Hindi Newsबिज़नेस न्यूज़british are impressed with Indian goods uk surpasses china to become India s fourth largest export market

भारतीय सामानों पर फिदा हुए अंग्रेज, चीन को पछाड़ यूके बना भारत का चौथा सबसे बड़ा एक्सपोर्ट मार्केट

Import-Export: भारत के टॉप-10 प्रमुख एक्सपोर्ट मार्केट में मई में अच्छी ग्रोथ देखी गई। यूनाइटेड किंगडम यानी यूके मई में भारत का चौथा सबसे बड़ा एक्सपोर्ट मार्केट बन गया है। इस मामले में इसने चीन को पीछे छोड़ दिया है।

Drigraj Madheshia नई दिल्ली, हिन्दुस्तान संवाददाताMon, 17 June 2024 06:50 AM
पर्सनल लोन

अंग्रेज भारतीय सामानों पर फिदा हैं। इसकी गवाही ये आंकड़े दे रहे हैं। यूनाइटेड किंगडम यानी यूके मई में भारत का चौथा सबसे बड़ा एक्सपोर्ट मार्केट बन गया है। इस मामले में इसने चीन को पीछे छोड़ दिया है। इस मामले में पिछले साल यूके छठे स्थान पर था। मई में यूके को निर्यात एक तिहाई बढ़कर 1.37 अरब डॉलर हो गया, जबकि चीन को एक्सपर्ट में पिछले महीने 3 फीसदत की वृद्धि के बावजूद यह 1.33 डॉलर अरब डॉलर ही पहुंच पाया।

क्या-क्या सामान मंगाया यूके ने

मई के लिए अलग-अलग डेटा तुरंत उपलब्ध नहीं थे, लेकिन पिछले कुछ महीनों के ट्रेंड से पता चला है कि यूके ने अपने यहां मशीनरी, खाद्य पदार्थ, दवाएं, कपड़ा, आभूषण, आयरन एंड इस्पात जैसी वस्तुओं का भारत से आयात किया।

वाणिज्य विभाग के डेटा के मुताबिक भारत के टॉप-10 प्रमुख एक्सपोर्ट मार्केट में मई में अच्छी ग्रोथ देखी गई, जबकि इनमें से कुछ देशों को निर्यात एक साल से अधिक समय तक सुस्त था। इन देशों में मई में भारत के निर्यात किए गए कुल माल का 52 फीसद हिस्सा शामिल है। मई में भारत का ट्रेड इंपोर्ट 9.13 फीसद बढ़कर 38 अरब डॉलर हो गया।

किस देश को भारत सबसे अधिक करता है एक्सपोर्ट

यूएसए 13 फीसद की ग्रोथ के साथ भारत का सबसे बड़ा एक्सपोर्ट डेस्टिनेशन बना रहा। इसके बाद संयुक्त अरब अमीरात (UAE) का स्थान रहा, जिसमें 19 फीसद की वृद्धि देखी गई। नीदरलैंड भारत का तीसरा सबसे बड़ा एक्स्पोर्ट मार्केट है। यहां मई में एक्सपोर्ट लगभग 44 फीसद की वृद्धि के साथ 2.19 अरब डॉलर तक पहुंच गया। अन्य देशों में सऊदी अरब (8.46 फीसद), सिंगापुर (4.64 फीसद), बांग्लादेश (13.47 फीसद), जर्मनी (6.74 फीसद), फ्रांस (36.94 फीसदत) शामिल हैं।

भारत के इंपोर्ट मार्केट 

टॉप-10 इंपोर्ट मार्केट्स में से केवल सऊदी अरब और स्विट्जरलैंड से मई में आने वाले शिपमेंट में क्रमशः 4.11 फीसद और 32.33 फीसद की कमी आई। शेष आठ में मई में वृद्धि देखी गई, जो कुल ट्रेड इंपोर्ट के अनुरूप है, जो 7.7 फीसद बढ़कर 61.91 अरब डॉलर हो गया।

 जानें Hindi News , Business News की लेटेस्ट खबरें, Share Market के लेटेस्ट अपडेट्स Investment Tips के बारे में सबकुछ।

ऐप पर पढ़ें