Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़शेयर मार्केट समाचारNifty hits record high sensex jumps 1200 point what behind this gain

नई सरकार के लिए RBI ने खोला खजाना, गदगद हुए निवेशक, शेयर बाजार ने तोड़े सारे रिकॉर्ड

  • दरअसल, रिजर्व बैंक ने कहा है कि वह वित्त वर्ष 2023-24 के लिए सरकार को रिकॉर्ड 2.1 लाख करोड़ रुपये का डिविडेंड देगा, जो बजटीय उम्मीद से भी दोगुना है। इससे नई सरकार को अपना राजस्व आधार बढ़ाने में मदद मिलेगी।

Deepak Kumar नई दिल्ली, लाइव हिन्दुस्तान टीमThu, 23 May 2024 07:10 PM
पर्सनल लोन

लोकसभा चुनाव के छठवें चरण की वोटिंग से पहले भारतीय शेयर बाजार ने अपने सभी पुराने रिकॉर्ड को ध्वस्त करते हुए नई ऊंचाई को छु लिया है। सप्ताह के चौथे दिन गुरुवार को शेयर बाजार के दोनों प्रमुख सूचकांक- सेंसेक्स और निफ्टी ने नया रिकॉर्ड बनाया। ये सूचकांक 1.6 प्रतिशत से अधिक की छलांग लगाकर नए रिकॉर्ड के साथ बंद हुए।

सेंसेक्स का रिकॉर्ड: एक तरफ बीएसई के 30 शेयरों पर आधारित सूचकांक सेंसेक्स ने 29 जनवरी के बाद की अपनी सबसे ऊंची छलांग लगाई और 1,196.98 अंक की बढ़त के साथ यह 75,418.04 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स का यह अबतक की सबसे हाई क्लोजिंग है। ट्रेडिंग के दौरान एक समय यह 1,278.85 अंक यानी 1.72 प्रतिशत बढ़कर 75,499.91 के अपने ऑल टाइम हाई पर पहुंच गया।

निफ्टी का रिकॉर्ड: नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के निफ्टी ने भी इस जबरदस्त तेजी का फायदा उठाते हुए नया रिकॉर्ड बनाया। निफ्टी 369.85 अंक यानी 1.64 प्रतिशत बढ़कर 22,967.65 अंक के अपने उच्चतम स्तर पर बंद हुआ। दिन में कारोबार के दौरान यह 395.8 अंक यानी 1.75 प्रतिशत उछलकर 22,993.60 के नए ऑल टाइम हाई पर पहुंचा था।

4.28 लाख करोड़ रुपये बढ़ी दौलत

शेयर बाजार के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचने के बीच निवेशकों की संपत्ति 4.28 लाख करोड़ रुपये बढ़ गई। इस रिकॉर्ड तेजी ने बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का कुल बाजार पूंजीकरण 4,28,602.18 करोड़ रुपये बढ़ा दिया। इसके साथ ही इन कंपनियों का बाजार पूंजीकरण सम्मिलित रूप से बढ़कर 4,20,22,635.90 करोड़ रुपये यानी 5.05 लाख करोड़ डॉलर हो गया जो इसका नया उच्चस्तर है।

तेजी की वजह

शेयर बाजार की ऐतिहासिक तेजी की सबसे बड़ी वजह रिजर्व बैंक है। दरअसल, रिजर्व बैंक ने कहा है कि वह वित्त वर्ष 2023-24 के लिए सरकार को रिकॉर्ड 2.1 लाख करोड़ रुपये का डिविडेंड देगा, जो बजटीय उम्मीद से भी दोगुना है। इससे नई सरकार को अपना राजस्व आधार बढ़ाने में मदद मिलेगी। यही वजह है कि शेयर बाजार में उत्साह का माहौल है। यह बताता है कि नई सरकार को बेहतर सरकारी खजाना मिलने वाला है। मजबूत खजाने से राजकोषीय घाटे का तनाव कम होगा। सत्ता में जो नई सरकार आएगी वह खुलकर खर्च कर सकेगी। वहीं, बॉन्ड यील्ड पर भी इसका असर देखने को मिलेगा।

पीएम मोदी का बयान

बीते दिनों पीएम नरेंद्र मोदी ने लोकसभा चुनाव के नतीजे और शेयर बाजार के परफॉर्मेंस को लेकर एक अहम बयान दिया। उन्होंने कहा कि मैं विश्वास के साथ यह कह सकता हूं कि 4 जून को जैसे ही बीजेपी बहुमत के साथ रिकॉर्ड बनाएगी, शेयर बाजार भी नई ऊंचाई पर पहुंच जाएगा।

बीजेपी की वापसी

तमाम एक्सपर्ट इस बात को स्वीकार कर रहे हैं कि 4 जून को आने वाले लोकसभा चुनाव के नतीजे बीजेपी के पक्ष में होंगे। अगर चुनाव के नतीजे बाजार की उम्मीदों के अनुरूप रहते हैं, तो उम्मीद है कि जून के पहले सप्ताह में निफ्टी 23000 अंक के स्तर को पार कर जाएगा।

लेटेस्ट   Hindi News,  लोकसभा चुनाव 2024,  बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें