फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News ब्रांड स्टोरीज़शारदा यूनिवर्सिटी छात्रों को अंतराष्ट्रीय एक्सपोज़र देने और स्टार्टअप में प्रोत्साहित करने लिए उठाती है ये अनोखे कदम

शारदा यूनिवर्सिटी छात्रों को अंतराष्ट्रीय एक्सपोज़र देने और स्टार्टअप में प्रोत्साहित करने लिए उठाती है ये अनोखे कदम

पिछले कई वर्षों में शारदा यूनिवर्सिटी भारत और पूरे विश्व में उच्च शिक्षा, रिसर्च व इनोवेशन का एक महत्वपूर्ण केंद्र बन गया है। 85 से भी अधिक देशों के छात्रों के साथ दुनिया भर की विभिन्न संस्कृतियों को...

शारदा यूनिवर्सिटी छात्रों को अंतराष्ट्रीय एक्सपोज़र देने और स्टार्टअप में प्रोत्साहित करने लिए उठाती है ये अनोखे कदम
HT Brand StudioMon, 25 Oct 2021 02:47 PM
ऐप पर पढ़ें

पिछले कई वर्षों में शारदा यूनिवर्सिटी भारत और पूरे विश्व में उच्च शिक्षा, रिसर्च व इनोवेशन का एक महत्वपूर्ण केंद्र बन गया है। 85 से भी अधिक देशों के छात्रों के साथ दुनिया भर की विभिन्न संस्कृतियों को सहजता से अपनाने वाला यह विश्व का अग्रणी संस्थान है। यही नहीं, शारदा यूनिवर्सिटी के शिक्षा पर फोकस को भी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय रेटिंग एजेंसियों द्वारा प्रमाणित कर मान्यता दी गई है। 

जैसे की- प्रतिष्ठित एनआईआरएफ 2021 रैंकिंग द्वारा यूनिवर्सिटी श्रेणी में शारदा यूनिवर्सिटी को 101-150 बैंड में रेटिंग मिली है। इसके अलावा शारदा यूनिवर्सिटी को NAAC द्वारा भी मान्यता प्राप्त है। हाल ही में प्रतिष्ठित QS I∙GAUGE ने शिक्षा में डिजिटल पद्धति के उपयोग के लिए शारदा को ई-लर्निंग सर्टिफिकेट ऑफ एक्सीलेंस से सम्मानित किया गया है। पुरस्कारों के साथ, इंडिया टुडे द्वारा प्रकाशित भारत में सबसे अधिक पेटेंट दायर करने की सूची में पांचवा स्थान और सन 2020 में आउटलुक द्वारा प्रकाशित शीर्ष डेंटल कॉलेजों में उत्तर भारत में तीसरे स्थान पर है। भारत सरकार द्वारा प्रकाशित इनोवेशन की एआरआईआईए रैंकिंग में शारदा यूनिवर्सिटी, उत्तर ज़ोन (बैंड ए और बैंड बी) में टॉप 10 प्राइवेट यूनिवर्सिटी की सूची में भी शामिल है। 

शारदा यूनिवर्सिटी में फ़्यूचर पर फ़ोकस करते हुए यूजीसी द्वारा मान्यता प्राप्त 216 प्रोग्राम - प्लान उपलब्ध हैं। इंजीनियरिंग, प्रबंधन, मेडिकल, दंत चिकित्सा, आर्किटेक्चर, एनिमेशन, डिजाइन, विजुअल आर्ट्स, लॉ, कम्प्यूटर एप्लिकेशन, जर्नलिज़्म और मास कम्यूनिकेशन, फिल्म और टेलीविजन प्रोडक्शन, बेसिक साइयंस, कृषि, जैव प्रौद्योगिकी, स्टेम सेल व टिशू विज्ञान, खाद्य विज्ञान और प्रौद्योगिकी, फार्मेसी, फिजियोथेरेपी, ह्यूमैनिटीज़, भाषा, शिक्षा, योग इत्यादि में छात्रों को सुनहरा भविष्य बनाने के अवसर मिलता है। इसके अलावा नवीनतम विषयों जैसे स्टेम सेल व टिशू विज्ञान, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस व डेटा एनालिटिक्स, रोबोटिक्स पर भी प्रोग्राम उपलब्ध हैं।

शारदा ग्रुप में 1000 से अधिक फ़ैकल्टी उपलब्ध हैं जिनका दुनिया भर में प्रसिद्ध संस्थानों रिसर्च और शिक्षण संस्थानों जैसे, जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, हार्वर्ड यूनिवर्सिटी, स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी, आईआईटी, आईआईएससी, बीएचयू, डीआरडीओ, सीएसआईआर, इसरो का अनुभव है, जिसका सीधा सीधा लाभ छात्रों को मिलता है।

अपने रिसर्च और इनोवेशन प्रयासों को और अधिक मज़बूती देने के लिए शारदा यूनिवर्सिटी  ने डीआरडीओ, एमएसएमई, डीएसटी, डीबीटी, आईएनएसए और यूएसएआईडी सहित प्रमुख सरकारी संस्थानों और प्रयोगशालाओं के साथ गठजोड़ किया है। 

यूनिवर्सिटी  में 10 करोड़ रुपये की लागत की 36 प्रमुख वित्त पोषित रिसर्च प्रोजेक्ट चल रहे हैं। साथ ही शारदा यूनिवर्सिटी का डिज़ाइन एंड इनोवेशन इन इमर्जिंग टेक्नोलॉजी (DIET) सेंटर, राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद (NPC) का पार्ट्नर है जो इंडस्ट्री 4.0 और फ़ाइनैन्स 4.0 के लिए सेंटर ऑफ एक्सिलेंस स्थापित कर रहा है। इंडस्ट्री 4.0 और फ़ाइनैन्स 4.0 को सार्थक करने के लिए शारदा यूनिवर्सिटी, दिल्ली एनसीआर में 100 से अधिक कम्पनियों के साथ मिलकर पाठ्यक्रम 4.0 भी बना रहा है ताकि छात्रों को इंडस्ट्री विज़िट, इंडस्ट्री प्रोजेक्ट, डिजाइन और 4 एम (मैन, मशीन, मनी और मन्यूफ़ेक्चर) की सुविधा मिल सके। 

छात्रों को ग्लोबल एक्सपोज़र देने के लिए, शारदा यूनिवर्सिटी ने दुनिया भर की 250 से अधिक यूनिवर्सिटी और संस्थानों के साथ गठजोड़ किया है, जिसमें इलिनोइ यूनिवर्सिटी  (यूएसए), यूनिवर्सिटी ऑफ वेस्टर्न ओंटारियो (कनाडा), यूनिवर्सिटी ऑफ मिसौरी (यूएसए), अर्कांसा स्टेट यूनिवर्सिटी (यूएसए), हेरियट वॉट यूनिवर्सिटी (यूके), यूनिवर्सिटी ऑफ प्लायमाउथ (यूके), कर्टिन यूनिवर्सिटी (ऑस्ट्रेलिया), यूनिवर्सिटी ऑफ ल्यूबल्याना (स्लोवेनिया), आरएमआईटी यूनिवर्सिटी (ऑस्ट्रेलिया), और होचस्चुले ब्रेमरहेवन - यूनिवर्सिटी ऑफ एप्लाइड साइंसेज (जर्मनी) शामिल हैं। इससे छात्रों को दूसरे देश में स्टूडेंट ऐक्सचेंज, एक सेमेस्टर दूसरी यूनिवर्सिटी में पढ़ने और क्रेडिट ट्रांसफ़र जारी रखने में सुविधा होती है। शारदा ने एक अनूठी पहल भी की है इसमें छात्रों को शीर्ष रैंकिंग वाले विदेशी यूनिवर्सिटी में बिना किसी ट्यूशन फीस के विदेश में एक सेमेस्टर पूरा करने का अवसर प्रदान किया जाता है। छात्रों से बिल्कुल कुछ भी शुल्क नहीं लिया जाता है। छात्रों के लिए ग्लोबल ऐक्सपोज़र के लिए यह एक बहुत बढ़िया अवसर प्रदान करता है। इससे छात्रों के प्रोफाइल में वेटेज बढ़ता है जो रिक्रूटमेंट या प्लेस्मेंट के समय बहुत फ़ायदा करता है।

