Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़Rajasthan finds some MDH and Everest spices unsafe for consumption

MDH और एवरेस्ट के मसालों पर फिर उठे सवाल, राजस्थान में सैंपल संदिग्ध

  • 5 अप्रैल को हांगकांग के खाद्य सुरक्षा नियामक सेंटर फॉर फूड सेफ्टी (सीएफएस) ने कहा कि उसने दो भारतीय ब्रांड के कई प्रकार के डिब्बा बंद मसाला उत्पादों के नमूनों में स्वीकार्य सीमा से अधिक कीटनाशक 'एथिलीन ऑक्साइड' पाया है।

spices
Deepak Kumar नई दिल्ली, लाइव हिन्दुस्तान टीम।Thu, 13 June 2024 10:48 PM
पर्सनल लोन

चर्चित एमडीएच और एवरेस्ट के कुछ मसालों पर एक बार फिर सवाल खड़े हुए हैं। इस बार भारत के राजस्थान में दोनों कंपनियों के मसाले संदिग्ध पाए गए हैं। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की खबर के मुताबिक इन दोनों कंपनियों के मसालों के सैंपल जांच के बाद इसे ग्राहकों के लिए "असुरक्षित" पाया गया।

अधिकारी ने लिखा पत्र

एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी शुभ्रा सिंह द्वारा भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) को लिखे एक निजी पत्र के अनुसार राजस्थान राज्य ने कई मसालों के सैंपल की जांच की और एवरेस्ट मसाला मिश्रण का एक बैच और MDH के 2 तरह के मसाले को असुरक्षित पाया गया। उन्होंने आगे कहा कि गुजरात, हरियाणा में MDH और एवरेस्ट के बैच बनाए गए थे। ऐसे में दोनों राज्यों के अधिकारियों को इन पर तुरंत कार्रवाई करनी चाहिए। यह पत्र सार्वजनिक नहीं है लेकिन रॉयटर्स की ओर से देखा गया है। वहीं, शुभ्रा सिंह और एफएसएसएआई की ओर से इस पर प्रतिक्रिया नहीं दी गई है।

और भी कई कंपनियां रडार पर

खाद्य सुरक्षा आयुक्त इकबाल खान के मुताबिक जांच में एमडीएच, एवरेस्ट के अलावा गजानंद, श्याम, शीबा ताजा जैसी नामी कपंनियों के मसाले 'असुरक्षित' पाए गए हैं। उन्होंने कहा कि जांच के अनुसार 'एमडीएच' कंपनी के गरम मसाला में ‘एसिटामिप्रिड’, ‘थियामेथाक्साम’, ‘इमिडाक्लोप्रिड’, सब्जी मसाला एवं चना मसाला में ‘ट्राई साइकिल’, ‘प्रोफेनोफोस’, श्याम कंपनी के गरम मसाला में ‘एसिटामिप्रिड’, शीबा ताजा कंपनी के रायता मसाला में ‘थियामेथाक्साम’ एवं ‘एसिटामिप्रिड’, गजानंद कंपनी के अचार मसाला में ‘इथियोन’ तथा एवरेस्ट कंपनी के जीरा मसाला में ‘एजोक्सीस्ट्रोबिन’ व ‘थियामेथोक्साम पेस्टीसाइड/इनसेक्टीसाइड’ निर्धारित मात्रा से काफी अधिक पाए गए, जो कि स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक हो सकते हैं।

हांगकांग और सिंगापुर में लगा बैन

बीते 5 अप्रैल को हांगकांग के खाद्य सुरक्षा नियामक सेंटर फॉर फूड सेफ्टी (सीएफएस) ने कहा कि उसने दो भारतीय ब्रांड के कई प्रकार के डिब्बा बंद मसाला उत्पादों के नमूनों में स्वीकार्य सीमा से अधिक कीटनाशक 'एथिलीन ऑक्साइड' पाया है। उसने उपभोक्ताओं से इन उत्पादों की खरीदारी न करने के लिए कहा है। सीएफएस आदेश को ध्यान में रखते हुए सिंगापुर खाद्य एजेंसी ने उत्पादों को वापस मंगाने का निर्देश दिया।

ये उत्पाद थे: एवरेस्ट फिश करी मसाला, एमडीएच मद्रास करी पाउडर (मद्रास करी के लिए मसाला मिश्रण), एमडीएच सांभर मसाला मिश्रित मसाला पाउडर, और एमडीएच करी पाउडर मिश्रित मसाला पाउडर। इसके बाद भारत में भी मसालों के सैंपल रडार पर हैं।

 जानें Hindi News , Business News की लेटेस्ट खबरें, Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें