DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   ब्रांड स्टोरीज़  ›  वीवो ने इन 5 तरीकों से स्मार्टफोन इनोवेशन को प्रभावित किया है
brand stories

वीवो ने इन 5 तरीकों से स्मार्टफोन इनोवेशन को प्रभावित किया है

HT Brand StudioPublished By: Pratyush Chaurasia
Wed, 16 Jun 2021 03:38 PM
वीवो ने इन 5 तरीकों से स्मार्टफोन इनोवेशन को प्रभावित किया है


भारतीय स्मार्टफोन बाजार में कदम रखने के बाद से ही वीवो की रैंकिंग लगातार बेहतर हुई है। वास्तव में इसने बड़ी तेजी से प्रगति की है, जो सचमुच उल्लेखनीय है। लेकिन इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि, पिछले कुछ सालों में वीवो मोबाइल ने स्मार्टफोन के विकास को काफी हद तक प्रभावित किया है। अपनी मूलभूत विशेषताओं और इनोवेशन की वजह से, वीवो ने मोबाइल फोन के क्षेत्र में अपनी छाप छोड़ने में कामयाबी पाई है। बीते कुछ वर्षों से, बहुत सारे स्मार्टफोन निर्माता वीवो के नक़्शेक़दम पर चल रहे हैं। आइए हम उन 5 तरीकों पर एक नज़र डालें, जिनसे वीवो ने स्मार्टफोन इनोवेशन को प्रभावित किया है। 

1. सेल्फी कैमरों पर विशेष ध्यान

वीवो स्मार्टफोन का निर्माण करने वाली पहली ऐसी कंपनी थी, जिसने रियर कैमरों की तरह सेल्फी कैमरों पर भी समान रूप से ध्यान देना शुरू किया। सबसे पहले वीवो ने ही इस बात को समझा कि ग्राहक अपने मोबाइल फोन में बेहतर फ्रंट कैमरों की जरूरत महसूस करते हैं, और इसका श्रेय पूरी तरह से वीवो को जाता है। 2012 में, वीवो ने X1 मॉडल को बाजार में उतारा जिसमें 1.3 MP का फ्रंट कैमरा लगाया गया था। सही मायने में वीवो का यह कारनामा स्मार्टफोन की दुनिया में एक बड़ा बदलाव लाने वाला था। इसके बाद से, वीवो ने अपने स्मार्टफोन के सेल्फी कैमरों को निरंतर बेहतर बनाया है। 2013 में लॉन्च किए गए वीवो Xplay 3S में 5 MP का फ्रंट कैमरा था। गौरतलब है कि यह स्मार्टफोन के पहले मॉडलों में से एक बन गया, जिसमें 5 MP का फ्रंट कैमरा मौजूद था। इसके बाद के वर्षों में, वीवो ने मोबाइल फोन के फ्रंट कैमरों को और बेहतर बनाने पर विशेष ध्यान देना जारी रखा। 2014 में, इसके Y सीरीज़ के स्मार्टफोन्स के फ्रंट कैमरे और भी शानदार थे। उदाहरण के लिए, वीवो Y27 स्मार्टफोन को 2014 में लॉन्च किया गया था, जिसमें 5 MP का फ्रंट कैमरा था। इसके बाद आने वाली X-सीरीज़ के स्मार्टफोन्स में भी यही चलन देखा गया। वीवो X5 में 8 MP का बेहद प्रभावशाली सेल्फी कैमरा था, जो उस समय के दूसरे स्मार्टफोन मॉडल के कैमरों से बेहतर था। 

2016 के आसपास, सही मायने में लोगों के बीच सेल्फी के प्रति जुनून की शुरुआत हुई। इस दौर में हर कोई अपने स्मार्टफोन के रियर कैमरों की तुलना में सेल्फी कैमरों का अधिक उपयोग करने लगा, जिसे देखते हुए वीवो ने एक ऐतिहासिक कदम उठाने का निर्णय लिया। इसने वीवो X7 स्मार्टफोन को बाजार में उतारा, जिसमें 13 MP के रियर कैमरे के साथ 16 MP का बेहद प्रभावशाली फ्रंट कैमरा था! इतना ही नहीं, सेल्फी कैमरों के साथ स्क्रीन फ्लैश की सुविधा भी मौजूद थी, जिससे अंधेरे में सेल्फी लेना संभव हो गया। वीवो X9 स्मार्टफोन में भी 20 MP का फ्रंट कैमरा और 16 MP का रियर कैमरा था। स्मार्टफोन के दूसरे ब्रांडों ने इस अद्भुत घटना पर गौर किया, और फिर वे भी बेहतर फ्रंट कैमरे वाले स्मार्टफोन प्रस्तुत करने लगे।

