DA Image
1 जून, 2020|2:58|IST

अगली स्टोरी

21 दिनों का लॉकडाउन भारत के लिए 'एक अवसर', जानें किसने और क्यों कहा

nationwide lockdown in india

कोरोना की महामारी को देखते हुए भारत में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन है। इस दौरान लोगों को हो रही दिक्कतों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपने 'मन की बात' में  इसके लिए देशवासियों से माफी भी मांग ली है। वहीं भारत केंद्रित एक अमेरिकी उद्योग-व्यापार मंडल ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए भारत में जारी 21 दिनों का लॉकडाउन देश के लिए 'एक अवसर' हो सकता है। समूह ने कहा कि इस कदम से सरकार के नीति निर्धारण में पारदर्शिता का पता चलता है, जिससे विदेशी निवेश आकर्षित करने में मदद मिलेगी। अमेरिका भारत रणनीतिक एवं साझेदारी मंच (यूएसआईएसपीएफ) के अध्यक्ष मुकेश अघी ने मोदी के फैसले को सही बताया। उन्होंने कहा कि मैं यहां (अमेरिका में) हर जगह सुन रहा हूं कि यह करना सही था और यह (प्रधानमंत्री के) नेतृत्व को दर्शाता है। उम्मीद है कि तीन सप्ताह के समय में भारत में चीजें अधिक नियंत्रण में होंगी।

यह भी पढ़ेंः कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को 28 दिन का वेतन सहित अवकाश देने के आदेश

अघी ने कहा, हालांकि, इस चुनौतीपूर्ण समय को भारत के लिए एक अवसर में बदला जा सकता है। उन्होंने कहा कि भारत एक बहुत ही आकर्षक बाजार है और ये सही है कि आपके सामने यह व्यवधान है लेकिन यह पूरी दुनिया में है और भारत कोई अपवाद नहीं है। वास्तव में मुझे लगता है कि यह संकट भारत के लिए एक अवसर है। उन्होंने प्रधानमंत्री के बंद की घोषणा पर कहा कि इससे दुनिया को संदेश गया है कि चीन के विपरीत भारत अपने नीति निर्धारण में खुला और पारदर्शी है। अघी ने कहा कि इसलिए वास्तव में कंपनियां वहां आगे बढ़ेंगी, जहां उन्हें लगता है कि अधिक खुलापन, अधिक पारदर्शिता है।

यह भी पढ़ेंः3 हफ्ते से आगे बढ़ा लॉकडाउन तो घरेलू एलपीजी सिलेंडर की डिलीवरी पर ये होगा असर

साथ ही उन्होंने कहा कि चूंकि भारत वैश्विक अर्थव्यवस्था के साथ जुड़ा हुआ है, इसलिए सरकार को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि बंद के दौरान वैश्विक आपूर्ति प्रभावित न हो। भारत में कोरोना वायरस से 19 लोगों की मौत हो चुकी है और 870 से अधिक संक्रमित हैं। इस महामारी को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन हफ्तों के लिए देशव्यापी बंद का ऐलान किया था। अधी ने कहा ’ चीन के विपरीत भारत अपने नीति निर्धारण में खुला और पारदर्शी है ’ सरकार सुनिश्चित करे बंद में वैश्विक आपूर्ति प्रभावित न हो

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:21 day lockdown an opportunity for India know who said and why