DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   प्रमोशनल  ›  प्रीति छीपा अपने वेंचर्स TheBlockArt.com एवं Rakhiz.com के ज़रिए ऐतिहासिक कला एवं कारीगरी को दे रही हैं बढ़ावा

brand storiesप्रीति छीपा अपने वेंचर्स TheBlockArt.com एवं Rakhiz.com के ज़रिए ऐतिहासिक कला एवं कारीगरी को दे रही हैं बढ़ावा

HT Brand Studio,IndiaPublished By: Pratyush Chaurasia
Fri, 04 Jun 2021 06:34 PM
प्रीति छीपा अपने वेंचर्स TheBlockArt.com एवं Rakhiz.com के ज़रिए ऐतिहासिक कला एवं कारीगरी को दे रही हैं बढ़ावा

 

प्रीति छीपा, जिन्होंने समाज एवं उद्योग के सभी नियमों के खिलाफ़ जाकर मजबूती के साथ अपने संगठन की शुरुआत की, वर्तमान में वे एक सफल महिला उद्यमी हैं जो दो ई-काॅमर्स वेंचर- TheBlockArt.com एवं Rakhiz.com- चला रही हैं। वे ब्लाॅक प्रिन्ट कलाकार हैं जो बगरू कारीगरी के लिए विख्यात परिवार से ताल्लुक रखती हैं। उन्होने अपने परिवार के इसी सांस्कृतिक कारोबार को ऑनलाइन लाने का फैसला लिया। अपनी महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने के साथ वे स्थानीय समुदाय की महिलाओं की भी मदद कर रही हैं, अपने डिजिटल वेंचर्स के माध्यम से इन महिलाओं के द्वारा हाथ से बनाए गए उत्पादों को बेचती हैं। 

TheBlockArt.com भारत के मौसम खासतौर पर गर्मियों के अनुकूल एथनिक फैशन से जुड़ी हर चीज़ के लिए वन-स्टाॅप शाॅप है। TheBlockArt.com पर उपलब्ध उत्पाद बेहद स्टाइलिश और फैशनेबल होते हैं क्योंकि ब्राण्ड बाज़ार में बदलते नए रुझानों को ध्यान में रखते हुए ‘एवरग्रीन फैशन’ लुक लेकर आता है। जयपुर में स्थित यह उद्यम पारम्परिक कारीगरी को दुनिया भर में फैलाने के उद्देश्य के साथ काम कर रहा है, TheBlockArt.com के माध्यम से कुशल टेक्सटाईल डिज़ाइनरों द्वारा बनाए गए उत्पाद बेचे जाते हैं, जिनके पास ब्लाॅक के निर्माण और प्रिन्टिंग के क्षेत्र में व्यापक अनुभव है। 

विश्वविख्यात बगरू प्रिन्ट्स के पारम्परिक कारोबार में आधुनिक बदलाव लाना इस ई-काॅमर्स प्लेटफाॅर्म का मुख्य उद्देश्य है। यह प्लेटफाॅर्म अन्तर्राष्ट्रीय बाज़ारों में बेहतरीन परफोर्मेन्स दे रहा है, इसके 100,000 से अधिक उपभोक्ता हैं। TheBlockArt.com तकरीबन 5000-6000 महिलाओं को अपने घर से काम करने का अवसर भी प्रदान करता है, जिनके उत्पादों को डिजिटल माध्यम के ज़रिए बेचा जाता है। 

वहीं दूसरी ओर, Rakhiz.com वन-स्टाॅप शाॅप है, जिसके माध्यम से लोग अपने प्रियजनों को अपनी पसंदीदा राखी एवं राखी के उपहार भेज सकते हैं, इन्हें किसी भी लोकेशन तक डिलीवर करवाया जा सकता है। रक्षाबंधन के त्योहार के दौरान, देश भर में लोग अपने प्रियजनों को राखी और अन्य उपहार भेजते हैं। ऐसे में Rakhiz.com का मूल संगठन आरव राखी अपनी बेजोड़ सेवाओं के साथ इस त्योहार को अपने उपभोक्ताओं के लिए खास बना रहा है। उपभोक्ताओं को ‘ऑनलाइन राखी भेजने’ की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए कंपनी पारम्परिक एवं फैन्सी डिज़ाइनर राखियों का व्यापक कलेक्शन पेश करती है। 

इस परम्परा को बनाए रखने के लिए Rakhiz.com कई उत्कृष्ट सेवाएं उपलब्ध कराता है, जैसे भाई के लिए राखी, बच्चों की राखी, भैया-भाभी राखी, राखी पूजा थाली, राखी और फलों का सेट आदि। लोग दुनिया के किसी भी कोने में रह रहे अपने प्रियजनों को ये उपहार भिजवा सकते हैं। इस प्लेटफाॅर्म के ज़रिए ऑनलाइन राखी एवं राखी के उपहार खरीदना तथा इन्हें अपने प्रियजनों तक पहुंचाना बहुत आसान हो गया है। ऑनलाइन राखी का ऑर्डर प्लेस किए जाने के बाद, राखी एवं उपहार को सुरक्षित रूप से पहुंचाना Rakhiz.com की ज़िम्मेदारी होती है, जिन्हें बिना किसी अतिरिक्त शिपिंग चार्ज के अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा एवं ऑस्ट्रेलिया तक डिलीवर किया जाता है। 

प्रीति छीपा ने कहा, ''पारम्परिक राजस्थानी परिवार में जन्म लेने के बावजूद मेरे माता-पिता ने मुझे पढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया, मैं शुरुआत से ही प्रतिभाशाली छात्रा रही हूं। मैंने अंग्रेज़ी में एमए, हिंदी में एमए, बीए, बी.एड. और एम.एड. सहित कई डिग्रियां लीं। मैं अपने उद्यम से होने वाली कमाई का कुछ हिस्सा देश के विकास में समर्पित करना चाहती हूं और इसी दृष्टिकोण के साथ मेरा वेंचर TheBlockArt.com महिला सशक्तीकरण में योगदान दे रहा है। साथ ही Rakhiz.com भी 500-600 स्थानीय महिलाओं के लिए आजीविका का स्रोत है, जिनकी हाथ से बनी राखियों को दुनिया भर में डिलीवर किया जाता है। पिछले साल कंपनी ने दुनिया भर में तकरीबन 1.5 लाख राखियां भेजीं थीं।’’  

प्रीति कई सरकारी मिशनों में भी सक्रिय हैं तथा इन्हें राज्य एवं केन्द्र सरकारों से असंख्य पुरस्कार भी मिले हैं। वे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के मिशन ‘वोकल फाॅर लोकल’ को समर्थन देती हैं तथा ग्रामीण महिला कारीगरों को रोज़गार प्रदान कर रही हैं। वे डिजिटल इंडिया अभियान की चैम्पियन रहीं हैं, उन्होंने ऑनलाईन प्लेटफाॅर्म पर अपना खुद का कारोबार शुरू किया। उन्होंने महिलाओं के प्रति समाज में मौजूद पारम्परिक सोच को पहचाना और महिलाओं के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास किया है। वे कई चैरिटेबल संगठनों तथा एनजीओ के साथ भी जुड़ी हैं, जो महिला कल्याण के लिए कार्यरत हैं। उन्होंने सैंकड़ों लड़कियों को आर्थिक, नैतिक एवं मनोवैज्ञानिक सहयोग प्रदान किया है। 

अधिक जानकारी के लिए विज़िट करेंः www.theblockart.com और www.rakhiz.com
 

संबंधित खबरें