Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़mukesh ambani led reliance industries ready to enter in african market for 5g services

मुकेश अंबानी की इस देश की टेलीकॉम इंडस्ट्रीज पर नजर, आ गया नया प्लान सामने

  • रिलायंस इंडस्ट्रीज के नियंत्रण वाली कंपनी Radisys Corp घाना के इंफ्रोको को नेटवर्क इंफ्रास्ट्रक्चर, एप्लीकेशन और स्मार्ट फोन्स प्रदान करेगी। NGIC की तरफ से इस अफ्रीकी देश में साल के अंत 5जी सर्विसेज प्रदान की जा सकती हैं।

Tarun Singh नई दिल्ली, लाइव हिन्दुस्तान टीमMon, 27 May 2024 09:21 AM
पर्सनल लोन

भारत के दिग्गज बिजनेस मैन और रिलायंस इंडस्ट्रीज के मुखिया मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) अपने बिजनेस को तेजी के साथ विस्तार दे रहे हैं। वो टेलीकॉम इंस्ट्रीज (Telecom Industries Ltd) को लेकर काफी उत्साहित नजर आते हैं। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार तेजी से बढ़ रहे घाना (Ghana) केमार्केट में अपनी टेलीकॉम सुविधाएं जल्द ही कंपनी देती नजर आ सकती है।

क्या है प्लान?

NGIC (Next gen Infra Co) के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर हरकिरत सिंह बताते हैं कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के नियंत्रण वाली कंपनी Radisys Corp नेटवर्क इंफ्रास्ट्रक्चर, एप्लीकेशन और स्मार्ट फोन्स घाना के इंफ्राको को प्रदान करेगी। NGIC की तरफ से इस साल के अंत में घाना में NGCI की तरफ से टेलीकॉम सुविधाएं प्रदान की जा सकती हैं। बता दें, कंपनी की तरफ से घाना में 5जी नेटवर्क और इंटरनेट सर्विसेज दी जाएगी।

आज से खुल रहा है एक और सस्ता IPO, ग्रे मार्केट में कंपनी का दबदबा, जानें भाव

ब्लूमबर्ग से बातचीत के दौरान हरकिरत सिंह ने कहा तेजी के साथ बढ़ रहे इस बाजार में उचित कीमतों पर सुविधाएं प्रदान करने की कोशिश रहेगी।

घाना में कौन-कौन सी कंपनियों से मिलेगी टक्कर

NGIC के सहयोगियों में नोकिया ओवाईजे, टेक महिंद्रा लिमिटेड और माइक्रोसॉफ्ट कॉरपोरेशन है। मौजूदा समय में घाना की कुल आबादी 3.30 करोड़ है। यहां मौजूदा समय में मुख्य रूप से एमटीएन घाना, वोडाफोन घाना और सरकारी कंपनी एयरटेल टीगो है।

1 शेयर पर 115 रुपये का डिविडेंड दे रही है कंपनी, रिकॉर्ड डेट आज

हरकिरत सिंह ने बताया कि NGIC में Ascend Digital Solutions Ltd और K-NET की कुल हिस्सेदारी 55 प्रतिशत की रहेगी। जबकि घाना के सरकार के पास कुल 10 प्रतिशत हिस्सा होगा। उन्होंने बताया कि अगले एक दशक के लिए NGIC के पास 5जी सर्विसेज प्रदान करने के लिए एक्सक्लूसिव राइट्स रहेंगे। बता दें, कंपनी अगले 3 साल के दौरान 145 मिलियन डॉलर खर्च करने की योजना बनाई है।

NGIC में रिलायंस का कितना हिस्सा?

हरकिरत सिंह ने कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज और उसके किसी भी रणनीतिक हिस्सेदार के पास कोई NGIC में कोई भी हिस्सा नहीं है।

 जानें Hindi News , Business News की लेटेस्ट खबरें, Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें