Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़rain of money in monsoon 56 companies are competing to bring IPO and FPO

मानसून से होगी पैसों की बारिश! 56 कंपनियां में आईपीओ और एफपीओ लाने की होड़

  • Rain of money in monsoon: मानसून के साथ निवेशकों पर पैसों की बारिश होने की संभावना है। हुंडई मोटर इंडिया लिमिटेड समेत करीब 56 कंपनियां 90,000 करोड़ रुपये से अधिक जुटाने की योजना बना रही हैं।

rain of money in monsoon 56 companies are competing to bring IPO and FPO
Drigraj Madheshia नई दिल्ली, हिन्दुस्तान संवाददाताMon, 17 June 2024 08:02 AM
पर्सनल लोन

इस मानसून के साथ ही शेयर मार्केट के निवेशकों पर पैसों की बारिश होने की संभावना है। आईपीओ और एफपीओ के जरिए हुंडई मोटर इंडिया लिमिटेड समेत करीब 56 कंपनियां 90,000 करोड़ रुपये से अधिक जुटाने की योजना बना रही हैं।प्राइम डेटाबेस के मुताबिक करीब 17 कंपनियों को आईपीओ/एफपीओ लॉन्च करने के लिए भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड यानी सेबी से मंजूरी मिल गई है। ये कंपनियां 11,000 करोड़ रुपये से अधिक जुटाने की योजना बना रही हैं।

इन कंपनियों में आशीर्वाद माइक्रो फाइनेंस और एलाइड ब्लेंडर्स एंड डिस्टिलर्स करीब 1,500-1,500 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रही हैं। इनके अलावा प्राइम करीब 38 कंपनियों ने 7 जून तक सेबी के पास ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (डीआरएचपी) दाखिल किया है और आईपीओ/एफपीओ लॉन्च करने के लिए मंजूरी का इंतजार कर रही हैं।

ये हैं बड़े आईपीओ

बड़े आईपीओ की लिस्ट में स्विगी (8,000 करोड़ रुपये), बजाज हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (7,000 करोड़ रुपये), एफकॉन्स इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (7,000 करोड़ रुपये), ओला इलेक्ट्रिक मोबिलिटी (5,500 करोड़ रुपये) और नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (4,500 करोड़ रुपये) शामिल हैं।

आ रहा देश का सबसे बड़ा आईपीओ

डीआरएचपी के अनुसार बजाज हाउसिंग फाइनेंस के 7,000 करोड़ रुपये तक के सार्वजनिक प्रस्ताव में 4,000 करोड़ रुपये तक के इक्विटी शेयरों का फ्रेश इश्यू और 3,000 करोड़ रुपये तक का ओएफएस शामिल है। पिछले हफ्ते हुंडई मोटर ने सेबी के पास डीआरएचपी दाखिल किया, जिसमें 10 रुपये प्रति शेयर के फेस वैल्यू पर 142.19 रुपये इक्विटी शेयर बेचने की पेशकश की गई। कंपनी शेयरों की लिस्टिंग के जरिए 25,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रही है, जिससे यह देश का सबसे बड़ा आईपीओ बन जाएगा।

आईपीओ में निवेश करने का उत्साह बढ़ा

कोटक इन्वेस्टमेंट बैंकिंग के प्रबंध निदेशक और बोर्ड के सदस्य वी जयशंकर ने कहा कि मजबूत बुनियादी बातें, बड़ी खुदरा भागीदारी भारत की मजबूत मैक्रोइकॉनॉमिक बुनियादी बातें और बड़ी खुदरा भागीदारी आईपीओ बाजार को आगे बढ़ा रही हैं। विकास का एजेंडा जारी रहने की उम्मीद है, ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सरकारी खर्च में वृद्धि और अनुकूल मानसून से लाभ मिलने की उम्मीद है। उन्होंने कहा, "आईपीओ में निवेश करने का उत्साह और अधिक हो गया है।"

 जानें Hindi News , Business News की लेटेस्ट खबरें, Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें