Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़railway stock rvnl bags multiple orders worth over 500 crore rs from eastern railway and DHBVN

रेलवे की कंपनी को ताबड़तोड़ मिले ऑर्डर, नई सरकार में शेयर पर फोकस

  • ट्रेडिंग के दौरान शेयर की कीमत 375 रुपये के स्तर तक पहुंच गई। बता दें कि 3 जून 2024 को शेयर की कीमत 424.95 रुपये तक गई थी। यह शेयर के 52 हफ्ते का हाई है।

indian railways rrb ntpc rrb group d
Deepak Kumar नई दिल्ली, लाइव हिन्दुस्तान टीमWed, 5 June 2024 07:46 PM
पर्सनल लोन

रेलवे से जुड़ी कंपनी- रेल विकास निगम लिमिटेड (RVNL) को ₹500 करोड़ से अधिक के कई ऑर्डर मिले हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में नए सरकार के गठन के बाद यह पीएसयू शेयर फोकस में रहने की उम्मीद है। बता दें कि यह शेयर पिछले कुछ समय से निवेशकों को मल्टीबैगर रिटर्न दे रहा है।

कंपनी को मिले 2 बड़े ऑर्डर

RVNL को आसनसोल मंडल के अंतर्गत सीतारामपुर बाईपास लाइन के निर्माण के लिए पूर्व रेलवे से स्वीकृति पत्र प्राप्त हुआ है। इस प्रोजेक्ट का मूल्य ₹390.97 करोड़ है। वहीं, RVNL दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम लिमिटेड (DHBVN) के लिए संशोधित वितरण क्षेत्र योजना (RDSS) के तहत गुरुग्राम में SCADA (पर्यवेक्षी नियंत्रण और डेटा अधिग्रहण) और डीएमएस/ओएमएस (वितरण प्रबंधन प्रणाली/आउटेज प्रबंधन प्रणाली) कार्यों के कार्यान्वयन के लिए सबसे कम बोली लगाने वाले के रूप में उभरा है। खबर के बीच रेल विकास निगम ने कहा कि यह परियोजना ₹124.37 करोड़ की है।

RVNL के शेयर का हाल

इस खबर के बीच बुधवार को RVNL के शेयर में तेजी देखी गई। सप्ताह के तीसरे कारोबारी दिन शेयर 353.30 रुपये पर बंद हुआ। ट्रेडिंग के दौरान शेयर की कीमत 375 रुपये के स्तर तक पहुंच गई। बता दें कि 3 जून 2024 को शेयर की कीमत 424.95 रुपये तक गई थी। यह शेयर के 52 हफ्ते का हाई है। ये वो दिन था जब चुनावी नतीजे से पहले एग्जिट पोल जारी किए गए। इसके बाद 4 जून को चुनावी नतीजे के साथ ही शेयर बुरी तरह क्रैश हो गया और कीमत 355 रुपये के नीचे आ गया।

कैसे रहे मार्च तिमाही के नतीजे

मार्च तिमाही के दौरान रेल विकास निगम लिमिटेड ने नेट प्रॉफिट में सालाना आधार पर 33.2% की बढ़ोतरी दर्ज की। इस दौरान प्रॉफिट ₹478.6 करोड़ था। वित्त वर्ष 2023 की इसी तिमाही में रेल विकास निगम ने ₹359 करोड़ का प्रॉफिट कमाया। परिचालन से कंपनी का राजस्व 17.4% बढ़कर ₹6714 करोड़ हो गया, जो पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में ₹5719 करोड़ था। परिचालन स्तर पर एबिटा 21.8% बढ़कर ₹456.4 करोड़ हो गया, जो एक साल पहले की अवधि में ₹374.6 करोड़ था। तिमाही के दौरान एबिटा मार्जिन 6.8% रहा, जो पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में 6.6% था।

 जानें Hindi News , Business News की लेटेस्ट खबरें, Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें