DA Image
हिंदी न्यूज़ › ब्रांड स्टोरीज़ › एएसबीएम (ASBM) - उत्कृष्टता की मिसाल
ब्रांड स्टोरीज़

एएसबीएम (ASBM) - उत्कृष्टता की मिसाल

HT Brand Studio,OdishaPublished By: Pratyush Chaurasia
Mon, 26 Jul 2021 10:08 AM
एएसबीएम (ASBM) - उत्कृष्टता की मिसाल

प्रसिद्ध दर्शनशास्त्री, विल डुराण्ट की किताब 'द स्टोरी ऑफ फिलॉसफी' में अरस्तू के लिखे विचार में कहा गया है -'हम वो हैं जो हम बार बार करते है। उत्कृष्टता कोई तरीका नहीं बल्कि आदत है'.

निरंतर नए प्रयोग और अपने को बदलाव की तरफ़ ढालने वाली, ASBM यूनिवर्सिटी को साल 2006 में एक बिजनेस स्कूल (एशियन स्कूल ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट) के तौर पर ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में मानव संसाधन प्रबंधन के क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त प्रबंधन गुरु, प्रोफेसर बिस्वजीत पटनायक द्वारा स्थापित किया गया था. इससे पहले प्रोफेसर पटनायक IIM-इंदौर और IIM-लखनऊ में प्रोफेसर थे. वे RBI के गुवाहाटी में स्थित भारतीय बैंक प्रबंधन संस्थान (IIBM) में निदेशक के पद पर भी रह चुके हैं. साथ ही वो मैनेजमेंट के शिक्षक, एक बेहतरीन ट्रेनर, बिजनेस के लिए एक अच्छे सलाहकार, लेखक और कुशल शोधकर्ता भी रह चुके हैं. प्रोफेसर पटनायक के इन गुणों ने ASBM यूनिवर्सिटी के स्वरूप को आकार दिया है जिसकी उन्होंने कल्पना की थी.

                                                         -

प्रो. बिस्वजीत पटनायक- अध्यक्ष, एएसबीएम विश्वविद्यालय, भुवनेश्वर

2006 में संस्थान को मात्र 180 दिन में IIM संस्थानों की तर्ज़ पर एक विश्व स्तरीय बिजनेस स्कूल स्थापित कर देना प्रोजेक्ट मैनेजमेंट का एक अनोखा उदाहरण था. इसे  बिजनेस इंडिया मैगज़ीन ने अपने अक्टूबर 2006 के संस्करण में हाइलायट भी किया. ASBM के उद्घाटन पर संस्थान को राष्ट्र को समर्पित करते हुए भारत के तत्कालीन उपराष्ट्रपति ने इसे प्रबंधन शिक्षा में एक नया सूर्योदय बताया था.

गुणवत्ता के मानकों का सही तरह से पालन करने के कारण ASBM को भारत सरकार के नेशनल बोर्ड ऑफ एक्रेडिटेशन (NBA) द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर और अमेरिका की एक्रेडिटेशन काउंसिल ऑफ बिजनेस स्कूल एंड प्रोग्राम्स (ACBSP) तथा साउथ एशियन क्वालिटी सिस्टम (SAQS) द्वारा अंतर्राष्ट्रीय मान्यता से सम्मानित किया गया. इसे एसोसिएशन ऑफ इंडियन यूनिवर्सिटीज (AIU), भारत सरकार द्वारा भी मान्यता दी गई थी. ओडिशा सरकार ने ASBM को ASBM यूनिवर्सिटी, ओडिशा के अधिनियम द्वारा 26 सितंबर 2019 को यूनिवर्सिटी का दर्जा दिया गया. शिक्षण संस्थानों के जगत में ऐसा पहली बार हुआ है कि एक बिजनेस स्कूल 15 साल से कम समय में यूनिवर्सिटी का दर्जा प्राप्त हुआ. इतने कम समय में यूनिवर्सिटी बन जाना, ASBM के क्वॉलिटी पर फ़ोकस का जीता-जागता उदाहरण है. 

 