2. कैमरे का कॉन्फ़िगरेशन 

मोबाइल कैमरों के क्षेत्र में वीवो की उपलब्धियां यहीं खत्म नहीं होती हैं। वीवो V11-प्रो को 2018 में लॉन्च किया गया था, जो 12 MP + 5 MP रियर कैमरा सेट-अप से सुसज्जित था। यह वाइड एंगल्स और अल्ट्रा-वाइड एंगल्स को कवर करने के लिए एक से अधिक लेंस का इस्तेमाल करने वाले पहले स्मार्टफोन में से एक था। लेकिन ये तो सिर्फ एक शुरूआत थी। 2019 और 2020 के दौरान, वीवो ने शानदार कैमरे वाले कई स्मार्टफोन का निर्माण किया। वीवो V15 में 32 MP का शानदार फ्रंट कैमरा है, जो पूरे भारत में सेल्फी प्रेमियों का पसंदीदा स्मार्टफोन है। 2019 में लॉन्च किया गया वीवो iQOO एक और शानदार कैमरा फोन था, जिसमें 12 MP + 13 MP + 2 MP के रियर कैमरे के समुच्चय के साथ-साथ 12 MP का फ्रंट कैमरा भी मौजूद था। 2020 में, वीवो ने उत्कृष्ट श्रेणी के कई स्मार्टफोन लॉन्च किए, जिसने इस उद्योग जगत में कैमरे की होड़ को और आगे बढ़ाया। इससे भी बड़ी बात यह है कि 15,000 रुपये तक की कीमत वाले वीवो स्मार्टफोन में भी शानदार कैमरे दिए गए हैं, जो सुस्पष्ट और जीवंत तस्वीरें ले सकते हैं।

2021 में भी, वीवो असाधारण कैमरे से सुसज्जित कई स्मार्टफोन को बाजार में उतारने के लिए तैयार है। निश्चित रूप से इस श्रृंखला में, वीवो V20 का नाम विशेष रूप से उल्लेखनीय है, जिसमें पीछे की तरफ 64 MP का प्राइमरी शूटर कैमरा मौजूद है। साथ ही इसमें 44 MP का सेल्फी कैमरा भी दिया गया है, जो बाजार में उपलब्ध सर्वश्रेष्ठ सेल्फी कैमरों में से एक है।

3. पॉप-अप सेल्फी कैमरा

लोग कहते हैं कि, वीवो ने सही मायने में स्मार्टफोन उद्योग में कैमरों में क्रांति ला दी है, और यह कोई बढ़ा-चढ़ाकर कही गई बात नहीं है। पॉप-अप कैमरे की शुरुआत, दरअसल इस चीनी कंपनी के अपने दिमाग की उपज थी। वीवो NEX पॉप-अप कैमरा के साथ आने वाला पहला स्मार्टफोन था, जो अपनी इस खासियत की वजह से बाजार में छा गया। इसके बाद के महीनों में, वीवो ने पॉप-अप सेल्फी कैमरे के साथ कई दूसरे मॉडल को भी बाजार में उतारा। वीवो NEX 3S में 16 MP का पॉप-अप सेल्फी कैमरा था। वर्तमान में, 32 MP के पॉप-अप सेल्फी कैमरे वाला वीवो V15 प्रो भी लोगों की पहली पसंद बन चुका है। पॉप-अप सेल्फी कैमरे केवल देखने में आकर्षक नहीं लगते हैं, बल्कि वे कैमरे की लेंस को सुरक्षा भी प्रदान करते हैं। इसलिए, गर्मी या पानी के संपर्क में आने पर पॉप-अप सेल्फी कैमरों के खराब होने की संभावना काफी कम होती है। 

4. ज्यादा पतले स्मार्टफोन

वास्तव में वीवो ने पतले और हल्के स्मार्टफोन के निर्माण की शुरुआत के साथ एक बड़ा कदम उठाया। 2014 की शुरुआत में, वीवो ने केवल 5 mm की मोटाई वाले स्मार्टफोन बनाए, जबकि इसकी तुलना में दूसरे मॉडलों की मोटाई 7 mm तक हुआ करती थी। 

5. फिंगरप्रिंट सेंसर

वीवो अपने फोन के डिस्प्ले में फिंगरप्रिंट सेंसर को शामिल करने वाला पहला स्मार्टफोन ब्रांड भी था। स्मार्टफोन जैसी निजी एवं मूल्यवान चीज़ की सुरक्षा बढ़ाने के लिहाज से यह फीचर वाकई बेहद शानदार था। 

अब आप बजाज फिनसर्व EMI स्टोर पर चुनिंदा मॉडलों की खरीदारी करके, जीरो डाउन-पेमेंट की सुविधा का लाभ उठाने के साथ-साथ नो-कॉस्ट EMI पर कोई भी मोबाइल फोन खरीद सकते हैं। इसके अलावा, आप बजाज फिनसर्व EMI नेटवर्क कार्ड का उपयोग करके भी आकर्षक छूट और ऑफ़र का लाभ उठा सकते हैं।

संबंधित खबरें