माननीय प्रधानमंत्री के आत्मानिर्भर भारत के विजन का समर्थन करने के लिए, शारदा यूनिवर्सिटी स्टार्टअप शुरू करने के लिए छात्रों को 100% स्कॉलरशिप और सीड मनी देकर प्रोत्साहित कर रही है। इसके अलावा, मेधावी छात्रों को 100 प्रतिशत तक छात्रवृत्ति/फ्रीशिप भी ऑफ़र की जाती है। यूनिवर्सिटी में 2020 के शैक्षणिक सत्र में 19.27 करोड़ के लागत की स्कॉलरशिप और फ्रीशिप से 2549 छात्र पढ़ रहे हैं। 

शारदा लॉन्चपैड अपना स्टार्टअप शुरू करने में रुचि रखने वाले छात्रों को काम करने के लिए जगह, सलाह और इन्वेस्टमेंट भी प्रदान करता है। शारदा के पूर्व छात्र प्रो. दिवाकर वैश ने अपनी बायो-इंजीनियरिंग कंपनी शुरू की है जो कोविड-19 रोगियों के लिए दुनिया का सबसे छोटा वेंटिलेटर तैयार कर रही है। अन्य इनोवेशन में नेत्रहीनों के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सक्षम जूता, कमर्शियल ऐयर प्यूरिफ़ायर टॉवर, इलेक्ट्रिक व्हील, अपने आप लैंड करने वाला उपग्रह वाहक मौसम गुब्बारा और पानी की गुणवत्ता की जांच के लिए सबसे छोटा टीडीएस मीटर इत्यादि शामिल हैं।

शारदा का कैम्पस दुनिया भर के प्रमुख यूनिवर्सिटी कैम्पस के समान है। यह 63 एकड़ में फैला हुआ है जिसमें, शारदा हाई-टेक लैब, पुस्तकालय, नवीनतम टीचिंग ऐड, एसी क्लासरूम, 1200+ बेड वाले मल्टी-स्पेशियलिटी अस्पताल, इंडोर और आऊटडोर स्पोर्ट्स के लिए सुविधाएं भी हैं। इसके अलावा 14,970 sq ft में फैले स्टूडेंट ऐक्टिविटी सेंटर में 5 फ़्लोर हैं, जिसमें एक सेंट्रल लाइब्रेरी, ऑडिटॉरीयम, मीटिंग रूम, रीडिंग रूम, सेमिनार हाल और कम्प्यूटर सेंटर हैं।लाइब्रेरी में 140436 वॉल्यूम हैं जिन पर आरएफ़आईडी टैग लगे हुए हैं। इसके अलावा 289 प्रिंट जर्नल और ई-बुक भी हैं। लाइब्रेरी के पास अन्य प्रसिद्ध जर्नल जैसे SCC ऑनलाइन, वेस्ट लॉ इंडिया, एमरल्ड केस स्टडीज़, प्रिक्वेस्ट, डीवीएल , जेएसटीओआर, स्प्रिंगर, आईईई और एएमएसई का भी लाइसेन्स है। इन सभी की वजह से शारदा में पढ़ने वाले छात्रों का अनुभव किसी विदेशी यूनिवर्सिटी में पढ़ने से कम नहीं है।

पिछले कई सालों में यूनिवर्सिटी ने 80% से अधिक प्लेस्मेंट का रिकॉर्ड भी क़ायम किया है जो क्षेत्र की अन्य यूनिवर्सिटी के मुक़ाबले कहीं अधिक है। शारदा से पढ़े हुए छात्र दुनिया की बेस्ट कम्पनियों जैसे, PWC, Deloitte, Intel, FICO, Amazon, Wipro, TCS, Mercedes-Benz, Hortonwork इत्यादि में काम कर रहे हैं। 2021 में शारदा के छात्र को Dominus Labs, USA द्वारा 48 लाख का पैकैज भी दिया गया है। 

शारदा स्किल्ज के तहत उन छात्रों को जो UPSC, CAT, GRE, GMAT, SSC, IBPS इत्यादि करना चाहते हैं, उन्हें कैम्पस में ही कोचिंग भी उपलब्ध कराई जाती है। इतनी सब सुविधाओं और अवसरों के चलते ये सच ही है की दुनिया सही मायनों में शारदा में ही है।
और जानकारी के लिए https://www.sharda.ac.in/ पर जाएं। 
यूजी व PG प्रोग्राम में रजिस्ट्रेशन के लिए यहां क्लिक करें। 
कैम्पस के वर्चुअल टुअर के लिए यहां क्लिक करें