ASBM यूनिवर्सिटी अब चार स्कूलों के जरिए अच्छी उच्च शिक्षा और रिसर्च में उत्कृष्टता की ASBM की विरासत को आगे बढ़ा रहा है. ये स्कूल हैं - स्कूल ऑफ बिजनेस, स्कूल ऑफ अकाउंटेंसी, स्कूल ऑफ कम्युनिकेशन और स्कूल ऑफ इंफॉर्मेशन सिस्टम. इसके अलावा ये प्रबंधन में पी॰एच॰डी॰, एम॰बी॰ए जैसी उच्च शिक्षा देने में सक्षम है. यहां एम॰बी॰ए (रूरल मैनेजमेंट), एक्सक्यूटिव एम॰बी॰ए, एम॰बी॰ए (यूनिवर्सिटी ऑफ 'नॉटिंघम' मलेशिया में सेमेस्टर की पढ़ाई), एम॰एस॰सी॰ (अर्टिफिशियल इंटेलिजेन्स और डिसीजन साइंस), एम॰एस॰सी॰ (आईटी मैनेजमेंट), एम कॉम, एम॰ए॰ (इंग्लिश), एम॰ए॰ (कम्युनिकेशन एंड डिजिटल मीडिया), एम॰ए॰ (इकोनॉमिक्स), बी॰कॉम (होन्स.), बी॰ए॰ (इंग्लिश होन्स.), बी॰ए॰ (कम्युनिकेशन एंड डिजिटल मीडिया), बी॰ए॰ (इकोनॉमिक्स होन्स.), बी॰बी॰ए॰ (होन्स.), बी॰बी॰ए॰ (रूरल मैनेजमेंट), बी॰बी॰ए॰ (इ- कॉमर्स), बी॰एस॰सी॰ (डाटा साइंस) और बी॰एस॰सी॰ (आईटी मैनेजमेंट) की पढ़ाई की जा सकती है.

ASBM पूर्वी भारत की एकमात्र ऐसी यूनिवर्सिटी है जिसे अपने एम॰बी॰ए प्रोग्राम के लिए अमेरिका की ACBSP (एक्रेडिटेशन काउंसिल ऑफ बिजनेस स्कूल एंड प्रोग्राम्स) ने मान्यता दी है. वहीं यूनिवर्सिटी ने एक अनोखे एम॰बी॰ए प्रोग्राम के लिए यूनिवर्सिटी ऑफ 'नॉटिंघम' मलेशिया (UNM) के साथ एक समझौता किया है, जिसके तहत छात्र एक साल ASBM में और दूसरा साल UNM में बिताएंगे. दोनों यूनिवर्सिटी के बीच क्रेडिट के पारस्परिक हस्तांतरण के साथ, सफल छात्रों को ASBM यूनिवर्सिटी द्वारा एम॰बी॰ए और UNM द्वारा बिजनेस मैनेजमेंट में एम॰एस॰सी॰ की डिग्री दी जाएगी. ASBM यूनिवर्सिटी  के ग्रामीण प्रबंधन कार्यक्रम - एम॰बी॰ए और  बी॰बी॰ए॰ दोनों भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय के तहत आने वाली महात्मा गांधी नेशनल काउंसिल ऑफ रूरल एजुकेशन (MGNCRE) के सहयोग से चलाए जा रहे हैं.

 एएसबीएमयू (ASBMU) ने छात्रों के लिए भारत सरकार के एमएसएमई (MSME) मंत्रालय के अंतर्गत एक 'सेंटर ऑफ एक्सीलेंस' शुरू किया है जिसमें बिजनेस इनक्यूबेशन सेंटर की स्थापना की गई है. बिजनेस इनक्यूबेशन सेंटर में छात्रों को स्टार्ट-अप शुरू करके अपना बिजनेस करने को प्रोत्साहन दिया जाता है. 

इस यूनिवर्सिटी की खास बात ये है कि ये प्रकृति की गोद में हरे-भरे शांत, साफ वातावरण ई-कैंपस में स्थित है, जिसमें अत्याधुनिक सुविधाएं जैसे मल्टी-मीडिया क्लासरूम, बड़ी लाइब्रेरी, कंप्यूटर लैब, भाषा और साइकोमेट्रिक लैब, ऑडिटोरियम, लड़कियों और लड़कों के लिए अलग छात्रावास, फूड कोर्ट, आउटडोर और इनडोर खेलकूद की व्यवस्था, जिम, योग और मैडिटेशन सेंटर, ओपन-एयर थिएटर, डाकघर और बैंक एटीएम की सुविधाएँ उपलब्ध हैं.

यूनिवर्सिटी अनुसंधान और विकास के लिए प्रतिबद्ध है और यूनिवर्सिटी ऑफ 'नॉटिंघम' मलेशिया (UNM), मेट्रोपॉलिटन स्टेट यूनिवर्सिटी (MSU), कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी (CSU), सैन बर्नार्डिनो (CSUSB), वेस्टक्लिफ यूनिवर्सिटी, नॉर्थ कैरोलिना सेंट्रल यूनिवर्सिटी (NCCU), सेंट क्लाउड स्टेट यूनिवर्सिटी, यूनिवर्सिडैड अर्जेंटीना डे ला एम्प्रेसा (UADE), अर्जेंटीना और मैनेजमेंट डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट ऑफ सिंगापुर (MDIS), सिंगापुर, जैसे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त संस्थानों के साथ मेमोरंडम ओफ़ अंडरस्टैंडिंग (करार) किया है.
 

संबंधित खबरें