है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स ने 2002.27 अंकों का गोता लगाया। आज सेंसेक्स 5.94% गिरावट के साथ 31,715.35 के स्तर पर बंद हुआ वहीं निफ्टी ने भी 566.40  अंक या .5.74% लुढ़ककर 9,293.50 के स्तर पर दिन का कारेाबार समाप्त किया। इससे पहले 23 मार्च को सेंसेक्स 3934 अंक का गोता लगाकर 25,981.24 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं निफ्टी 1110 अंक डूब कर 7634 के स्तर पर बंद हुआ। 10 फीसद से ज्यादा गिरावट होने के बाद शेयर बाजार में लोअर सर्किट लगा और कारोबार 45 मिनट तक ' लॉक' यानी बंद रहा। वहीं 16 मार्च को सेंसेक्स ने जहां 2713.41 अंकों का गोता लगाया तो वहीं निफ्टी भी 757.80 अंक टूट गया।  23 मार्च को सेंसेक्स  3934.72 अंक यानी 13.15% टूटकर 25,981.24 के स्तर पर बंद हुआ था। 

सेंसेक्स में महागिरावट

तारीख सेंसेक्स में गिरावट
23 मार्च 2020 3,934
12 मार्च 2020 2919
16 मार्च 2020 2713
4 मई 2020 2,002
9 मार्च 2020 1941
18 मार्च 2020 1709
24 अगस्त 2015 1624
28 फरवरी 2020 1448
21 जनवरी 2008 1408
21 जनवरी 2008 1408
22 अक्टूबर 2008 1070

16 मार्च को हुई थी 8वीं बड़ी गिरावट

इस साल घरेलू शेयर बाजार के लिए एक 'ब्लैक मंडे' साबित हुआ 16 मार्च का दिन। इससे पहले 9 मार्च को बाजार ने ऐतिहासिक गिरावट देखी थी। एक दिन में इतिहास की सबसे बड़ी इंट्राडे की 2467 अंकों की गिरावट देखी। 16 मार्च को सेंसेक्स ने जहां 2713.41 अंकों का गोता लगाया तो वहीं निफ्टी भी 757.80 अंक टूट गया। कारोबार के अंत में सेंसेक्स 31,390.07 के स्तर पर बंद हुआ और निफ्टी 9,197.40  के स्तर पर। शेयर बाजार में इस साल की यह 8वीं बड़ी और दूसरी सबसे बड़ी गिरावट है।  

12 मार्च को शेयर बाजार में आई थी महामारी

12 मार्च 2020: विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के कोरोना को विश्वव्यापी महामारी घोषित करने के बाद दुनिया भर के शेयर बाजारों में भूचाल आ गया। भारतीय शेयर बाजार के इतिहास में सबसे बड़ी गिरावट दर्ज हुई। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 2919 अंक गोता लगाने के बाद 32,778.14 के स्तर पर बंद हुआ। यह 52 हफ्ते का सबसे निचला स्तर है। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 825 अंकों के भारी नुकसान के साथ 9,633.10 के स्तर पर बंद हुआ। 

नौ मार्च बना काला सोमवार

सेंसेक्स ने एक दिन में इतिहास की सबसे बड़ी इंट्राडे की 2467 अंकों की गिरावट देखी। बाद में सेंसेक्स 5.17% यानी 1941 अंक नीचे गिरकर 35,634 के स्तर पर बंद हुआ। निफ्टी में 538 अंकों की गिरावट आई और यह 10,451 के स्तर पर बंद हुआ। 

28 फरवरी को 1,448.37 अंक टूटा था सेंसेक्स

फरवरी के अंतिम कारोबारी दिन को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स 1,448.37 अंक टूटकर 38,297.29 के  स्तर पर बंद हुआ। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 431.55 अंक टूटकर 11,201.75 के स्तर पर बंद हुआ। यह इस साल की सबसे बड़ी गिरावट है। 

बजट के दिन 987 अंक टूटा था सेंसेक्‍स

इससे पहले इस साल एक फरवरी को बजट के दिन सेंसेक्‍स ने 10 साल की सबसे बड़ी गिरावट देखी थी। कारोबार के अंत में सेंसेक्‍स 987.96 अंक या 2.43 फीसदी के नुकसान से 39,735.53 अंक पर बंद हुआ था, वहीं निफ्टी 300.25 अंक या 2.51 फीसदी टूटकर 11,661.85 अंक पर आ गया था। 

संबंधित खबरें