Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़Som distilleries licence cancelled by MP excise department on child labour concerns focus on share

लिस्टेड कंपनी का लाइसेंस रद्द, बाल मजूदरों से काम कराने के आरोप, शेयर पर दिखेगा असर?

  • इस खबर के बाद शेयर सोम डिस्टिलरीज के शेयर मंगलवार को 16 प्रतिशत तक गिर गए। हालांकि, बुधवार के कारोबार में शेयर में मामूली गिरावट रही और बीएसई पर भाव 115.85 रुपये था।

Deepak Kumar नई दिल्ली, लाइव हिन्दुस्तान टीम।Wed, 19 June 2024 10:37 PM
पर्सनल लोन

Som distilleries share: शेयर बाजार में लिस्टेड सोम डिस्टिलरीज और ब्रुअरीज को बड़ा झटका लगा है। दरअसल, मध्य प्रदेश सरकार ने 19 जून को रायसेन जिले में बाल श्रमिकों को बचाए जाने के बाद सोम डिस्टिलरीज का लाइसेंस निलंबित कर दिया है। उत्पाद शुल्क विभाग की अधिसूचना के अनुसार, एक बचाव अभियान चलाया गया जहां मध्य प्रदेश के रायसेन जिले में शराब फैक्ट्री से बाल मजदूरों को बचाया गया। विभाग ने आगे कहा कि नाबालिगों को पुलिस सत्यापन के बिना सोम डिस्टिलरीज की एक इकाई द्वारा नियुक्त किया गया था। इसी मामले में कार्रवाई की गई है। सोम डिस्टिलरीज का निलंबन 20 दिनों की अवधि के लिए या जब तक श्रम विभाग गतिविधियों को फिर से शुरू करने की मंजूरी नहीं दे देता, तब तक रहेगा।

शेयर में आई थी बड़ी गिरावट

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने मध्य प्रदेश में इस कंपनी के सब्सिडयरी की डिस्टिलरी से 39 लड़कों और 19 लड़कियों को बचाया था। ये सभी बाल मजदूर थे। इस खबर के बाद शेयर सोम डिस्टिलरीज के शेयर मंगलवार को 16 प्रतिशत तक गिर गए। हालांकि, बुधवार के कारोबार में शेयर में मामूली गिरावट रही और बीएसई पर भाव 115.85 रुपये था। बता दें कि सोम डिस्टिलरीज एंड ब्रुअरीज बीयर, आईएमएफएल (भारत निर्मित विदेशी शराब) और आरटीडी (रेडी टू ड्रिंक) पेय पदार्थों का निर्माण और आपूर्ति करने वाली कंपनियों का एक आईएसओ-प्रमाणित समूह है।

कंपनी ने दी सफाई

सोम डिस्टिलरीज ने 17 जून को इस मामले में सफाई दी थी। कंपनी ने कहा था कि सब्सिडयरी के लिए श्रमिकों की आपूर्ति उन ठेकेदारों द्वारा की जाती है, जिन्होंने कारखाने में श्रमिकों को अनुमति देने से पहले उचित आयु सत्यापन नहीं किया होगा। कंपनी ने कहा था कि हम आपको आश्वस्त करना चाहते हैं कि हमारी कंपनी के सभी प्लांट लागू कानूनों का पूरी तरह से अनुपालन करते हैं और उनके पास सभी आवश्यक अनुमतियां हैं। बता दें कि सोम डिस्टिलरीज के भोपाल प्लांट की वर्तमान में प्रति वर्ष 15.2 मिलियन केस बीयर और 0.6 मिलियन केस भारतीय निर्मित विदेशी शराब की क्षमता है। यह भोपाल प्लांट से राजस्थान, झारखंड और उत्तर प्रदेश के क्षेत्रों को भी सेवाएं दे रहा है।

 बजट 2024 जानेंHindi News  ,  Business News की लेटेस्ट खबरें, इनकम टैक्स स्लैब Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें